खेल

माईसरखाना में 31वीं जूनियर नेशनल नेटबॉल चैंपिअनशिप का शानोशौकत के साथ आग़ाज़

January 27, 2019 07:03 PM
माईसरखाना /बठिंडा,  अखिलेश बांसल
ज़िला बठिंडा के माईसरखाना में इतवार को 31वीं जूनियर नेशनल नेटबॉल चैंपिअनशिप (लड़के /लड़कियां) का शानोशौकत के साथ आग़ाज़ हुआ हैं। मुख्य मेहमान के तौर पर शामिल हुए राज्य के कैबिनेट मंत्री - खेल विभाग और युवक सेवाएं पंजाब सरकार माननीय राणा गुरमीत सिंह सोढी ने इस चार रोज़ा राष्ट्रीय चैंपिअनशिप और साथ ही प्रान्त की पहली नेटबॉल खेल अकैडमी का उद्घाटन अपने कर कमलों के साथ किया। इस मौके उनके साथ नैटबाल फेडरेशन आफ इंडिया (एनएफआई) के महा सचिव हरी ओम कौशिक भी शामिल हुए। 

कैबिनेट मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी (खेल और युवक सेवाएं विभाग पंजाब) ने किया चैंपिअनशिप के साथ ही किया प्रांत की पहली नेटबॉल खेल अकैडमी का उद्घाटन, देशभर से 28 प्रांतों की टीमों के (अंडर -19) खिलाड़ियों ने दी सलामी। 

 
 
 
 
 
ज़िला बठिंडा के माईसरखाना स्थित नेटबॉल स्टेट पंजाब स्पोर्टस अकैडमी में पहुँचे मुख्य -मेहमान का स्वागत पुलिस बैंड का नेतृत्व में हुआ। मुख्य मेहमान की तरफ से झंडा लहराने, शान्ति के प्रतीक सफ़ेद कबूतर और रंग -बिरंगे ग़ुब्बारे आसमान में छोड़ने की रस्म अदा की गई। देशभर से 28 प्रांतों की टीमों के (अंडर -19) खिलाड़ियों की तरफ से मार्च के पास्ट किया गया। मुख्य मेहमान राणा सोढी ने स्पोर्ट्स ग्राउंड में जा कर एक बॉल नैट में डालकर चैंपिअनशिप को हरी झंडी दी। यह चैंपिअनशिप 30 जनवरी तक जारी रहेगी।
 
चैंपिअनशिप के बारे में जानकारी देते हुए  नेटबॉल  प्रोमोशन एसोसिएशन (रजि.) पंजाब के महा सचिव एडवोकेट करन अवतार कपिल ने बताया कि  नेटबॉल  प्रोमोशन एसोसिएशन (रजि.) पंजाब, नेटबॉल फेडरेशन आफ इंडिया (एनएफआई) के साथ संयुक्त है। जबकि एनएफआई, इंटरनेशनल नैटबाल फेडरेशन, एशियन नैटबाल फेडरेशन और भारतीय ओलम्पिक संघ के साथ संयुक्त और युवक मामले और खेल मंत्रालय, भारत सरकार से मान्यता प्राप्त है। इस चैंपिअनशिप में भाग लेने के लिए पंजाब, चण्डीगढ़, हरियाणा, हिमाचल, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उड़ीसा, महाराष्ट्र, गोआ, जम्मू -कश्मीर, दिल्ली, झारखंड, तेलंगाना, गुजरात, छत्तीसगड़, कर्नाटका, केरल, बिहार, तामिलनाडु, पश्चिमी बंगाल, सिक्कम, मिजोरम, मध्य प्रदेश, मनीपुर, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, उडीसा, असाम, नागालैंड, पांडेचरी समेत 28 प्रांतों  से खिलाड़ी पहुँचे हैं। 
मुख्य मेहमान राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से मिशन तंदरुस्त पंजाब के अंतर्गत खेल को प्रोमोट किया जा रहा है। जिस के साथ पंजाब अंदर नशे का ख़ात्मा हो सका है। उन्होंने कहा कि खेल में भाग लेने के लिए देशभर से पहुँचे खिलाड़ियों को  नेटबॉल खेल को शक्ति मिलेगी। इस के साथ दूसरे बच्चों में भी खेलों में भाग लेने की रुचि बढ़ेगी। मंत्री साहिब ने नेटबॉल आयोजकें को चैंपिअनशिप के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि  नेटबॉल एक्टिव गेम है, यहाँ शुरू हुई चैंपिअनशिप को देखकर ही  नेटबॉल खेल के गुणों की जानकारी मिली है। पहले बॉस्केटबाल को ही महिलाएं की खेल मानी जाती थी। परन्तु नेटबॉल खेल को महिला और पुरुष दोनों वर्ग खेल सकते हैं।  
इस मौके उपस्थित हुई शख़्सियतों में करतार सिंह असिस्टेंट स्पोर्टस डायरैक्टर पंजाब,   एसडीएम बठिंडा अमरिन्दर सिंह टिवाना, गुरविन्दर पाल सिंह बराड़, फतेह पाल सिंह, एडवोकेट विजय ऋषि, एडवोकेट रणधीर कौशल, प्रिंसिपल महेन्दर कुमार, मालवा प्रांतिया ब्राह्मण सभा रजि. माईसरखाना के प्रधान लाभ राम शर्मा, वाइस प्रधान नरेश कुमार, ज. सचिव बीरबल दास, केशियर भूपिंदर शर्मा, पवन कुमार, प्राचीन दुर्गा मंदिर समिति की तरफ से महिंद्र पाल मौजी, सवरनकार दुर्गा मंदिर समिति माईसरखाना, गुरुद्वारा प्रबंधक समिति माईसरखाना, गुरदित्ता सरपंच माईसरखाना, मुनीश शर्मा बठिंडा आदी विशेष तौर पर उपस्थित हुए।  
इस तरह शुरू हुए नैटबाल मैच -
(लड़के वर्ग)-
*चण्डीगढ़ की टीम ने 13 गोल और करनाटक की टीम ने 16 गोल करके जीत हासिल की।
*मध्य प्रदेश ने 18 गोल किये और झारखंड को सिर्फ़ 6 गोल ही करने दिए।
*गुजरात ने 18 गोल किये जबकि पश्चिमी बंगाल को सिर्फ़ 13 गोल ही करने दिए।
 (लड़कियाँ वर्ग)-
*पंजाब की टीम का जे.ऐंड.के. की टीम के साथ मुकाबला हुआ। जिसके दरान पंजाब की टीम ने 31 गोल किये जबकि जम्मू -कश्मीर की टीम को मात्र 1गोल ही करने दिया। 
*केरल ने 16 गोल किये जबकि तामिलनाडु को सिर्फ़ 1गोल पर ही समेट दिया। 
*कर्नाटका की टीम ने 20 गोल किये जिसने उड़ीसा की टीम को सिर्फ़ 5 गोल ही करने दिए।  
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और खेल ख़बरें