ENGLISH HINDI Wednesday, April 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
शरीर कैसे छोडऩा है दादी पहले से ही कर ली थी प्लानिंग, दादी जी नही चाहती थी कि उनके शरीर छोडऩे पर ज्यादा खर्च होकोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसाबकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौतट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूटकोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठितमंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजरनिजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा
पंजाब

खबर का असर-पंजाब की जेलों से रिहा होंगे 6 हजार कैदी व हवालाती

March 26, 2020 09:14 PM

News impact of Face2News
  जेलों में सजा भुगत रहे कैदियों व हवालातियों की नहीं है फिक्र की हेडलाइन तले वीरवार को प्रकाशित हुई थी खबर।

अखिलेश बंसल, बरनाला।
पंजाब राज्य की जेलों में विभिन्न केसों में सजा भुगत रहे छ: हजार कैदी व हवालाती जल्दि ही रिहा हो जाएंगे। इस बात की पुष्टि प्रदेश के जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने की है। उन्होंने कहा है कि कैदियों को कोरोना वायरस से मुक्त रखने को लेकर उन्हें पैरोल पर रिहा किया जाएगा। गौरतलब हो कि यह कार्रवाई इस फेस 2 न्यूज वेब चेन्नल द्वारा जेलों में सजा भुगत रहे कैदियों व हवालातियों की नहीं है फिक्र की हेडलाइन तले प्रकाशित प्रकाशित की गई खबर के बाद ही हुई है।

वीरवार को ही प्रकाशित की थी खबर-
फेस 2 न्यूज वेब चेन्नल द्वारा जेलों में सजा भुगत रहे कैदियों व हवालातियों की नहीं है फिक्र की हेडलाइन तले प्रमुखता से खबर प्रकाशित की गई थी। जिसमें बताया गया था कि पंजाब प्रदेश की जेल बैरकों में बड़ी संख्या में कैदी व हवालाती विभिन्न केसों में सजा भुगत रहे हैं। जिनको सेहतमंद रखने के लिए सरकार व पुलिस प्रशासन कोई कदम नहीं उठाया है। सरकारों को चेताने के लिए बठिंडा व बरनाला के दो वकीलों ने वीडियो वायरल की है।

वीरवार को ही प्रकाशित की थी खबर-
फेस 2 न्यूज वेब चेन्नल द्वारा जेलों में सजा भुगत रहे कैदियों व हवालातियों की नहीं है फिक्र की हेडलाइन तले प्रमुखता से खबर प्रकाशित की गई थी। जिसमें बताया गया था कि पंजाब प्रदेश की जेल बैरकों में बड़ी संख्या में कैदी व हवालाती विभिन्न केसों में सजा भुगत रहे हैं। जिनको सेहतमंद रखने के लिए सरकार व पुलिस प्रशासन कोई कदम नहीं उठाया है। सरकारों को चेताने के लिए बठिंडा व बरनाला के दो वकीलों ने वीडियो वायरल की है।

 
बठिंडा के वरिष्ठ वकील रणधीर कौशल एवं बरनाला के युवा वकील करन अवतार कपिल ने सरकार को चेताया है कि देशभर की जेलों में जो कैदी व हवालाती सजा भुगत रहे हैं उनमें बहुत से सजायाफ्ता कैदी हैं और काफी संख्या में ट्रायल के आधार पर हवालाती बंद हैं। जेलों को सैनेटाईज करना तो दूर की बात कैदियों व हवालातियों तक के लिए अभी तक सैनेटाईजर व मास्क का प्रबंध तक नहीं किया जा सका है। कोरोना वायरस की गति को देखते यदि देश की किसी भी जेल में एक भी कैदी या हवालाती संक्रमित हो गया तो जेलों की स्थिती संभालना मुशिकल हो जाएगी। कैदी या हवालाती अपने अपने घरों में रहेंगे तो उनकी वहां बेहतरीन ढंग से देखभाल हो सकेगी।

वीरवार को बाद दोपहर किया ऐलान-
राज्य के जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने स्पष्ट किया है कि जेलों को एवं वहां सजा भुगत रहे कैदियों व हवालातियों को कोरोना वायरस से दूर रखने के मद्देनजर माननीय लीगल अथारिटी के चेयरमैन व माननीय पंजाब एंड हरियाणा उच्च न्यायालय के जज, सरकार के प्रिंसीपल सैक्रेटरी तथा पुलिस निदेशक के बीच बैठक हुई है। जिसके लिए देश की सर्वोच्य न्यायलय के आदेश जारी हुए थे। बैठक में लिए गए निर्णय के बाद फिल्हाल जिन सजायाफ्ता कैदियों व ट्रायल बेसड हवालातियों की सात साल से कम सजा रह गई है और जो कनविक्टेड हैं दोनों वर्गों के 6 हजार कैदियों को पैरोल पर रिहा करने का निर्णय लिया गया है। बाकी रहने वाले कैदियों व हवालातियों की व्यवस्था देखकर आगे निर्णय लिया जाएगा। क्यूंकि घर जाने का हर एक का मन करता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
कोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसा ट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूट कोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल निजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा कोरोना से बिना हथियार सीधी लड़ाई लड़ रहे योद्धा सेहत कर्मियों को आज मिलीं बचाव किट्टें ड्रोन से कफ्र्यू पर पुलिस की पैनी नजर सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए न तो समय और न ही जरूरत: कैप्टन का सुखबीर को जवाब कोविड-19 संकट के मद्देनजऱ निर्धारित बिजली दरों में कटौती का ऐलान सेवा कर मिसाल कायम करने वाले कर्मियों और अधिकारियों का किया जाएगा सम्मान कफ्र्यू के दौरान फीस मांगने वाले 22 स्कूलों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की शुरू: शिक्षा मंत्री