ENGLISH HINDI Monday, April 12, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कर्नाटक: मई प्रथम सप्ताह तक हो सकते है कोविड-19 के मामले चरम पर: स्वास्थ्य मंत्रीजीवन रक्षक दवाओं पर अनिवार्य-लाइसेंस की मांग जिससे कि जेनेरिक उत्पादन होमहात्मा ज्योतिबा फुले: एक प्रासंगिक चिंतनजश्न मनाने बंद करो, कोटकपूरा केस अभी ख़त्म नहीं हुआ: कैप्टन का सुखबीर को जवाबबठिंडा-बरनाला मार्ग पर बंद पड़े राइस शैलर के अंदर से मिले बाहरी प्रांत की गेंहूं के डंप किए 5 हजार गट्टेअपराध साबित हो जाने पर भी सिर्फ अपराधी को सजा, पीड़ित को मुआवजा क्यों नही?पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान और उत्तर प्रदेश से आने वाले लोगों को 72 घण्टे पहले की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी जरूरीचंडीगढ़ में तीसरे इंडियन टैरो सम्मेलन का आयोजन
पंजाब

राजपुरा में पहली बार आयोजित किया गया पतंगबाजी और एयरोनॉटिक्स ड्रोन उत्सव

February 21, 2021 01:21 PM

राजपुरा (पटियाला) फेस2न्यूज

यहां निर्मलकांता ग्राउंड मे बसंत पंचमी के अवसर पर पहला पतंगबाजी और एयरोनॉटिक्स ड्रोन उत्सव का आयोजन किया गया। इसे सवाइट और अलायंस स्कूल ने मिलकर आयोजित किया। मेले का मुख्य आकर्षण ड्रोन ही थे जिसको बनाने वाले चंडीगढ़ इंस्टीट्यूट ऑफ़ ड्रोन कंपनी के प्रमुख इंजीनियर एसपी सिंह, सनी कुमार, मनीष पंडित, नीरज अग्रवाल और उस्समा सिद्दिक मौजूद थे।

ड्रोन उत्सव के दौरान बातचीत में उत्साह से भरपूर कम्पनी के सीईओ सनी कुमार ने बताया कि पिछले 5 सालों से ड्रोन बना रहे हैं और उन्हें यकीन है कि आने वाले भविष्य में ड्रोन मानव जीवन के एक प्रमुख हिस्से के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे।यदि आप ड्रोन की इस्तेमाल के बारे में सोचें तो प्राकृतिक आपदा, खेती-बाड़ी, कानून व्यवस्था, चिकित्सा क्षेत्र और अग्निशमक यंत्र के रूप में बेहतरीन इस्तेमाल हो सकता है।

सनी ने बताया कि लोकडाउन के दरम्यान चंडीगढ़ पुलिस को उन्होंने अपनी सेवा मुफ्त मुहैया करवाई थी। यही पेशकश म्युनिसिपल कार्पोरेशन को भी दी थी किंतु तत्कालीन मेयर ने कोई संतोषप्रद उत्तर नहीं दिया था। उन्होंने बताया कि हरियाणा के पंचकुला मे डार्क के नाम से एक लैब खोली है जहां पुलिस के लोगों को ड्रोन की ट्रेनिंग दी जा रही है।

वैसे तो काफी समय से शादियों में ड्रोन का इस्तेमाल तस्वीरें खींचने के लिए किया जाता रहा है और संभावना है कि बहुत जल्द ही सैनिटाइजेशन के लिए भी इनका व्यापक इस्तेमाल होने लगेगा। सनी ने बताया कि लोकडाउन के दरम्यान चंडीगढ़ पुलिस को उन्होंने अपनी सेवा मुफ्त मुहैया करवाई थी। यही पेशकश म्युनिसिपल कार्पोरेशन को भी दी थी किंतु तत्कालीन मेयर ने कोई संतोषप्रद उत्तर नहीं दिया था। उन्होंने बताया कि हरियाणा के पंचकुला मे डार्क के नाम से एक लैब खोली है जहां पुलिस के लोगों को ड्रोन की ट्रेनिंग दी जा रही है।

ड्रोन के साइज के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि 250 सौ मिलीमीटर से लेकर 1000 मिलीमीटर तक हो सकते हैं और इनकी बैटरी लगभग 40 मिनट तक काम कर सकती है जबकि चार्जिंग 1 घंटे में हो जाती है। वही एनसीसी एयर फोर्स से रिटायर्ड टीम के सीनियर टैकशिशन एसपी सिंह ने बताया कि वह समझते हैं कि शिक्षा के क्षेत्र में ड्रोन कमाल की उपलब्धि है। कोई कैसा भी विद्यार्थी हो यदि वह ड्रोन बनाना सीखता है तो उसकी बुद्धि शार्प हो जाती है जो अपने आप मे एक विलक्षण बात है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जश्न मनाने बंद करो, कोटकपूरा केस अभी ख़त्म नहीं हुआ: कैप्टन का सुखबीर को जवाब बठिंडा-बरनाला मार्ग पर बंद पड़े राइस शैलर के अंदर से मिले बाहरी प्रांत की गेंहूं के डंप किए 5 हजार गट्टे अन्य राज्यों से गेहूँ लाकर बेचने की कोशिश कर रही तीन फर्मों के विरुद्ध पर्चे दर्ज पंजाब सरकार द्वारा कोविड-19 के चलते गेहूं की सुरक्षित खरीद और मंडीकरण संबंधी एडवाइज़री जारी ध्वनी प्रदूषण: साइलेंसरों पर कहीं चलाए बुलडोजर, कहीं चलाए जा रहे कटर नवनीत कौर दीक्षित सर्वधर्म समभाव राष्ट्रीय मंच (महिला मोर्चा) की पंजाब इकाई की अध्यक्ष नियुक्त 23 किलो हेरोइन और हथियार बरामद जिला पुलिस के टैक्नीकल विंग ने ढूंढे 400 मोबाइल फोन बरनाला क्रिकेट ऐसोसिएशन को दो बॉलिंग मशीनें और प्रशिक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट प्रशिक्षक की नियुक्ति शिक्षा विभाग में लाइब्रेरियन के 750 पदों की भर्ती सम्बन्धी विज्ञापन जारी