पंजाब

जिला बरनाला में कोरोना वायरस से हुई पहली मौत

April 09, 2020 10:31 PM

अखिलेश बंसल/करन अवतार, बरनाला।

मंगलवार के दिन लुधियाना के फोरटिस अस्पताल में 52 वर्षिय महिला सुरजीत कौर (काल्पनिक नाम) की मौत कोरोना वायरस के साथ हुई है। यह पुष्टि बरनाला के सिवल सर्जन डा. गुरिन्दरबीर सिंह ने की है। उन्होंने कहा है कि सुरजीत कौर को तेज बुखार और साँस लेने में दिक्कत आ रही थी जिस कारण उसे लुधियाना में भरती करवाया गया था। प्रशासन के आदेशों एवं सेहत विभाग की ओर से इस महिला के सैंपल लिए गए थे। जिसकी मैडीकल रिपोर्ट में कोविड-19 पॉजीटिव पाया गया है। सुरजीत कौर की मौत ने प्रदेश की मृतक सूचि में वृद्धि कर दी है।

सीएमओ ने जिला के महलकलां कस्बा निवासी महिला की लुधियाना के फोरटिस अस्पताल में कोविड-19 महामारी से हुई मौत की पुष्टि,लंबे समय से क्रॉनिक डिजीज की मरीज भी रह चुकी मृतक महिला का चार दिन पहले ही लुधियाना में शुरू हुआ था कोरोना से मिलते लक्ष्णों का ईलाज।

कसबावासियों को है शंका -
जिला बरनाला के कस्बा महलकलां के लोगों ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया है कि जिस सुरजीत कौर नामक महिला की मौत लुधियाना के फोरटिस अस्पताल में हुई है वह तो क्रॉनिक की मरीज थी। मौत से कुछ दिन पहले इस महिला को तेज बुखार और सांस लेने में तकलीफ जरूर हुई थी। क्योंकि सुरजीत कौर का देवर और देवरानी लुधियाना के फोरटिस अस्पताल में बतौर अटैंडेट और रिसेप्शनिस्ट के तौर पर तैनात हैं। जिन्होंने 6 अप्रैल के दिन सुरजीत कौर को फोरटिस लुधियाना में दाखिल करवा दिया था। जिसकी मंगलवार की रात को मौत हो गई थी।
कस्बा महलकलां के लोगों का कहना है कि लुधियाना प्रशासन को अभी तक सुरजीत कौर की कोई ट्रैवल व संपर्क हिस्ट्री पता नहीं लग सकी है। जिसके आधार पर अगर फिर से सैंपल लिए जाएं तो हो सकता है कि सही स्थिति का पता लग के।
सनद रहे कि लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर के निर्देशों पर डाक्टरों को सुरजीत कौर का पोस्टमार्टम करने से भी मनाह कर दिया गया था और सुरजीत कौर की मौत के कारण पता लगाने सेहत विभाग को कोविड -19 के सेंपल लेने के लिए कहा गया था।

बरनाला आईसोलेशन वार्ड में एक का चल रहा इलाज -
कस्बा महलकलां के ही गाँव कुतबा के एक पुलिस कर्मचारी के बेटे को बुद्धवार की सायं सिवल अस्पताल के अस्थाई आइसोलेशन केंद्र में भरती किया गया है। जिसके बारे में कोरोना पॉजेटिव मरीज के संपर्क में आने की सूचना थी। कोरोना शाखा के नोडल अधिकारी डाक्टर मुनीश कुमार ने बताया है कि विभाग को सूचना मिली थी कि यह नौजवान किसी कोरोना पॉजिटिव तबलीगी जमात के संपर्क में रहा है। इसके सैंपल लेकर जांच के लिए पटियाला भेज दिए हैं। बताया गया है कि यह नौजवान सिक्ख भाईचारे से संबन्धित है परन्तु यह 2 साल पहले तबलीगी जमात के प्रभाव में रहने के बाद सिक्ख धर्म छोड़ कर मुस्लिम धर्म अपना चुका था। मामला गुप्त रहने से इस नौजवान की तलाश के लिए पुलिस -प्रशासन को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

सेखा रोड निवासी महिला मरीज अभी भी जेरे इलाज -
2 अप्रैल को बरनाला के सेखा रोड निवासी कोरोना पॉजिटिव पाई गई महिला अभी भी जेरे इलाज है। उसकी बेटी के दोबारा से सेंपल लिए गए हैं, जबकि उसके पति और मकान मालिक परिवार के टैस्ट नेगेटिव आ चुके हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पंजाब में भी होंगी गुरुकुल शिक्षा केंद्रों की स्थापना शराब के ग़ैर-कानूनी कारोबार और तस्करी जांच के लिए विशेष जांच टीम के गठन का ऐलान माह तक 6 एमसीएच अस्पताल कार्यशील कर दिए जाएंगे: सिद्धू संगरूर के कैप्टन करम सिंह नगर के लोग कर सकेंगे आधुनिक मशीनों से कसरत पकड़ा गया नशा तस्कर निकला कोरोना संक्रमित, पुलिस में मचा हड़कंप कैमिकल फैक्ट्री में बिना मंजूरी खड़ी कर दी तीन मंजिला बिल्डिंग लापरवाही: अस्पताल से रैफर हुई नवजन्मी बच्ची को लिटाया कोरोना सैंपल ले जा रही वैन में कांग्रेसी नेता के पुत्र की मौत पर शोक की लहर, अंतिम संस्कार अधिकारियों/कर्मचारियों की तरक्की जल्द करने के आदेश कोविड संकट दौरान सिविल डिफेंस द्वारा जरूरतमन्दों को दवाएं पहुंचाने का सिलसिला जारी