ENGLISH HINDI Monday, April 12, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कर्नाटक: मई प्रथम सप्ताह तक हो सकते है कोविड-19 के मामले चरम पर: स्वास्थ्य मंत्रीजीवन रक्षक दवाओं पर अनिवार्य-लाइसेंस की मांग जिससे कि जेनेरिक उत्पादन होमहात्मा ज्योतिबा फुले: एक प्रासंगिक चिंतनजश्न मनाने बंद करो, कोटकपूरा केस अभी ख़त्म नहीं हुआ: कैप्टन का सुखबीर को जवाबबठिंडा-बरनाला मार्ग पर बंद पड़े राइस शैलर के अंदर से मिले बाहरी प्रांत की गेंहूं के डंप किए 5 हजार गट्टेअपराध साबित हो जाने पर भी सिर्फ अपराधी को सजा, पीड़ित को मुआवजा क्यों नही?पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान और उत्तर प्रदेश से आने वाले लोगों को 72 घण्टे पहले की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी जरूरीचंडीगढ़ में तीसरे इंडियन टैरो सम्मेलन का आयोजन
पंजाब

दलित परिवार लडक़ी को हवस का शिकार बनाने वाले आरोपितों को फांसी की सजा दिलाने दलित संगठन ने राष्ट्रपति से लगाई गुहार

March 06, 2021 09:07 PM

मामला 22 वर्ष की पढ़ी-लिखी दलित परिवार की लडक़ी से साजिश के तहत गैंगरेप करने, उसका नाबालिग युवक के साथ जबरन विवाह रचाने और उस पर अत्याचार करने का 

  अखिलेश बंसल/करन अवतार, बरनाला।

पंजाब के बरनाला जिला के पत्ती रोड इलाका की रहने वाली गरीब परिवार की 22 वर्ष की पढ़ी-लिखी दलित परिवार लडक़ी को एक गिरोह ने तांतरिक बाबा का सहारा लेकर उसे हवस का शिकार बना डाला, आरोप से खुद बचने के लिए आरोपितों ने उसका नाबालिग युवक के साथ जबरन विवाह रचा डाला, उसे बेसुध रखने के लिए नशा दिया और अत्याचार किया है।

मामले का खुलासा होते ही बरनाला पुलिस ने तांत्रिक बाबा समेत गिरोह के पांच सदस्यों को काबू में ले लिया है जबकि गिरोह का मुख्य आरोपी जो कि अकाली दल से संबंधित है व पुलिस गिरफ्त से बाहर बताया जा रहा है।

  जिला पुलिस मुखी संदीप गोयल पीपीएस द्वारा गठित की गई स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (सिट) की प्रभारी एस.पी.(एच) हरबंत कौर को इस कांड की जांच करने के लिए जिम्मेदारी दी गई है। घटनाक्रम के तमाम आरोपितों को फांसी की सजा दिलाने के लिए दलित संगठन रजि. पंजाब के प्रदेशाध्यक्ष दर्शन सिंह कांगड़ा की तरफ से भारत देश के राष्ट्रपति को पत्र लिखा है और पूरा मामले न्योछावर जानकारी देने के लिए राष्ट्रपति साहिब से मीटिंग का समय भी माँगा है।

यह बताया मामला :-
बरनाला शहर की सीमा में स्थित पत्ती रोड पर रहती एक गरीब व दलित परिवार से सम्बन्धित महिला चाय की रेहड़ी लगा कर घर का गुजारा करती आ रही थी। जिसकी बेटी को करमजीत कौर उर्फ अमन उर्फ कमल कौर नामक महिला जो 24 जून 2020 के दिन बहला-फुसला कर अपने साथ ले गई थी। उसकी 22 साला जवान बेटी जो कि आईलटस की तैयारी कर रही थी। घटना वाले दिन कुछ कागजात फोटोस्टेट करवाने घर से गई थी।

कई दिनों तक लडक़ी का कोई सुराग नहीं मिलने और कर्मजीत द्वारा भी फोन पर कोई जानकारी नहीं देने पर उसने बरनाला पुलिस सीटी थाना -1 पहुंच शिकायत दी थी। पुलिस ने शिकायत के आधार पर 10 जुलाई 2020 को धारा ३४६ आइपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर लिया था। कुछ दिनों बाद लडक़ी को पुलिस ने बरामद भी कर लिया था और उसका अदालत में बयान करवा कर मामला बंद कर दिया था।

लेकिन सवाल था कि लडक़ी कहां-कहां रही, उसके साथ क्या क्या अप्रिय घटना घटी से सम्बन्धित पूरे मामले का खुलासा घटनाक्रम में शामिल रहे दोषी चन्द लाल ने पीडित लडक़ी की माँ के पास ही किया। जिसने बताया कि मनोज कुमार शर्मा नामक एक तांत्रिक बाबा है, जो किसी कंवारी लडक़ी का जिन्न-भूत से विवाह करवा कर नोटों की वर्षा करने का दावा करता है, शर्त यह थी कि लडक़ी के शरीर पर किसी किस्म का कट का निशान नहीं लगा होना चाहिए। जिसके लालच में आकर उसने करमजीत कौर उर्फ अमन नामक लडक़ी को तांतरिक बाबा के समक्ष पेश किया था, उसके शरीर का निरीक्षण करने पर शरीर के एक भाग में आपरेशन होने का कट देखकर बाबा ने अमन का जिन्न के साथ विवाह करने से मनाह कर दिया था

उसके बाद में करमजीत कौर, चन्द लाल और अकाली नेता धर्मेंद्र सिंह ने मिलकर साजिश के अंतर्गत उक्त दलित लडक़ी को साथ लेकर सेखा रोड पर रहते काका सुनार के घर जा पहुंचे। जहाँ मनोज बाबा और कई अज्ञात लोग पहले ही मौजूद थे। वहां मनोज बाबा ने ख़ुद में जिन्न-प्रेत आया कह कर दलित लडक़ी से दुष्कर्म किया। उसके तुरंत बाद मौजूद सभी लोगों ने लडक़ी को अपनी हवस का शिकार बनाया।

सामूहिक बलातकार का शिकार एवं ख़ून से लतपत हुई लडक़ी को गाँव पंधेर रहती अंमृतपाल कौर नामक महिला के घर ले गए। वहां लडक़ी का पहले नीम-हकीम से इलाज करवाने की कोशिश की, रक्त बहने की गति नहीं सूरत में वे लडक़ी को जिला संगरूर के गाँव जक्खलां ले गए। कोई असर नहीं होता देख उन्होंने लडक़ी को नशा देना शुरु कर दिया। मामला संगीन होता देख और अपनी हैवानीयत पर पर्दा डालने के चलते आरोपितों ने लडक़ी को बठिंडा लेजाकर वहां की निवासी बलजीत कौर के नाबालिग लडक़े लखविन्दर सिंह के साथ जबरन विवाह करवा दिया।

अदालत को दिया बयान, 7 खिलाफ मामला, तीन पुलिस अधिकारी सस्पेंड :
पीडि़त लडक़ी ने ख़ुद को गिरोह के चंगुल से निकलने के लिए कोशिश शुरू की और 15 फरवरी 2021 को अपनी मां के पास बरनाला पहुँच गई। उसकी गंभीर हालत को देखते हुए लडक़ी को 20 फरवरी के दिन बरनाला सिविल हस्पताल दाखिल करवाया गया। अस्पताल से थाने और थाने से माननीय अदालत पहुंचे मामले के आधार पर माननीय जज बबलजीत कौर ख़ुद पीडि़ता के बयान लेने पहुंचे। जिन्होंने डाक्टरों से बातचीत करन बाद मामले को गैंगरेप से जुड़ा करार दिया। जिसके बाद बरनाला पुलिस ने 7 आरोपितों के खिलाफ साजिश, गैंगरेप और अन्य कई संगीन धाराओं के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया। यही बस नहीं, इस मामलो में लापरवाही बरतने के दोष तले एसएसपी बरनाला संदीप कुमार गोयल के हुक्मों के आधार पर तत्कालीन थाना प्रभारी एसआई गुलाब सिंह, एएसआई दर्शन सिंह और एएसआई करमजीत सिंह को सस्पेंड भी कर दिया गया।

