ENGLISH HINDI Monday, January 20, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना प्रचार प्रसार अभियान चंडीगढ़ संगठन ने अरुण सूद से मुलाकात कर दी बधाई छुप छुप कर किए थियेटर से हासिल किया मुकाम : मनु सिंहपरीक्षा पे चर्चा: पीएम मोदी से 60 से ज्यादा बच्चे पूछेंगे सवालएडवाकेट गुरदयाल शर्मा के सुपुत्र विनय शर्मा की रस्म पगड़ी 24 जनवरी कोद लास्ट बेंचर्स ने गरीब बच्चों के साथ धूमधाम से मनाया लोहड़ी का त्यौहार: बच्चों को बांटे गर्म वस्त्र, कम्बल और गिफ्ट्सविश्व हिंदू परिषद पंजाब की तरफ से पंजाब के माननीय राज्यपाल को दिया ज्ञापन1652 होमगार्ड जवानों की होगी भर्ती26 को राज्यपाल अंबाला में, मुख्यमंत्री जींद में फहराऐंगे राष्ट्रीय ध्वज
पंजाब

डॉक्टरों की लापरवाही से गई मासूम की जान, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेश

August 25, 2019 08:51 PM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी

सिविल हॉस्पिटल में एक पांच साल बच्चे शिवम की डॉक्टरों की लापरवाही के कारण मौत हो गई. मृतक के पिता विजय तिवारी ने कहा कि वह कल रात 1:30 बजे के करीब अपने बच्चे को सिविल हॉस्पिटल लेकर आया था क्योंकि उसको दस्त व उल्टियां लगी हुई थीं, जब वह 1:30 बजे हॉस्पिटल में पहुंचा तो डॉक्टरों ने उसको इंजेक्शन और ग्लूकोस दिया जो सुबह 6:00 बजे तक चलता रहा.

 शिवम के पिता विजय तिवारी ने कहा कि बच्चे की हालत खराब होने पर डॉक्टर को कई बार कहने के बावजूद उनकी एक न सुनी. जब सुबह 6:00 बजे उसने ज बच्चे की हालत गंभीर देखी तो डॉक्टर साहब से कहा कि वह बच्चे को चंडीगढ़ रेफर कर दें. इस पर डॉक्टर कहने लगा कि वह उससे बदतमीजी कर रहे हैं इसलिए उनकी शिकायत पुलिस स्टेशन में कर दी जाएगी. इससे घबराकर बच्चे के पिता ने बच्चे को वहां से एक निजी अस्पताल में दिखाया, जहां पर उसकी हालत को गंभीर देखते हुए उसे 32 रेफर कर दिया गया हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने बहुत जोर लगाने के बाद भी वह शिवम को नहीं बचा सके आखिर शिवम की मौत हो गई.

इस पर परिवार ने डॉक्टरों के विरुद्ध पुलिस स्टेशन मैं शिकायत दर्ज करा दी और लवलीन कौर व स्टाफ को दोषी बताया. उन्होंने कहा कि डॉक्टर भोले.भाले लोगों को बदतमीजी से बोलने वाले की धमकी देकर चुप करा देते हैं और मरीज की कोई बात नहीं सुनते.

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने दिए जांच के आदेश

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू को दी गई शिकायत के बाद उन्होंने इसकी इंक्वायरी के लिए एक टीम का गठन किया है जो रिपोर्ट एक-दो दिन में सिविल सर्जन मोहाली को देगी उसके बाद जो भी लोग इसमें दोषी पाया गया उसके विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

इस दौरान एसएमओ डेराबस्सी संगीता जैन से जब बात करनी चाही तो उन्होंने कहा कि इसकी इंक्वायरी कराई जाएगी और जल्द से जल्द उसके विरुद्ध कार्रवाई भी की जाएगी जबकि थाना मुखी वीरेंद्र सिंह ने कहा है कि उन्हें शिकायत मिली है वह इनकी जांच कर रहे हैं.

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें