ENGLISH HINDI Friday, April 03, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मरकज की तब्लीगी जमात से लौटे छह नागरिकों की पहचान: डीसी सोशल डिस्टेंसिंग से ही बचा जा सकता है कोरोना सेनेतागिरी चमका रहे राजसी नेताओं पर नहीं कसा जा रहा शिकंजाकोविड-19 से लड़ने में युद्ध स्तर पर जुटे सीएसआईआर के वैज्ञानिकराष्ट्रपति करेंगे राज्यपालों, लेफ्टिनेंट गवर्नरों एवं राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश प्रशासकों के साथ कोविड-19 पर चर्चादेश के 410 जिलों में कराया गया राष्‍ट्रीय कोरोना सर्वेक्षण जारीलक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने जरूरतमन्द लोगों में भोजन बांटालॉक डाउन: डोर टू डोर गार्बेज कलेक्टर यूनियन ने प्रधानमंत्री को समस्याओं और मांगों से ट्वीट कर करवाया अवगत
 
 
एस्ट्रोलॉजी
होलाष्टक रहेगा 3 मार्च से 9 मार्च तक, जानिए क्यों नहीं करते इसमें शुभ कार्य ?

फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी से लेकर होलिका दहन तक की अवधि को शास्त्रों में होलाष्टक कहा गया है। होलाष्टक शब्द दो शब्दों का संगम है। होली तथा आठ अर्थात 8 दिनों का पर्व ।यह अवधि इस साल 3 मार्च से 9 मार्च तक अर्थात होलिका दहन तक है।

117 साल बाद फिर बना शिवरात्रि पर विशिष्ट दुर्लभ संयोग

ग्रहों की चाल भी अजीब होती है। इक्कीस फरवरी 2020 को पड़ने वाली महाशिवरात्रि पर वही ग्रह होंगे जो 117 वर्ष पूर्व 1903 में थे जब कालका - शिमला रुट पर टवाय ट्रे्न चली थी। इस बार दुर्लभ संयोग इस लिए बन रहे हैं कि शनि अपनी स्वराशि मकर में , शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में , गुरु स्वराशि धनु में और राहु अपनी मूल त्रिकोण राशि मिथुन में विराजमान रहेंगे।

21वीं सदी के दूसरे दशक का पहला उपच्छाया चंद्रग्रहण 10/ 11 जनवरी को कैसा रहेगा 2020 आप और देश के लिए ? 26 दिसंबर , वीरवार , पौष अमावस पर वर्ष का अंतिम सूर्य ग्रहण लाएगा अप्रत्याशित ठंड मलमास के कारण 13 दिसंबर ,2019 से 22 जनवरी 2020 के मध्य विवाह के मुहूर्त नहीं चुटकी भर नमक की कीमत तुम क्या जानो जनाब ? गुरु बृहस्पति आपके भाग्य को कैसे बदलेंगे 29 अक्तूबर, मंगलवार , दोपहर 1.11 से लेकर 3.23 तक मनाएं भैया दूज दीवाली के पंच पर्व, दिवाली पर कब करें लक्ष्मी पूजा? दिवाली पर लक्ष्मी पूजा की विधि संतान की मंगलकामना के लिए अहोई अष्टमी का व्रत 21 अक्टूबर को 30 साल बाद शरद पूर्णिमा पर बेहद दुर्लभ योग : 13 अक्टूबर, रविवार को मनाई जाएगी 17 अक्तूबर को करवा चौथ में ग्रहों का कोेई संशय नहीं देशभर से 11 से जुटेंगे नामी ज्योतिषी और आयुर्वेदाचार्य, जो बताएंगे भविष्य और नाड़ी देख कर सेहत 6 अक्तूबर श्री दुर्गा अष्टमी पर व्रत रखने व कन्या पूजन का समय 29 सितंबर से आरंभ होने वाले शारदीय नवरात्र इस बार पूरेे 9 दिन लक्ष्य ज्योतिष संस्थान के निशुल्क ज्योतिष कैंप में लोगों ने कुंडली दिखा जाना भविष्य श्राद्ध पक्ष. 13 सितंबर से 28 सितंबर तक, श्राद्ध एक दिन कम होगा,क्यों करें श्राद्ध ? दो से 12 सितंबर तक मनाएं श्री गणेश जन्मोत्सव, रखें सिद्धि विनायक व्रत, न करें चंद्र दर्शन जन्माष्टमी 23 या 24 अगस्त की ? ज्योतिष के अनुसार 23 अगस्त , शुक्रवार को ही जन्माष्टमी मनाना रहेगा सार्थक, श्रेष्ठ एवं शास्त्र सम्मत राखी बांधें गुरुवार सुबह से सायं 6 बजे तक भद्रा रुपी ‘धारा’ लागू नहीं 11 अगस्त से मार्गी हो रहे गुरु का कैसा रहेगा प्रभाव ? इस बार नाग पंचमी पूरे 125 सालों बाद सावन के तीसरे सोमवार हरियाली तीज-3 अगस्त को, विवाहित महिलाएं नए कपड़े, गहने पहन कर जातीं हैं अपने मायके चंद्र यान - 2 पर चंद्र ग्रहण क्यों है 2019 का सावन खास ? चंद्र ग्रहण- 16/17 जुलाई को, जानें पौराणिक एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण देवशयनी एकादशी 12 जुलाई को, चातुर्मास का आरंभ डिजाइनर बेबी या सिजेरियन संतान? क्या नीच मंगल देश में किसी आने वाले अमंगल का सूचक है ? कैसे और क्यों मनाएं निर्जला एकादशी ? गोधूलि वेला , गुरुवार , 8वीं लग्न में गुरु के समय मोदी का शपथ ग्रहण