ENGLISH HINDI Saturday, May 21, 2022
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से 2 आईएएस और 2 एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश जारी किएआगामी नगर निगम चुनाव हेतु आम आदमी पार्टी ने कसी कमरबलटाना: मेन मार्केट में रेहड़ी-फड़ियों से रोज लगता है जामगांव में चीता देखे जाने के बाद क्षेत्र में दहशत, लगाया पिंजरा, टीम तैनातजीबीपी खिलाफ दर्ज धोखाधड़ी मामलों की एसपी रूरल करेंगे जांचप्राचीन गुग्गा माडी मंदिर में लखदाता पीर का वार्षिक उत्सव का आयोजनसोमवति आमवस्या पर शनि जयंती 30 मई को शनि मन्दिर बहादराबाद हरिद्वार मेंवाकनाघाट उत्कृष्टता केन्द्र में परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए अनुबन्ध हस्ताक्षरित
चंडीगढ़

पलसोरा पुलिस ने युवक की निर्ममता से की पिटाई:परिवार ने खटखटाया एसएसपी का दरवाजा

January 14, 2022 07:51 PM

चंडीगढ़: सेक्टर 56 के एक परिवार ने पलसोरा पुलिस चौकी प्रभारी सतनाम सिंह और कॉन्स्टेबल विद्यानंद और प्रवीण कुमार पर उनके पुत्र की बेरहमी से की गई पिटाई पर रोष जताते हुए चंडीगढ़ पुलिस एसएसपी कुलदीप सिंह चहल और मानवाधिकार आयोग को शिकायत देकर आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

चंडीगढ़ प्रेस क्लब में पीड़ित के पिता राम कुमार ने बताया कि वो सेक्टर 56 में वर्ष 2019 से पहले सट्टा खिलाने के काम करते थे। उस वक़्त जो भी पुलिस कर्मी थे, उनकी इस गैर कानूनी एक्टिविटी के एवज में उनसे बतौर हफ्ता वसूल करते थे। काम छोड़ने के बाद उन्होंने पुलिस को पैसे देने बंद कर दिए। लेकिन पुलिस कर्मी जून 2021 तक उनसे जबरन पैसे वसूलते रहे कि वो अभी भी इस गैरकानूनी एक्टिविटी में संलिप्त है, अगर वो उन्हें पैसे नहीं देंगे तो वो उन्हें झूठे मामले में फंसा देंगे। राम कुमार ने बताया कि उन्होंने पुलिस कर्मियों को बड़ा समझाया कि वो अब यह सब धंधे बंद कर चुके हैं। लेकिन पुलिस कर्मी उनकी बात सुनने को तैयार ही नहीं।

11 जनवरी, 2022 को भी उन्होंने उससे तुरंत आकर पैसे देकर जाने को कहा। उन्होंने उन्हें समझाया कि एक तो वो शहर से बाहर हैं, दूसरा अब जब वो इस एक्टिविटी में लिप्त ही नहीं है तो क्यों कर पैसे दें। इस पर पुलिस ने उनके 27 वर्षीय पुत्र रामदेव को शाम 07 बजे के करीब पुलिस चौकी में बुला कर उस पर झूठा मामला दर्ज किया और उसके प्राइवेट पार्ट्स पर आगे पीछे से खूब पीटा और टॉर्चर किया।

देर रात करीब 12 बजे तक उसे छोड़ दिया गया। घर आकर उनके पुत्र रामदेव ने उन्हें निर्दयता से पीटे जाने और दर्द की शिकायत की तो वो उसे सेक्टर 16 हॉस्पिटल ले गए। यहां पर डॉक्टर्स ने अच्छी तरह से उसकी जांच पड़ताल के बाद उसकी पिटाई की बात दोहराई। इसका कड़ा संज्ञान लेते हुए मेडिकल रिपोर्ट के साथ इसकी शिकायत पब्लिक विंडो पर चंडीगढ़ पुलिस के एस एस पी कुलदीप सिंह चहल से कर दोषी पुलिस कर्मियों चौकी प्रभारी एस आई सतनाम सिंह सहित कॉन्स्टेबल परवीन कुमार और विद्यानंद पर सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है। राम कुमार ने कहा कि अगर उन्हें इंसाफ नही मिलता है तो वो माननीय अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

पीड़ित रामदेव के अनुसार उसे धोखे से पुलिस चौकी बुलाया गया था। एक कांस्टेबल तो उनकी पीठ पर बैठा था। जबकि दूसरा उनके पैरों के तलवे में डंडे बरसा रहा था। वो दर्द से चीख चिल्ला रहे थे, लेकिन उनकी एक न सुनी गई। उन्हें बिना वजह ही पुलिस ने झूठे मामले में फंसा दिया है। बल्कि पुलिस कांस्टेबल ने उन्हें धमकी देकर छोड़ दिया कि अगर इस बात का जिक्र किसी से किया तो वो उसे झूठे मामले में फंसा देंगे।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
वल्र्ड हाइपरटेंशन डे: दिल से संबंधित समस्याओं को रोकने के लिए नियमित अंतराल पर ब्लड पे्रशर की करें जांच: डॉ अंकुर आहूजा विश्वकर्मा समाज, चंडीगढ़ के शंकराचार्य, जगतगुरू की उपाधि से विभूषित कश्मीरी पंडित की हत्या पर ब्राह्मण सभा ने रोष जताया नरमे, मक्की व मिर्च की फसलों की सुंडी को खत्म करने पर हुआ मंथन मानसिक स्वास्थ्य पर जागरूकता बढ़ाने के लिए फोर्टिस मोहाली के नर्सिंग स्टाफ ने वॉकथॉन का आयोजन किया स्वामी लाल जी महाराज का 8 दिवसीय निःशुल्क योग एवं चिकित्सा शिविर शुरू, उमड़े भक्तजन सुरेंद्र बेदी शनि मंदिर कमेटी के प्रधान नियुक्त, सुभाष तमोली बने चेयरमैन अंजु कत्याल ने वार्ड वासियों के हित ताक पर रखे : जगदीप महाजन / रंजना अग्रवाल हिमाचल महासभा ने किया बाबा बालक नाथ की चौकी का आयोजन हम तो सिर्फ शरीर हैं, ओशो ही आत्मा हैं : मां आनंद शीला