ENGLISH HINDI Saturday, March 06, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
वूमेन एंड चाइल्ड वेलफेयर सोसाइटी ने विधवा महिलाओं को हर महीने राशन देने का उठाया बीड़ाभारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व : सुमिता कोहलीन्यू मलौया कॉलोनी वासियों ने भाजपा सांसद के खिलाफ किया प्रदर्शन इस वर्ष भी सीधे भारतीय खाद्य निगम के माध्यम से होगी गेहूं की खरीदः राजेंद्र गर्गजन्मदोष का शीघ्र पता लगाने के लिए प्रसव पूर्व परीक्षण का महत्व अहम: डॉ.गुरजीत कौरवीरेंद्र कश्यप पुनः भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनेट्राइडेंट ग्रुप ने सिविल अस्पताल, रेडक्रॉस सोसायटी व जिला जेल को भेंट की साढ़े तीन लाख राशिगुरुद्वारा श्री नानकसर साहिब में 45वां सात दिवसीय सालाना समागम समारोह शुरू
राष्ट्रीय

लोकपरंपरा व संस्कृति के रंगों से सराबोर हुई कुंभनगरी

January 18, 2021 11:01 AM

हरिद्वार, रातुड़ी:  कुंभ 2021 के लिए तैयार हो रही धर्म नगरी इस बार लोक परंपराओं व संस्कृति के रंगों से सराबोर हो उठी है। यहां दीवारों पर उकेरा गया धार्मिक आस्था, लोक परंपराओं व पौराणिक सांस्कृति का वैभव भी श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करेगा। सरकार की ओर से धर्मनगरी को सजाने-संवारने के साथ ही स्वच्छ बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई है।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि "राज्य सरकार दिव्य और भव्य कुम्भ के लिए प्रतिबद्ध है। प्रयास किए जा रहे हैं कि कुंभ में यहां आने वाले करोड़ों श्रद्धालु उत्तराखण्ड की लोक व सांस्कृतिक विरासत से भी रूबरू हों।"
प्रदेश में देवभूमि की सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण व संवर्धन के लिए सरकार गम्भीरता से प्रयास कर रही है। हरिद्वार कुंभ-2021 को भी इसके लिए मुफीद मौका माना जा रहा है। इसके लिए चित्रकला को जरिया बनाया गया है। कुंभ क्षेत्र में सरकारी भवनों समेत पुल, घाट आदि की दीवारों को धार्मिक मान्यताओं के पौराणिक चित्रों व संस्कृति के रंग बिखेरते चित्रों से सजाया गया है। इसके पीछे भी मंशा यही है कि देश और दुनिया से आए श्रद्धालुओं के मन में आस्था भाव का तो जागृत हो ही वह यहां की परंपरा, संस्कृति और पौराणिक विरासत से भी रूबरू हो सकें। हरिद्वार रुड़की विकास प्राधिकरण के ‘पेंट माई सिटी’ कैम्पेन से धर्म नगरी की फिजा ही बदल दी गई है। यहां दीवारों व खाली स्थानों पर देवभूमि की परंपराओं और संस्कृति के बखरे पड़ें रंग देखने लायक है। कहीं देवी-देवताओं, धार्मिक परम्पराओं के तो कहीं लोक संस्कृति के चित्र सजीवता लिए हुए हैं। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि कुंभ मेला क्षेत्र को चित्रकला से सजाने में विभिन्न संस्थाओं का सहयोग रहा है। सरकार की मंशा के अनुरूप मेक माय सिटी कैंपेन से धर्म नगरी में परंपराओं और संस्कृति के रंग भी देखने को मिलेंगे। कुंभ तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। इस बार का कुंभ दिव्य और भव्य होगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
औषधियों के लिए उत्‍पादन आधारित प्रोत्‍साहन योजना को मंजूरी हिमाचल में साहसिक खेलों के लिए नए स्थान अधिसूचित दिशा रवि पर झूठा देशद्रोह का मुकदमा थोपने वाले दिल्ली पुलिस पर कार्रवाई कब? बिका हुआ माल वापस नहीं होगा, बिल में इसका मुद्रण उपभोक्ता कानून के खिलाफ बहुत हुई जनता पर पेट्रोल-डीज़ल की मार, अबकी बार मोदी सरकार' सूचना अधिकार कानून के तहत सूचना नहीं देने पर बाड़मेर उपभोक्ता आयोग ने ठोका जुर्माना नौंवी कक्षा मे छात्रा के फेल होने पर आकाश कोचिंग सेंटर को उपभोक्ता आयोग ने लगाया जुर्माना नगर निगम, नगर कौंसिल और पंचायतीं चुनाव प्रचार 12 फरवरी शाम 5 बजे होगा बन्द, 14 फरवरी को पड़ेंगी वोटें उपभोक्ता आयोग शिकायत के जवाब के लिए 45 दिन की समय सीमा को आगे नहीं बढ़ा सकता : सुप्रीम कोर्ट आगे बढ़ें, बहुत कुछ है करने को, लेकिन नींद करें पूरी