ENGLISH HINDI Monday, May 23, 2022
Follow us on
 
राष्ट्रीय

एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान की हार्ट अटैक से मौत

January 14, 2022 05:21 PM

चडीगढ़, फेस2न्यूज

उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान की मौत हो गई है। उनके करीबी लोगों ने बताया कि कमाल को सुबह करीब साढ़े सात बजे हार्ट अटैक आया। कमाल खान दो दशक से पत्रकारिता में थे। लंबे समय तक प्रिंट मीडिया में रहने के बाद उन्होंने एनडीटीवी के साथ टीवी करियर की शुरुआत की और अंत तक चैनल के साथ जुड़े रहे। खबरों को पेश करने के अपने खास अंदाज और भाषा के लिए वह काफी लोकप्रिय थे।

कमाल खान के निधन से पत्रकारिता जगत में शोक की लहर है। कमाल खान के पुराने मित्र और वरिष्ठ पत्रकार श्रवण कुमार शुक्ला ने कमाल खान के यूं अचानक निधन पर शोक और हैरानी जताते हुए कहा कि कमाल अपने नाम की तरह की कमाल के शख्स थे। वह बेहद सहज और सरल स्वभाव के व्यक्ति थे।

वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश मिश्रा ने ट्वीट किया, ''मशहूर पत्रकार कमाल खान जी का निधन बेहद कष्टप्रद है। पत्रकारिता जगत के लिए बहुत क्षति है उनका ना रहना। देर रात तक वो दायित्वों तक निर्वहन करते रहे। सबसे वरिष्ठ पत्रकार होने के बाद भी फील्ड में रिपोर्टिंग कभी नहीं छोड़ी। खबर पेश करने का उनका अंदाज देशभर में पत्रकारों को प्रेरित करता था। अलविदा।''

नसिफ अहमद ने किया कू -- एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार जनाब कमाल खान साहब का हार्ट अटैक से निधन अत्यंत दुःखद ! ईश्वर उनकी आत्मा को शांति व शोकाकुल परिजनो को दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें !

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
प्रतिष्ठित टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग में शूलिनी यूनिवर्सिटी शीर्ष 200 वैश्विक यूनिवर्सिटीस में शामिल त्यौहारों पर हिंसा का साया दवा-प्रतिरोधक टीबी: क्या नवीनतम जाँच-इलाज सभी जरूरतमंदों तक पहुँच रहे हैं? श्री सुधांशु जी महाराज का विराट भक्ति सत्संग संपन्न अग्निकांड प्रभावित सैकड़ों परिवारों में ब्रह्माकुमारी बहनों ने राहत सामग्री वितरित की थानेसर में विश्व विरासत दिवस का आयोजन किया जाएगा उन्नति और मन की शुद्घता की शुरूआत करें भोजन से, आपकी आन्तरिक स्थिति अच्छी होनी चाहिए: सुधांशु जी महाराज महामारी से बचने के लिए वैश्विक संधि को मुनाफ़ाख़ोरों से कैसे बचाएँ? आयुष्मान भारत ने बदली स्वास्थ्य देखभाल सेवा की तस्वीर होम्योपैथी में क्यों दी जाती है मीठी गोली, बता रहे हैं डॉ खरबंदा