ENGLISH HINDI Saturday, May 30, 2020
Follow us on
 
पंजाब

प्रणाम शहीदां नूं कार्यक्रम में कोरियोग्राफी में कर दिया दर्शकों को भावविभोर

August 10, 2019 05:39 PM

अबोहर : स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में पंजाबी सभ्याचार मंच द्वारा आज धर्म नगरी स्थित टंैडर हार्ट सी. सै. स्कूल में आयोजित कार्यक्रम प्रणाम शहीदां नूं में युवा कलाकारों ने कर चले हम फिदा जानो तन साथियों शीर्षक गीत कोरियोग्राफी पेश करके दर्शकों को भाव विभोर कर दिया। अन्य बाल कलाकारों ने भी आजादी प्राप्त करने के लिये कुर्बानी देने वाले शूरवीरों को कविता पाठ, गीत, भाषण के माध्यम से श्रद्धा सुमन अर्पित किये। प्राचार्या मीनाक्षी भंडारी ने अतिथियों का स्वागत किया। आभार मनीष भंडारी ने जताया। कार्यक्रम के मुख्यतिथि सेवा निवृत उपमंडल अधिकारी बीएल सिक्का थे, अध्यक्षता लेखक परिषद के प्रधान राज सदोष थे।

1965 में खेमकरण सेक्टर और 1971 में फाजिल्का सेक्टर में भारत पाक युद्ध से सबंध संस्मरण सुनाते हुए राज सदोष ने कहा कि 1947 में हजारों क्रान्तिकारियों व राजनीतिक क्षेत्र से जुडे महापुरूषों की कुर्बानियों से मिली आजादी को बरकरार रखने के लिये पाकिस्तान की सेना से भारतीय सैनिकों ने 1965 और 1971 में लोहा लिया और उसके बाद कारगिल को भी कब्जे से मुक्त कराने के लिये संघर्ष करना पडा। आज उन महान शहीदों की याद करके सभी का मस्तक श्रद्धा से झुक जाता है। जरूरत इस बात की है कि प्रत्येक नागरिक एकता व अखंडता को बरकरार रखने में अपना नैतिक दायित्व निभाये।

उपस्थित पदाधिकारियों में प्रधान गुरचरण सिंह गिल, अंकुर गर्ग, रमेश मिढा, एसएस दानेवालिया एडवोकेट, विजयइन्द्र पाल सिंह बिश्नोई एडवोके ट, देसराज कंबोज एडवोकेट, चिमन लाल वधवा, जगदीश राय जुनेजा, गंगाधर बांसल, राजीव गोदारा, गुरमीत सिंह मान, जसविन्द्र कौर, डा. रमेश वर्मा आदि शामिल थे।

1965 में खेमकरण सेक्टर और 1971 में फाजिल्का सेक्टर में भारत पाक युद्ध से सबंध संस्मरण सुनाते हुए राज सदोष ने कहा कि 1947 में हजारों क्रान्तिकारियों व राजनीतिक क्षेत्र से जुडे महापुरूषों की कुर्बानियों से मिली आजादी को बरकरार रखने के लिये पाकिस्तान की सेना से भारतीय सैनिकों ने 1965 और 1971 में लोहा लिया और उसके बाद कारगिल को भी कब्जे से मुक्त कराने के लिये संघर्ष करना पडा। आज उन महान शहीदों की याद करके सभी का मस्तक श्रद्धा से झुक जाता है। जरूरत इस बात की है कि प्रत्येक नागरिक एकता व अखंडता को बरकरार रखने में अपना नैतिक दायित्व निभाये।

स्वतंत्रता संग्राम की चर्चा करते हुए बीएल सिक्का, गुरचरण ङ्क्षसह गिल, मीनाक्षी भंडारी, रमेश मिढा ने अपने संबोधन में कहा कि जो कौमें शहीदों को भुला देती है। वे अपना अस्तित्व खो देती है। इसलिये हमें स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस राजनीतिक विचार धाराओं से उपर उठकर पूरी श्रद्धा एवम निष्ठा के साथ मनाना चाहिये। सभी कलाकारों को मंच की ओर से सम्मानित किया गया। 

Group
     
Writer
 Reporter 
Language
 Category  Segment  Status 
Heading
Summary
                   
Paragraph  
Font Family  
Font Size  
 
         
   
   
                                 
   
   
 
Pathp
Words:0
Matter
                   
Paragraph  
Font Family  
4 (14pt)  
 
         
   
   
                                 
   
   
 
Pathp » span
Words:0

1965 में खेमकरण सेक्टर और 1971 में फाजिल्का सेक्टर में भारत पाक युद्ध से सबंध संस्मरण सुनाते हुए राज सदोष ने कहा कि 1947 में हजारों क्रान्तिकारियों व राजनीतिक क्षेत्र से जुडे महापुरूषों की कुर्बानियों से मिली आजादी को बरकरार रखने के लिये पाकिस्तान की सेना से भारतीय सैनिकों ने 1965 और 1971 में लोहा लिया और उसके बाद कारगिल को भी कब्जे से मुक्त कराने के लिये संघर्ष करना पडा। आज उन महान शहीदों की याद करके सभी का मस्तक श्रद्धा से झुक जाता है। जरूरत इस बात की है कि प्रत्येक नागरिक एकता व अखंडता को बरकरार रखने में अपना नैतिक दायित्व निभाये।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो द्वारा 8 अधिकारियों और कर्मचारियों को दी गई सामान्य विदाई परिवहन साधनों द्वारा पंजाब में आने वालों के लिए दिशा-निर्देश जारी पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया पाँचवी, आठवीं और दसवीं कक्षा का परिणाम पंजाब के ब्राह्मणों ने की अल्पसंख्यक में शामिल करने की मांग शिक्षा विभाग में ठेके पर काम करते 496 कर्मियों के कार्यकाल में साल की वृद्धि को मंज़ूरी अध्यापक के 12 वर्षीय गुमशुदा लड़के की वापसी के लिए उपायुक्त ने लखनऊ भेजी कार, दो महीने बाद परिवार से मिला बच्चा जुर्माने में भारी वृद्धि: अब सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने पर होगा 500 रुपए का जुर्माना बीज घोटाला: सीबीआई से जांच के डर से राज्यभर के सीइएओ ने बीज की दुकानों पर दौड़ाई टीमें रेलगाडिय़ों से यात्रा करने वालों के लिए दिशा-निर्देश जारी सामाजिक सुरक्षा विभाग में 94 सुपरवाइजऱ पदों के नतीजों का एलान