ENGLISH HINDI Saturday, December 05, 2020
Follow us on
 
पंजाब

समाज से भ्रष्टाचार के ख़ात्मे हेतु मनाया जाएगा ‘सतर्कता जागरूकता सप्ताह’

October 26, 2020 08:34 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:

  पंजाब विजीलैंस ब्यूरो द्वारा राज्यभर में 27 अक्टूबर से 2 नवंबर तक ‘सतर्कता जागरूकता सप्ताह’ मनाया जाएगा, जिसमें सप्ताह भर चलने वाली मुहिम के दौरान राज्य के विभिन्न विभागों और शैक्षणिक संस्थानों को शामिल किया जाएगा।
जानकारी देते हुए विजीलैंस ब्यूरो के एडीजीपी-कम-मुख्य निदेशक श्री उप्पल ने कहा कि केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) द्वारा देश से भ्रष्टाचार के ख़ात्मे के लिए लोगों को जागरूक करने हेतु मनाए जाने वाले सालाना सतर्कता जागरूकता सप्ताह के लिए हर साल एक विशेष नारा दिया जाता है। इस बार सीवीसी द्वारा ‘‘सतर्क भारत-खुशहाल भारत’’ को विषय के तौर पर चुना गया है।

उन्होंने  बताया कि राज्य विजीलैंस ब्यूरो ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध ज़ीरो सहनशीलता नीति अपनाई है। श्री उप्पल ने कहा कि इस सम्बन्ध में ब्यूरो ने पहले ही सरकारी दफ़्तरों में भ्रष्टाचार के खि़लाफ़ मुहिम चलाई हुई है, जिसके अंतर्गत कई मुलजि़मों को रंगे हाथों गिरफ़्तार किया गया।

 मौजूदा सरकार के कार्यकाल के दौरान विजीलैंस ब्यूरो द्वारा 1 मार्च, 2017 से 30 सितम्बर, 2020 तक 425 ट्रैप लगा कर 559 दोषियों को रंगे हाथों काबू किया गया, जिनमें 47 गैज़टिड अधिकारी, 440 नॉन-गैज़टिड अधिकारी और 72 प्राईवेट व्यक्ति शामिल थे। इसके अलावा 75 गैज़टिड अधिकारियों, 156 नॉन-गैज़टिड अधिकारियों और 183 आम व्यक्तियों के विरुद्ध 123 अपराधिक मामले दर्ज किए गए थे। इसके अलावा, नाजायज़ जायदादों सम्बन्धी 16 मामले दर्ज किए गए, जिसके अंतर्गत 7 गैज़टिड अधिकारी और 9 नॉन-गैज़टिड कर्मचारियों को भी गिरफ़्तार किया गया। इस दौरान 230 विजीलैंस जाँच भी दर्ज की गई हैं, जिनमें 102 गैज़टिड अधिकारियों, 147 नॉन-गैज़टिड और 101 प्राईवेट व्यक्ति शामिल हैं।

 

विजीलैंस ब्यूरो के प्रमुख ने कहा कि इस जागरूकता सप्ताह के दौरान भ्रष्टाचार से निपटने सम्बन्धी ब्यूरो द्वारा किए जा रहे कार्यों संबंधी आम लोगों और विद्यार्थियों को जागरूक किया जाएगा और लोक सेवकों के दरमियान भ्रष्टाचार को ख़त्म करने के यत्नों में सहायता के लिए प्रेरित किया जाएगा।  सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाने सम्बन्धी समूह कर्मचारियों समेत ब्यूरो की रेंजों के सभी एसएसपीज़ को पहले ही निर्देश जारी कर दिए हैं। विजीलैंस अधिकारी शैक्षणिक संस्थानों और सरकारी दफ़्तरों में जागरूकता कार्यक्रम करवाएंगे। इसके अलावा पंच, सरपंच, ब्लॉक कमेटी और जि़ला परीषद् मैंबर भी इस मुहिम में शामिल होंगे।

श्री उप्पल ने बताया कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल के दौरान विजीलैंस ब्यूरो द्वारा 1 मार्च, 2017 से 30 सितम्बर, 2020 तक 425 ट्रैप लगा कर 559 दोषियों को रंगे हाथों काबू किया गया, जिनमें 47 गैज़टिड अधिकारी, 440 नॉन-गैज़टिड अधिकारी और 72 प्राईवेट व्यक्ति शामिल थे। इसके अलावा 75 गैज़टिड अधिकारियों, 156 नॉन-गैज़टिड अधिकारियों और 183 आम व्यक्तियों के विरुद्ध 123 अपराधिक मामले दर्ज किए गए थे। इसके अलावा, नाजायज़ जायदादों सम्बन्धी 16 मामले दर्ज किए गए, जिसके अंतर्गत 7 गैज़टिड अधिकारी और 9 नॉन-गैज़टिड कर्मचारियों को भी गिरफ़्तार किया गया। इस दौरान 230 विजीलैंस जाँच भी दर्ज की गई हैं, जिनमें 102 गैज़टिड अधिकारियों, 147 नॉन-गैज़टिड और 101 प्राईवेट व्यक्ति शामिल हैं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी बार एसोसिएशन की ओर से किसानों के हक में रैली निकाली गई सेना भर्ती रैली 7 दिसंबर से खन्ना में होगी शुरू पंजाबी सूफी सिंगर जयपाल का गाना बुल्ला रिलीज जीवन के इस पड़ाव में पंजाब और पंजाबियों संग संकुचित राजनीति करने से परहेज़ करें बादल: सिंगला बरनाला में बनेगा सुपर मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल मोहाली में ऐमिटी यूनिवर्सिटी कैंपस स्थापित करने को मंजूरी सरकारी और शैक्षिक संस्थानों की बसों को 31 दिसंबर तक मोटर व्हीकल टैक्स में 100 प्रतिशत छूट पंजाब में कोविड वैक्सीन का पहला टीका मैं लगवाऊंगा— कैप्टन की घोषणा नगर निगम का सैनटरी इंस्पेक्टर 5000 रुपए रिश्वत लेता काबू सात पुलिस कर्मियों विरुद्ध केस दर्ज, 65000 रुपए की रिश्वत लेने वाले 4 पुलिस कर्मी गिरफ्तार