ENGLISH HINDI Tuesday, August 11, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

पड़ोसी देशों में प्रताड़ना झेल रहे अल्पसंख्यकों के लिए विधेयक उम्मीद की किरण: ठाकुर

December 10, 2019 07:18 PM

धर्मशाला, (विजयेन्दर शर्मा) केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने नागरिक संशोधन बिल 2019 के लोकसभा में पास होने पर हर्ष जताते हुए इसे पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों के हित में मोदी सरकार द्वारा उठाया गया बड़ा क़दम बताया है व इस संशोधन बिल के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री श्री अमित शाह का आभार प्रकट किया है।
‪श्री ठाकुर ने कहा” प्रधानमंत्री व गृहमंत्री के अटल इरादों से पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों के माथे से चिंता की लकीरें मिट रही हैं। कल लोकसभा में नागरिक संशोधन विधेयक 2019 के पारित होने से पिछले कई वर्षों से पड़ोसी देशों में धार्मिक प्रताड़ना का दंश झेल रहे अल्पसंख्यक समुदाय के लिए नागरिक संशोधन विधेयक 2019 एक उम्मीद की किरण जगी है। आज़ादी के बाद हुए नेहरू-लियाक़त समझौते की गलती को सुधार कर मोदी सरकार द्वारा पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों को यहाँ नागरिकता देने का यह प्रशंसनीय प्रयास है।
आगे बोलते हुए ठाकुर ने कहा” भारत अपने पड़ोसी देशों के साथ हुए सभी समझौतों का पालन करने वाला एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है मगर हमारे पड़ोसी देशों ने सदैव भारत को धोखे में रख कर छलने का काम किया है। 1947 में पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की आबादी 23% थी जो 2011 में घटकर 3.7 % हो गई, 1947 में पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) में अल्पसंख्यकों की आबादी 22% थी जो 2011 में मात्र 7.8% रह गई। लाखों-करोड़ों शरणार्थी यातनाएं झेल रहे हैं। उन्हें सुविधाएं नहीं मिली, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाएं, नौकरी नहीं मिली, उन लोगों को यातनाओं से मुक्ति के लिए मोदी सरकार यह बिल लेकर आई है। देश की आजादी के बाद अगर कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश का विभाजन न किया होता, तो आज नागरिकता संशोधन बिल लाने की जरूरत नहीं पड़ती”।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
टी.जी.टी. टेट पास उम्मीदवार 25 अगस्त तक दर्ज करवायें भूतपूर्व सैनिकों के आश्रितों में अपना नाम आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा सहायिका के पद के साक्षात्कार 31 अगस्त को 12 व 13 अगस्त को बिजली आपूर्ति बाधित बगली फीडर में 14 अगस्त को बिजली बंद ‘एक जिला-एक उत्पाद’ की अवधारणा को लेकर बनाये जायेंगे कृषक उत्पादक संगठन हिमाचल ने ई-संजीवनी पोर्टल पर परामर्श पंजीकृत करने में तीसरा स्थान प्राप्त किया उचित मूल्य की दुकानों के लिये करें आवेदन हिमाचल: प्रदेशभर में रोपित होंगे 1 करोड़ 20 लाख पौधे: चौधरी धौला कुआं में आईआईएम का शिलान्यास राष्ट्रपति द्वारा शहीद के पिता की याचिका पर समुचित कार्यवाही का आश्वासन