फरार दोषी जल्दी होंगे सलाखों के अंदर- एसपी. (एच):-
गौरतलब है कि गैंगरेप का मामला चर्चा में आते ही बरनाला पुलिस ने तीन दोषियों को हिरासत में कर लिया था। जिनकी पहचान करमजीत कौर उर्फ अमन, चंद लाल और अमृतपाल कौर पंधेर के नाम से हुई थी। सिट की टीम के गठन के बाद पुलिस पार्टी द्वारा की गई जांच-पड़ताल और मिले सुराग के आधार पर तांत्रिक बाबा मनोज कुमार शर्मा को चार रोज पहले हरियाणा के सोनीपत इलाका से काबू कर लिया था। गत दिवस गिरोह की सदस्य संतोष रानी पत्नी करनैल सिंह को कस्बा चीका हरियाणा से काबू किया गया है। सिट प्रभारी एस.पी. (एच) हरबंत कौर का कहना है कि गिरोह के फरार दोषी ज्यादा देर तक नहीं बच सकेंगे। उन्हें जल्दी ही काबू कर लिया जाएगा।

दलित संगठन पंजाब ने भारत के राष्ट्रपति को लिखा पत्र:-

  बरनाला की दलित समाज की लडक़ी के साथ हुई दिल दहलाने वाली घटना के दोषियों को फांसी की सजा दिलाने के लिए दलित संगठन रजि. पंजाब के प्रदेशाध्यक्ष दर्शन सिंह कांगड़ा ने भारत देश के राष्ट्रपति को पत्र लिखा है और घटना की पूरी जानकारी देने व पंजाब प्रदेश के अंदर दलित परिवारों की दूसरी लड़कियों के साथ हो रही घटनाओं से अवगत कराने के लिए बैठक का समय मांगा है।

आगे बड़ा सवाल:-
दुष्कर्म पीडि़ता बच्ची जिसने आयलटस की सीढ़ी चढक़र कैसा भविष्य बनाने जा रही थी, इस घटना से पैदा हुए सदमें से वह बाहर कैसे निकलेगी, इस बच्ची का भविष्य क्या होगा, भारत का समाज इस बच्ची को अपनाएगा या नहीं, समुदाय इस बच्ची को कहां तक इंसाफ दिलाने के साथ भविष्य में ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने में कामयाब हो पाएगा या नहीं यह बड़े सवाल हैं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जश्न मनाने बंद करो, कोटकपूरा केस अभी ख़त्म नहीं हुआ: कैप्टन का सुखबीर को जवाब बठिंडा-बरनाला मार्ग पर बंद पड़े राइस शैलर के अंदर से मिले बाहरी प्रांत की गेंहूं के डंप किए 5 हजार गट्टे अन्य राज्यों से गेहूँ लाकर बेचने की कोशिश कर रही तीन फर्मों के विरुद्ध पर्चे दर्ज पंजाब सरकार द्वारा कोविड-19 के चलते गेहूं की सुरक्षित खरीद और मंडीकरण संबंधी एडवाइज़री जारी ध्वनी प्रदूषण: साइलेंसरों पर कहीं चलाए बुलडोजर, कहीं चलाए जा रहे कटर नवनीत कौर दीक्षित सर्वधर्म समभाव राष्ट्रीय मंच (महिला मोर्चा) की पंजाब इकाई की अध्यक्ष नियुक्त 23 किलो हेरोइन और हथियार बरामद जिला पुलिस के टैक्नीकल विंग ने ढूंढे 400 मोबाइल फोन बरनाला क्रिकेट ऐसोसिएशन को दो बॉलिंग मशीनें और प्रशिक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट प्रशिक्षक की नियुक्ति शिक्षा विभाग में लाइब्रेरियन के 750 पदों की भर्ती सम्बन्धी विज्ञापन जारी