ENGLISH HINDI Tuesday, November 30, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कार निर्माताओं को बायो-एथेनॉल से चलने वाले इंजन बनाने के होंगे निर्देशतकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के 25 अधिकारियों को मिली तरक्कीज़ायका प्रोजेक्ट में भ्रष्टाचार पर भाजपा सरकार चुप क्यों: कांग्रेसडिजिटल इंडिया की दिशा में तत्परता से कार्य कर रही बिहार सरकारआजादी अमृत महोत्सव मनाने हेतु युवाओं का, युवाओं द्वारा और युवाओं के लिए शो का आयोजनपंजाब सरकार के मुख्य सचिव द्वारा नाबार्ड वित्तीय सहायता प्राप्त परियोजनाओं की समीक्षादिव्यांगजनों के कौशल प्रशिक्षण हेतु एचपीकेवीएन की पहलकर संबंधी मामलों पर जिला स्तरीय प्रशनोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित
चंडीगढ़

द लास्ट बेंचर और इनरव्हील क्लब ऑफ़ चंडीगढ़ हारमनी ने भास्कर कॉलोनी में 101 कन्याओं का किया पूजन

October 14, 2021 10:04 PM

चंडीगढ़:-समाजसेवी संस्था द लास्ट बेंचर और इनरव्हील क्लब ऑफ़ चंडीगढ़ हारमनी के संयुक्त तत्वावधान में शारदीय नवरात्र के पावन अवसर पर गुरुवार को 101 कन्याओं का पूजन का आयोजन सेक्टर 25 स्थित भास्कर कॉलोनी में किया गया। कार्यक्रम के दौरान गुलाब के फूलों से भरे पानी में कन्याओं के चरण धुलवाकर उनकी पूजा की गई।

इस अवसर पर द लास्ट बेंचर की प्रेजिडेंट सुमिता कोहली सहित उनकी टीम के सदस्य शशि बाला, डेजी महाजन तथा इनरव्हील क्लब ऑफ़ चंडीगढ़ हारमनी की प्रेजिडेंट इन्द्राणी सेन घोष और उनकी संस्था के सदस्य डॉक्टर नीरजा, प्रेरणा सिंगला और सोनिया वाधवा की उपस्थिति भी रही। इस आयोजन का मकसद कन्याओं के प्रति समाज मे सम्मान और प्रेम की भावना जागृत करना था।

संस्थाओं की ओर से नवमी पर कन्याओं का पूजन कर "बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ" का संदेश भी दिया गया। द लास्ट बेंचर की प्रेजिडेंट सुमिता कोहली ने बताया कि समाज से कुरीतियां, जातिवाद, भेदभाव और अंधविश्वास को दूर कर समाज में सामाजिक समरसता के उद्देश्य को लेकर द लास्ट बेंचर द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित कन्या पूजन कार्यक्रम होता है।
वहीं इनरव्हील क्लब ऑफ चंडीगढ़ हारमनी की प्रेसिडेंट इन्द्राणी सेन घोष बताया कि हमारी संस्कृति मे कन्या पूजन का विशेष महत्व बताया गया है। अष्टमी और नौवें दिन नवमी पर कन्या पूजन भी किया जाता है जिसका बड़ा महत्व बताया गया है. इस दिन 10 साल से कम उम्र की कन्याओं को देवी मानकर उनकी पूजा की जाती है नौ देवियों के प्रतिबिंब के रूप में कन्या पूजन के बाद ही भक्तों के नवरात्र व्रत संपन्न माने जाते हैं।उसके बाद ही नवरात्र व्रत संपन्न माने जाते है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
अल्केमिस्ट अस्पताल पंचकूला ने अंगदानी निपुन जैन के परिवार को सम्मानित किया स्पेशलाइज्ड पैथोलॉजी चेन ऑनक्वेस्ट लेबोरेटरीज ने उत्तर भारत में अपने विस्तार की योजना बनाई - पंचकुला में अत्याधुनिक लैब का किया शुभारंभ बाजरा, काढ़ा, योग, ध्यान और सकारात्मक सोच स्वास्थ्य के लिए उत्तम : गुरु मनीष योग एजुकेशन एंड हेल्थ, चंडीगढ़ में संविधान दिवस "आजादी का अमृत महोत्सव" मनाया नॉर्थ जोन एआईयू मीट में भाग लेंगे 150 से अधिक वाइस चांसलर सेक्रेटरी चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड राकेश पोपली ने गुरुद्वारा साहिब में टेका माथा: बाबा जी का आशीर्वाद किया प्राप्त पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: मजदूर किसानों के हितों और अधिकारों के लिए "क्रांतिकारी मजदूर किसान पार्टी पंजाब" की घोषणा मोज एप ने लॉन्च किया “मोज नेक्स्ट पंजाबी स्टार” टैलेंट हंट 552 किलो का केक काट कर मनाया श्री गुरु नानक देव जी का प्रकटोत्सव चाय पे चर्चा: विकास के कार्यों को एजेंडा बना कर चुनाव लड़ा जाएगा: अरुण सूद