ENGLISH HINDI Tuesday, November 30, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कार निर्माताओं को बायो-एथेनॉल से चलने वाले इंजन बनाने के होंगे निर्देशतकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के 25 अधिकारियों को मिली तरक्कीज़ायका प्रोजेक्ट में भ्रष्टाचार पर भाजपा सरकार चुप क्यों: कांग्रेसडिजिटल इंडिया की दिशा में तत्परता से कार्य कर रही बिहार सरकारआजादी अमृत महोत्सव मनाने हेतु युवाओं का, युवाओं द्वारा और युवाओं के लिए शो का आयोजनपंजाब सरकार के मुख्य सचिव द्वारा नाबार्ड वित्तीय सहायता प्राप्त परियोजनाओं की समीक्षादिव्यांगजनों के कौशल प्रशिक्षण हेतु एचपीकेवीएन की पहलकर संबंधी मामलों पर जिला स्तरीय प्रशनोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित
पंजाब

डेरा बस्सी बस स्टैंड की उपेक्षा, निजी बस चालकों ने बनाया टैक्सी स्टैंड

October 18, 2021 07:43 PM

डेरा बस्सी, पिंकी सैनी:
सरकार चाहे कांग्रेस की हो या शिअद-बीजेपी, पैसा खर्च करने के बड़े-बड़े दावे दोनों के नेता कर रहे हैं इसी विकास की हवा में शहर के आधी सदी पुराने बस स्टैंड की जर्जर इमारत को विकास का इंतजार है। इस बस अड्डे की अपनी दर्दनाक कहानी है, जहां यात्रियों समेत रोडवेज की एक भी बस प्रवेश नहीं करना चाहती। जिस कारण अंबाला चंडीगढ़ और लंबी रूट की बसें बस स्टैंड में प्रवेश नहीं करती हैं, यात्रियों को चंडीगढ़-अंबाला मुख्य मार्ग के दोनों ओर खड़े होकर बसों का इंतजार करना पड़ता है। डेरा बस्सी शहर सहित 5 दर्जन से अधिक गांवों का केंद्र है। निवासियों ने बताया कि बस स्टैंड की आधारशिला 1970 में तत्कालीन स्थानीय सरकार के मंत्री मनमोहन कालिया ने रखी थी। उसके बाद तत्कालीन सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया और आधार भवन खंडहर में तब्दील होने लगा। यहां बने बाथरूम को भी बंद कर दिया। लोगों के बैठने की जगह नहीं है और पीने के साफ पानी की भी व्यवस्था नहीं है। स्थानीय नगर परिषद के अधिकारियों ने बस स्टैंड इमारत को पेंट कर उसे नया रूप देने की कोशिश की। अब स्थिति यह है कि निजी वाहन चालकों ने बस स्टैंड को टैक्सी स्टैंड में तब्दील कर दिया है। राष्ट्रीय राजमार्ग को चार लेन की सड़क बनाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों ओर सैकड़ों पेड़ों पर सरकारी कुल्हाड़ियों के इस्तेमाल से समस्या और बढ़ गई है। बसें नहीं रुकने वाली जगहों पर बस शेल्टर भी बनाए गए हैं। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश के अलावा यहां से रोजाना सैकड़ों बसें गुजरती हैं लेकिन स्टॉप बहुत कम हैं। शहरवासियों ने बताया कि ज्यादातर बसें फ्लाईओवर के ऊपर से गुजरती हैं। शहरवासियों ने पंजाब सरकार से नया बस स्टैंड भवन बनाने की मांग की है। डेराबस्सी नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी जगजीत सिंह ने जब जज से संपर्क करने की कोशिश की तो उन्होंने फोन नहीं उठाया जब भी ट्रैफिक पुलिस की ओर से भी इस और कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। ब्रिज के नीचे लोगों ने अपनी कारें पार्क कर आने जाने का रास्ता भी बंद किया हुआ है। जब इसके बारे में ट्रैफिक पुलिस से बात की जाती हो तो वह कहते हैं कि एसएससी ट्रैफिक से बात करें।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के 25 अधिकारियों को मिली तरक्की डेराबस्सी:नजदीकी गांव के नाले में मिली लाश मुख्यमंत्री पंजाब को बरनाला में आना पड़ा महंगा पंजाब में नाइट डोमीनेशन ऑपरेशन के लिए 135 गज़टिड अधिकारी तैनात फॉर्च्यूनर पलटी, ड्राइवर चोटिल होने से बचा पुलिस ने संभावी आतंकवादी हमला किया नाकाम; हथगोलों, पिस्तौलों सहित अत्यधिक कट्टरपंथी ऑपरेटिव गिरफ्तार ट्रेन के नीचे आने से एक की मौत श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर ट्राइडेंट परिसर पहुंचे 20 हजार से ज्यादा लोग मुख्यमंत्री चन्नी के दाएं-बाएं माफिया बैठता है: केजरीवाल अमृतसर मेडीकल कॉलेज के विद्यार्थी दुनिया के लिए मार्गदर्शक रहे