ENGLISH HINDI Thursday, June 04, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

शहीद बालकृष्ण का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, मुख्य मंत्री जयराम ठाकुर ने शोक जताया, गोविंद सिंह ठाकुर ने दी श्रद्धांजलि

April 07, 2020 12:52 PM

बालकृष्ण भारतीय सेना में पैरा ट्रूपर थे। उनका भाई भी सेना में ही सेवारत है। वह अपने पीछे दादा अनूप राम, पिता महेंद्र सिंह, माता इंदिरा देवी और बहन सोनिका को छोड़ गए हैं। वन मंत्री ने इन परिजनों को ढांढस बंधाया और सरकार की ओर से हरसंभव सहायता का भरोसा दिया। गोविंद सिंह ने कहा कि बालकृष्ण ने अदम्य साहस और भारतीय सेना की उच्च परंपराओं का निवर्हन करते हुए देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। इसके लिए प्रत्येक भारतवासी उनका ऋणी रहेगा। सेना की ओर से आर्थिक मदद के अलावा प्रदेश सरकार भी शहीद के परिजनों को 20 लाख रुपये देगी। वन मंत्री ने प्रदेश सरकार की ओर से शहीद के परिजनों को मौके पर ही पांच लाख रुपये की धनराशि प्रदान की।

मनाली/शिमला (विजयेन्दर शर्मा)

जम्मू-कश्मीर के केरन सैक्टर में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए कुल्लू जिले के गांव पुईद के सैनिक बालकृष्ण का ब्यास नदी के तट पर भूतनाथ श्मशान घाट पर पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया।

इससे पहले सोमवार दोपहर को शहीद बालकृष्ण का पार्थिव शरीर हैलीकाप्टर से मनाली के निकट बाहंग स्थित सासे के हैलीपैड पर पहुंचाया गया। इस मौके पर प्रदेश सरकार की ओर से वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर हैलीपैड पर मौजूद रहे तथा सेना के अधिकारियों के साथ शहीद के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव पहुंचाया।

बालकृष्ण भारतीय सेना में पैरा ट्रूपर थे। उनका भाई भी सेना में ही सेवारत है। वह अपने पीछे दादा अनूप राम, पिता महेंद्र सिंह, माता इंदिरा देवी और बहन सोनिका को छोड़ गए हैं। वन मंत्री ने इन परिजनों को ढांढस बंधाया और सरकार की ओर से हरसंभव सहायता का भरोसा दिया।

  
गोविंद सिंह ने कहा कि बालकृष्ण ने अदम्य साहस और भारतीय सेना की उच्च परंपराओं का निवर्हन करते हुए देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। इसके लिए प्रत्येक भारतवासी उनका ऋणी रहेगा। सेना की ओर से आर्थिक मदद के अलावा प्रदेश सरकार भी शहीद के परिजनों को 20 लाख रुपये देगी। वन मंत्री ने प्रदेश सरकार की ओर से शहीद के परिजनों को मौके पर ही पांच लाख रुपये की धनराशि प्रदान की।

इसके बाद भूतनाथ श्मशान घाट पर पूरे सैन्य एवं राजकीय सम्मान के साथ शहीद बालकृष्ण का अंतिम संस्कार किया गया। इस अवसर पर वन मंत्री के अलावा विधायक सुंदर सिंह ठाकुर, एचपीएमसी के उपाध्यक्ष राम सिंह, सेना कैंप पलचान के कर्नल नरेश बरमोला, एसडीएम अनुराग चंद्र शर्मा, एसडीएम मनाली रमन घरसंगी, एएसपी राजकुमार चंदेल और अन्य गणमान्य लोगों ने भी शहीद बालकृष्ण को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
मुख्यमंत्री ने किया शहीद जवानों की शहादत पर शोक व्यक्त

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने उत्तरी कश्मीर के केरन सेक्टर में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में प्रदेश के कुल्लू जिले के पूईद गांव के निवासी 24 वर्षीय पैराट्रूपर बालकृष्ण तथा बिलासपुर जिले की हटवाड़ पंचायत के देहरा गांव निवासी 43 वर्षीय कमांडो सूबेदार संजीव कुमार के शहीद होने पर शोक व्यक्त किया है।जय राम ठाकुर ने कहा कि शहीद हुए जवानों ने देश के लिए महान बलिदान दिया है तथा देश व प्रदेश को उनकी इस शहादत पर गर्व है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से शहीद हुए जवानों की आत्मा को शांति प्रदान करने तथा शोक संतप्त परिवारों के सदस्यों को इस दुखद घड़ी में शक्ति प्रदान करने की कामना की है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें