ENGLISH HINDI Thursday, September 24, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

कुल्लू की नई डीसी डा. ऋचा वर्मा ने संभाला कार्यभार

June 04, 2019 09:36 PM

कुल्लू  ( विजयेन्दर  शर्मा )।

डा. ऋचा वर्मा ने आज बतौर उपायुक्त कुल्लू जिले का कार्यभार संभाला। भारतीय प्रशासनिक सेवा के 2012 बैच की अधिकारी डा. ऋचा वर्मा ने इससे पहले प्रदेश के विभिन्न जिलों में विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं। सबसे पहले उन्होंने ऊना जिला के हरोली में बतौर सहायक आयुक्त एवं खण्ड विकास अधिकारी अपनी सेवा आरम्भ की। इसके बाद एसडीएम डलहौजी, एसडीएम नाहन, अतिरिक्त उपायुक्त धर्मशाला व हमीरपुर की उपायुक्त रही।

  पत्रकारों से अनौपचारिक वार्तालाप के दौरान डाॅ. ऋचा वर्मा ने कहा कि सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों का प्रभावी क्रियान्वयन कर जिले के लोगों को लाभान्वित करना उनकी प्राथमिकता रहेगी। उन्होंने कहा कि लोगों की समस्याओं व शिकायतों के निराकरण को लेकर वह काफी संवेदनशील हैं और इस दिशा में सभी विभागों से सकारात्मक सहयोग की अपेक्षा करती हैं। उन्होंने कहा कि अंतिम छोर में बैठा अंतिम व्यक्ति सरकार की योजनाओं से वंचित नहीं रहना चाहिए और वह इस बात का विशेष ख्याल रखेगी। 

डाॅ. वर्मा ने कहा कि वह जिला विशेषकर शहरों व उप-नगरों में कचरा प्रबंधन पर विशेष रूप से कार्य करेंगी। इसके अलावा, महिलाओं से जुड़े मामलों, महिला सशक्तिकरण, शिक्षा, पर्यटन जैसे क्षेत्रों में नवाचार के कार्यों का बखूबी निष्पादन करेंगी। उन्होंने कहा कि कुल्लू-मनाली पर्यटन की दृष्टि से विश्व मानचित्र पर अंकित है, इसलिए आवश्यक हो जाता है कि इस क्षेत्र के लिए राज्य सरकार की योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाए। पर्यटन से हजारों लोगों का रोजगार जुड़ा है और राज्य सरकार ने इस क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक योजनाएं कार्यान्वित की हैं, और वह इन योजनाओं के क्रियान्वयन को गति प्रदान करने के पुरजोर प्रयास करेंगी। 

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
छात्रवृति योजनाओं की ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर साईकलिंग को बनायें स्वस्थ जीवन का हिस्सा आपदा स्थिति में त्वरित राहत एवं बचाव कार्यों से किया जा सकता है जानमाल की क्षति को कम ग्रामीण विकास कार्यों की रफतार बढ़ाने पर दें जोर: एडीसी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आई, हो रही है अब फसली नुकसान की भरपाई खांसी, बुखार, जुकाम जैसे लक्षण वाले व्यक्ति हेल्पलाईन नम्बर 104 या 1077 पर करें सम्पर्क 12 रूटों पर रात्रि बस सेवा आरम्भ की जाएंगी ट्रूनाट और रैपिड एंटीजेन टेस्ट तकनीक कोविड-19 की लड़ाई में बनी गेम चेंजर: सीएमओ कोविड-19 मरीजों का ईलाज कर रहे चिकित्सकों व पैरा-मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा भी सुनिश्चित होः मुख्यमंत्री आवश्यक वस्तुओं के परचून विक्रय मूल्य किए निर्धारित