ENGLISH HINDI Monday, April 12, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कर्नाटक: मई प्रथम सप्ताह तक हो सकते है कोविड-19 के मामले चरम पर: स्वास्थ्य मंत्रीजीवन रक्षक दवाओं पर अनिवार्य-लाइसेंस की मांग जिससे कि जेनेरिक उत्पादन होमहात्मा ज्योतिबा फुले: एक प्रासंगिक चिंतनजश्न मनाने बंद करो, कोटकपूरा केस अभी ख़त्म नहीं हुआ: कैप्टन का सुखबीर को जवाबबठिंडा-बरनाला मार्ग पर बंद पड़े राइस शैलर के अंदर से मिले बाहरी प्रांत की गेंहूं के डंप किए 5 हजार गट्टेअपराध साबित हो जाने पर भी सिर्फ अपराधी को सजा, पीड़ित को मुआवजा क्यों नही?पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान और उत्तर प्रदेश से आने वाले लोगों को 72 घण्टे पहले की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी जरूरीचंडीगढ़ में तीसरे इंडियन टैरो सम्मेलन का आयोजन
पंजाब

नई दिल्ली में आयोजित समारोह में जि़ला रूपनगर को अवार्ड

February 25, 2021 11:51 AM

चंडीगढ़/रूपनगर, फेस2न्यूज:
जि़ला रूपनगर ने पंजाब राज्य का नाम रौशन करते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधी योजना को प्रभावशाली ढंग से लागू करने के मामले में पूरे देश में से पहला स्थान हासिल किया है। केंद्र सरकार द्वारा इस सम्बन्धी पुरस्कार वितरण समारोह नई दिल्ली में आयोजित किया गया और जिसमें केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने जि़ला रूपनगर को पहला स्थान हासिल करने के लिए सम्मान चिह्न और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया।
यह खुलासा श्रीमती सोनाली गिरी, डिप्टी कमिश्नर ने यहाँ जारी प्रेस बयान में किया। उन्होंने बताया कि यह अवार्ड डॉ. सुखदेव सिंह सिद्धू, डायरैक्टर एग्रीकल्चरल, पंजाब और डॉ. अवतार सिंह ने जि़ला प्रशासन की ओर से प्राप्त किया। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधी योजना का विवरण देते हुए उन्होंने कहा कि यह एक सरकारी योजना है जो रजिस्टर्ड लाभार्थीयों को तीन हज़ार रुपए की तीन किस्तों में 6,000 रुपए सालाना सब्सिडी देती है। स्कीम के अनुसार, सभी छोटे और सीमांत किसान न्यूनतम आय सहायता के तौर पर प्रति वर्ष 6,000 रुपए तक प्राप्त करेंगे। डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि जि़ला रूपनगर ने देश के बाकी सभी जिलों की तुलना में सबसे अधिक किसानों के आधार कार्ड प्रमाणीकरण की श्रेणी में शीर्ष स्थान हासिल किया है और आधार कार्ड प्रमाणीकरण के बाद जिला रूपनगर ने सबसे अधिक किसानों को इस योजना के अंतर्गत 6000 रुपए तक की सहायता राशि प्रदान करवाई है। डिप्टी कमिश्नर ने इस शानदार प्राप्ति के लिए मुख्य कृषि अफ़सर रूपनगर की टीम को बधाई दी।
रूपनगर के बाद, हरियाणा के कुरूक्षेत्र और छत्तीसगढ़ के बिलासपुर ने इस पैरामीटर की ‘अन्य राज्यों’ श्रेणी में क्रमवार दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया। ‘पूर्वोत्तर / पहाड़ी क्षेत्र ’ की श्रेणी में लाहौल और स्पिति (हिमाचल प्रदेश) पहले स्थान पर रहा जबकी ऊधम सिंह नगर (उत्तराखंड) ने दूसरा स्थान हासिल किया।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जश्न मनाने बंद करो, कोटकपूरा केस अभी ख़त्म नहीं हुआ: कैप्टन का सुखबीर को जवाब बठिंडा-बरनाला मार्ग पर बंद पड़े राइस शैलर के अंदर से मिले बाहरी प्रांत की गेंहूं के डंप किए 5 हजार गट्टे अन्य राज्यों से गेहूँ लाकर बेचने की कोशिश कर रही तीन फर्मों के विरुद्ध पर्चे दर्ज पंजाब सरकार द्वारा कोविड-19 के चलते गेहूं की सुरक्षित खरीद और मंडीकरण संबंधी एडवाइज़री जारी ध्वनी प्रदूषण: साइलेंसरों पर कहीं चलाए बुलडोजर, कहीं चलाए जा रहे कटर नवनीत कौर दीक्षित सर्वधर्म समभाव राष्ट्रीय मंच (महिला मोर्चा) की पंजाब इकाई की अध्यक्ष नियुक्त 23 किलो हेरोइन और हथियार बरामद जिला पुलिस के टैक्नीकल विंग ने ढूंढे 400 मोबाइल फोन बरनाला क्रिकेट ऐसोसिएशन को दो बॉलिंग मशीनें और प्रशिक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट प्रशिक्षक की नियुक्ति शिक्षा विभाग में लाइब्रेरियन के 750 पदों की भर्ती सम्बन्धी विज्ञापन जारी