ENGLISH HINDI Saturday, July 02, 2022
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
इश्क में अंधी महिला ने प्रेमी संग मिल पति को मार डालाहिमाचल में अगली सरकार कांग्रेस की बनेगी, पार्टी एकजुट है: सुखविंदर सिंह सुक्खूइनर व्हील क्लब ने क्रेच के बच्चों के लिए दन्त चिकित्सा शिविर लगाया 'गो मैन-गो फेस्टिवल' फ्राम आर्गेनिक फार्मिंंग शुरू, 24 जुलाई तक चलेगापांच शूटरों सहित गिरफ्तार किये व्यक्तियों से 9 हथियार और 5 वाहन बरामदठेका आधारित कर्मियों की सेवाएं रेगुलर करने के लिए तीन सदस्यीय कैबिनेट कमेटी का गठनबारिश से शमशान घाट में रुके संस्कार, युवा कांग्रेस ने की एसडीओ को सस्पेंड करने की मांगशाह जी बाबा नौ गजा पीर जी का 27वां वार्षिक उर्स मुबारक मेला आयोजित
चंडीगढ़

पुरूषों को अवसाद मुक्त जीवन जीने के लिए प्रेरित करती है ब्रह्मकुमारी संस्था: बंडारू दत्तात्रेय

April 23, 2022 09:07 PM

चंडीगढ, फेस2न्यूज:

हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा ब्रह्मकुमारी एक ऐसी संस्था है, जिसमें अधिकतर बहनों की होने के बावजूद भी वे पुरूषों को अवसाद मुक्त जीवन जीने के लिए प्रेरित करती है।

राज्यपाल आज चंडीगढ में ब्रह्मकुमारी संस्था द्वारा ‘अस्थिर जगत में स्थिर रहने’ पर आयोजित सेमिनार उद्घाटन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इस सेमिनार में जीवन मूल्यों, आंतरिक शक्ति, स्वयं प्रबन्धन, रिश्तों में समरसता तथा कर्म-फल व्यवस्था को समझाने की आवश्यकता है।

ब्रह्माकुमारी शिवानीn ने मनःस्थिति और परिस्थिति के बारे में जागरूक रहने की बात कही| कोविड महामारी हो या कोई देश आपस में युद्ध की स्थति बनाएं या फिर श्रीलंका जैसे आर्थिक मंदी का दौर ही क्यों न हो, समय ने एक बात तो हम सबको सिखा दी की प्रकृति में परिवर्तन कब आ जाए और परिस्थिति कब कैसे परिवर्तित हो जाए, कब अनुकूल कब प्रतिकूल हो जाए इस पर इंसान की बुद्धिमत्ता या विज्ञान का बहुत ज़ोर नहीं 

राज्यपाल ने कहा कि जब भारत पूरी दुनिया की तरफ देखता था तो कोविड-19 के दौरान भारत में निर्मित कोवैक्सीन से दुनिया भारत की ओर देखने लगी जिसपर हमने अच्छी प्रकार से नियंत्रण पाया है। इसके लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया।

उन्होंने ब्रह्माकुमारीज संस्था से अपील करते हुए कहा कि वे नशा मुक्ति की ओर विशेष ध्यान देते हुए ग्रामीण पृष्ठभूमि की महिलाओं को साथ में जोड़ें।

ब्रह्माकुमारी शिवानी बहन ने अपने वक्तव्य में मनःस्थिति और परिस्थिति के बारे में जागरूक रहने की बात कही| कोविड महामारी हो या कोई देश आपस में युद्ध की स्थति बनाएं या फिर श्रीलंका जैसे आर्थिक मंदी का दौर ही क्यों न हो, समय ने एक बात तो हम सबको सिखा दी की प्रकृति में परिवर्तन कब आ जाए और परिस्थिति कब कैसे परिवर्तित हो जाए, कब अनुकूल कब प्रतिकूल हो जाए इस पर इंसान की बुद्धिमत्ता या विज्ञान का बहुत ज़ोर नहीं है|

परिवर्तन ही एकमात्र अटल सूत्र है और बहुत बार परिवर्तन अचानक होता है, मौका नहीं देता संभलने का| अचानक कोविड आया हम तैयार नहीं थे, अचानक युक्रेन पर हमला हुआ देश तैयार नहीं था, श्रीलंका में आर्थिक मंदी आयी जिससे निपटने को कोई तैयारी न थी|

इस अवसर पर ब्रह्मकुमारी बहन शिवानी, राजयोगिनी बी के उत्तरा दीदी, बी के मोहिन्दर भाई तथा बी के अनिता बहन सहित बडी संख्या में उपासक मौजूद थे।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
इनर व्हील क्लब ने क्रेच के बच्चों के लिए दन्त चिकित्सा शिविर लगाया बारिश से शमशान घाट में रुके संस्कार, युवा कांग्रेस ने की एसडीओ को सस्पेंड करने की मांग शाह जी बाबा नौ गजा पीर जी का 27वां वार्षिक उर्स मुबारक मेला आयोजित अभिनंदन समारोह: साधु, संतों और महात्माओं का मुनि सभा द्वारा भव्य स्वागत किया गया ब्रह्मलीन श्री सतगुरु देव श्री श्री 108 श्री मुनि गौरवानंद गिरि जी महाराज की 35वीं पुण्य बरसी समारोह विश्व हिंदू परिषद ने भावनाओं को आहत करने वालों के खिलाफ दी शिकायत वर्ल्ड डी एडिक्शन डे के उपलक्ष्य में "नशे से मुक्ति" नुक्कड़ नाटक का आयोजन अग्निकांड से तबाह हुई फर्नीचर मार्केट के पुनर्वास की मांग सीआरपीएफ जवानों को योग को अपनी दैनिक दिनचर्या में शामिल करने के लिए प्रेरित किया योग दिवस के अवसर पर छात्रों को बताया योग का महत्व