ENGLISH HINDI Saturday, November 28, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
क्या विकलांगता केवल शारीरिक ही होती है?बीएमसी ने बदले की भावना से तोड़ा था कंगना का ऑफिस, करनी होगी नुकसान की भरपाई: बॉम्बे हाईकोर्टविंटेज वाहन पंजीकरण हेतु प्रस्तावित नियमों पर जनता से मांगी गईं टिप्पणियांयातायात भीड़ और प्रदूषण कम करने के लिए मोटर वाहन एग्रीगेटर दिशानिर्देश जारीकोविड—19: 70 प्रतिशत सक्रिय मामले महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ मेंसड़क दुर्घटना में प्रदर्शनकारी की गई जान, मामला दर्जनगर परिषद अध्यक्ष हेतु चुनाव खर्च सीमा 15 लाख और नगरपालिका अध्यक्ष के लिए 10 लाख रुपये निर्धारितपंजाब गऊ सेवा आयोग द्वारा राज्य के सभी उपायुक्तों को दिशा-निर्देश जारी
चंडीगढ़

प्रधानमंत्री पद की गरिमा तार तार कर रहे मोदी, कांग्रेस नेता ने लगाया आरोप

October 25, 2020 03:58 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज 

बिहार चुनाव में झूठ के अंबार लगे हैं। हमारे प्रधान सेवक और चौकीदार झूठ का एक और स्तंभ गाड़ आए हैं या यूं कहें कि एक और चुनावी जुमला उछाला है। यह बात कहते हुए कांग्रेस के सीनियर लीडर और आर्ट एंड कल्चर तथा स्पोर्ट्स सेल के प्रधान परमजीत सिंह ने जमकर पीएम को लताड़ा। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री पद पर बैठे व्यक्ति को अपना नहीं तो कम से कम पद की गरिमा का तो ध्यान रखना चाहिए और ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूं कि पिछले चुनावों में बिहार की जनता को केंद्र सरकार ने 70000 करोड़ का विशेष पैकेज देने का चुनावी जुमला दिया था, जो आज भी हवा में है। 

इस बार भी छगन के पैसे जगन को देकर दोनों को "मगन" रहने की नीति पर चलते हुए राजनीतिक रैलियां कर रहे हैं। इसको अब समझिए कि जगन, छगन मगन क्या है ? दरअसल एक बड़ा ही कर्णप्रिय नारा प्रधान सेवक ने उछाला है कि सरकार बिहार के लोगों को एक ऐसी कोरोना वैक्सीन (जो अब तक बनी नहीं) मुफ्त उपलब्ध करवाएगी। अब समझने की बात यह है कि आज तलक भी राज्य सरकारों को केंद्र सरकार मुफ्त में ही वैक्सीन उपलब्ध कराती आई है तो अब क्या नया और अनोखा होने वाला है, जो देश के प्रधान सेवक वैक्सीन मामले में करने वाले है यानी 'छगन' केंद्र सरकार 'जगन' राज्य सरकार तो जनता 'मगन' रहे और इनकी कारगुज़ारियों पर अपनी कोई टीका टिप्पणी ना करें।

अगर मुहावरों के संदर्भ को समझें तो "हींग लगे न फिटकरी रंग भी चोखा" इसका जीवंत उदाहरण प्रधान सेवक जी ने दिया और यकीनी तौर पर 15 लाख रुपए हर व्यक्ति को, बीस लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज, सस्ता पेट्रोल, सस्ता डीजल, सस्ती दालें, सस्ती सब्जियां, सस्ती गैस, सस्ता परिवहन साधन, करोड़ों नौकरियां, स्किल वर्करों को कामकाज, हर एक को घर जैसे वादे, चुनावी जुमले साबित हुए।

 
अगर मुहावरों के संदर्भ को समझें तो "हींग लगे न फिटकरी रंग भी चोखा" इसका जीवंत उदाहरण प्रधान सेवक जी ने दिया और यकीनी तौर पर 15 लाख रुपए हर व्यक्ति को, बीस लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज, सस्ता पेट्रोल, सस्ता डीजल, सस्ती दालें, सस्ती सब्जियां, सस्ती गैस, सस्ता परिवहन साधन, करोड़ों नौकरियां, स्किल वर्करों को कामकाज, हर एक को घर जैसे वादे, चुनावी जुमले साबित हुए।

बिहार के चुनावों में यह वादे और दावे भी हवा भरे गुब्बारे की तरह ही फिसड्डी साबित होंगे । परमजीत सिंह ने बिहार की जनता तथा हर वोटर से यह अनुरोध किया है कि झूठे वादे और खोखले दावे करने वाले राजनीतिज्ञ से सोशल डिस्टेंस की तहत सामान्य दूरी बनाए रखें तथा धार्मिक सामाजिक और नैतिक उन्माद फैलाने वाले लोगों को वोट ना देकर, उन लोगों को चुने जो दुख, दर्द और तकलीफ में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहें और उनकी यथासंभव मदद कर सकें। और बिहार को एक आदर्श राज्य बना कर आने वाली पीढ़ियों बेहतर भविष्य प्रदान कर सकें।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
गुरुपर्व के पावन पर्व पर समाजसेवी संस्थाओं ने कुष्ठ आश्रम और वृद्धा आश्रम में बांटे फल संविधान गतिहीन नहीं, एक जीवंत दस्तावेज़ है मांगों के समर्थन में आयकर विभाग कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा प्रेस क्लब चुनाव में कड़ा मुकाबला होने के आसार कोविड-19 महामारी के दौरान एंटीबायोटिक दवाओं का दुरुपयोग हो सकता है हानिकारक : डॉ.शिवानी जुनेजा गुरुपर्व पर नगर कीर्तन निकालने की प्रशासन ने दी मंजूरी, सरकारी नियमों की नही होगी अवहेलना चंडीगढ़ सेक्टर-42 की लेक पर छठ पूजा के लिए पहुंचे भारी संख्या में व्रती कम वेतन पाने वाले सफाई श्रमिक की मौत , यूनियन ने ठहराया जी.एम.सी.एच -32 अस्पताल प्रशासन, ठेकेदार व सुपरवाइजर को जिम्मेदार विश्वविख्यात रॉक गार्डन लंबेे इंतजार के बाद फिर खुला सर्वहितकारी शिक्षा समिति द्वारा प्राथमिक कक्षाओं के आचार्यों की प्रशिक्षण कार्यशाला