ENGLISH HINDI Sunday, September 27, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
अबोहर तस्वीर के सम्पादक राजेश सचदेवा को भार्याशोककिसानों के गुस्से के आगे सिवल-पुलिस प्रशासन की हुई बस, व्यापारी डराकिसान आक्रोष: डेराबस्सी में जाम किया गया चंडीगढ़ दिल्ली हाईवेभारत में हर वर्ष मुंह के कैंसर के सवा लाख नए केस, मुंह के कैंसर के 80 प्रतिशत केसों का कारण तंबाकू: डा. राजन साहूडेराबस्सी में निर्माणाधीन दो मंजिला बिल्डिंग धराशाही, चार की मौत मुख्यमंत्री का निजी सहायक बनकर अधिकारियों और अन्यों को धोखा देने वाला सिपाही गिरफ्तारहरियाणा: पुलिस ने 3 बच्चों सहित चार लापता को परिवार से मिलवायाछात्रवृति योजनाओं की ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर
हिमाचल प्रदेश

आतंकी अज़हर मसूद को अंतररास्ट्रीय आतंकी घोषित होना भारत की जीत, मेरे स्वास्थय बारे गलत अफवाह फैलाई गई: नितिन गडकरी

May 02, 2019 08:16 PM

शिमला (विजयेन्दर शर्मा)।

केंद्रीय सडक़ और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने  पाकिस्तान में आश्रय लेकर छिपे आतंकी अज़हर मसूद को अंतररास्ट्रीय आतंकी घोषित किये जाने को भारत की सबसे बड़ी जीत करार दिया ।  उन्होंने कहा कि आतंकवाद के प्रति भारत के दृष्टिकोण का चीन ने भी इसका समर्थन  किया । सभी बडे देशों ने इसका समर्थन किया है ये हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी की जीत है । 

गडकरी ने कहा कि राहुल गांघी वाले मामले में भी कहा कि राहुल जैसे नेताओं को संवेदनशील विषयों को लेकर जनता में सही संदेश देने का काम करना चाहिए उनीद है कि इस तरह की बातों का भविष्य में धयान रखेंगे।  उन्होंने बताया कि हिमाचल में वह प्रचार के लिए आये थे।  व बुधवार को करीब 9000 फ़ीट की ऊंचाई पर जनसभा संबोधित किया है। लेकिन मीडिया में ये बताया गया कि मेर्री सेहत ठीक नही है। लेकिन ये सही नही है । गलत अफवाह फैलाई गई। 


शिमला में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के साथ पत्रकारों को संबोधित करते हुये गडकरी ने कहा कि मसूर अज़हर के मामले में जिस तरह से चीन का रुख था । उसे बदलने में प्रधानमंत्री नरेन्दर मोदी और सुषमा स्वराज ने अहम भूमिका निभाई है। आतंकवाद का कोई का कोई मज़हब नही होता दुनिया के लोग अब ये बात समझ गए है इसी का नतीजा है कि इसमें भारत को सफलता मिली है । 

 गडकरी ने कहा कि राहुल गांघी वाले मामले में भी कहा कि राहुल जैसे नेताओं को संवेदनशील विषयों को लेकर जनता में सही संदेश देने का काम करना चाहिए उनीद है कि इस तरह की बातों का भविष्य में धयान रखेंगे।  उन्होंने बताया कि हिमाचल में वह प्रचार के लिए आये थे।  व बुधवार को करीब 9000 फ़ीट की ऊंचाई पर जनसभा संबोधित किया है। लेकिन मीडिया में ये बताया गया कि मेर्री सेहत ठीक नही है। लेकिन ये सही नही है । गलत अफवाह फैलाई गई। 
गडकरी ने कहा कि दुनिया भर में सबसे बढिय़ा तकनीक वाली कंपनियों के साथ हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा वेंचर शुरू किया जा सकता है जिससे प्रदेश की पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवस्था बदल सकती है। वेबकोस कंपनी के साथ हिमकाचल सरकार वेबकोस कंपनी के साथ इस दिशा में अब पब्लिक ट्रान्सपोर्ट को बढिय़ा बनाने के लिए मिलकर प्रयास करेगी । प्रदेश के पब्लिक ट्रांसपोर्ट को आगे बढ़ाया जाएगा । स्काई बस जैसी सेवा शुरू की जा सकती है जिज़मे एक साथ 200 से ज्यादा यात्री सफर कर सकतें है  प्रदेश में तीन बड़े डैम बनाये जा रहे हैं जिज़मे लखवार का काम प्रगति पर है। किशाऊ में जल्द काम शुरू किया जाएगा । जिससे 700 मेगावाट बिजली उत्पादन किया जाएगा ।सडक़ो  को बनाने का काम तेजी से शुरू किया जाएगा । सात सुरेंगे बनाई जाएगी ,वहीं 69 नेशनल हाईवे की डीपीआर बनाने का काम प्रगति और है । 

भारत सरकार की तरफ से इलेक्ट्रिक बस चलाने के लिए लंदन के मॉडल को देख जा रहा है जिसको पर्यावरण मित्र मन जाता है । इस दिशा में हिमाचल में इस पर काम कियए जाना है ।  इस दिशा में प्रयज़ किये जा रहे है । इसके साथ ही हिमाचल में पानी और उतरने वाले विमान उतारने के लिए प्रयास किये जायेंगे । हिमाचल प्रदेश में अब चीड़ की पत्तियों के ज़रिए बायोडीजल तैयार किया जा सकता है जो पर्यावरण मित्र होने के साथ स्थानीय लोगों की आर्थिक उन्नति का आधार बनेगा- 

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
छात्रवृति योजनाओं की ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर साईकलिंग को बनायें स्वस्थ जीवन का हिस्सा आपदा स्थिति में त्वरित राहत एवं बचाव कार्यों से किया जा सकता है जानमाल की क्षति को कम ग्रामीण विकास कार्यों की रफतार बढ़ाने पर दें जोर: एडीसी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आई, हो रही है अब फसली नुकसान की भरपाई खांसी, बुखार, जुकाम जैसे लक्षण वाले व्यक्ति हेल्पलाईन नम्बर 104 या 1077 पर करें सम्पर्क 12 रूटों पर रात्रि बस सेवा आरम्भ की जाएंगी ट्रूनाट और रैपिड एंटीजेन टेस्ट तकनीक कोविड-19 की लड़ाई में बनी गेम चेंजर: सीएमओ कोविड-19 मरीजों का ईलाज कर रहे चिकित्सकों व पैरा-मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा भी सुनिश्चित होः मुख्यमंत्री आवश्यक वस्तुओं के परचून विक्रय मूल्य किए निर्धारित