ENGLISH HINDI Monday, August 10, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कमलम् में हुए कार्यक्रम में नियमों की धज्जियां उड़ाने पर राज नागपाल ने की कड़ी निंदाचंडीगढ़ नगर निगम के कर्मचारी काम छोड़ कलाई की घड़ियों का करेंगे विरोध भारतीय क्रिएटिव यूनिटी ने उठाया वायरल डर को लेकर जागरूकता का बीड़ारेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंगभाजपाइयों द्वारा कोविड नियमों की अवेहलना करने पर ग्रह मंत्रायल से की शिकायतस्वतंत्रता दिवस पर देखो अपना देश वेबिनार श्रृंखला के अंतर्गत पांच वेबिनारों का आयोजनजिन विक्रेताओं के पास पहचान पत्र और विक्रय प्रमाणपत्र नहीं, उन्हें पीएम स्वनिधि योजना में शामिल करने हेतु अनुशंसा पत्र मॉड्यूल लॉन्चजो पढ़ेगा वो लिखेगा, जो लिखेगा वो बचेगा
मनोरंजन

भोजपुरी और पंजाबी फिल्मों की तर्ज परहरियाणवी फिल्में बनाना जरूरी: सतीश कौशिक

May 03, 2019 09:54 PM
चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री।
हरियाणवी फिल्म छोरीआ छोरो से कम नहीं होती-महिला सशक्तिकरण पर आधारित हेै जो छोरी -छोरे के प्रति भेदभाव को दूर करने को प्रेरित करेगी । हरियाणा की संस्कृति रिच है । यहॉ चंद्रावन, पगड़ी,सतरंगी, दंगल, तनु वेड्स मनु जैसी फिल्मों की सफलता के बाद, जिसने हरियाणवी भाषा को व्यापक रूप से लोकप्रिय बना दिया है।
भोजपुरी और पंजाबी फिल्मो की तर्ज पर हरियाणवी फिल्में बनाना बहुत जरूरी हो गया है।यही सोचकर हरियाणवी भाषामें इंटरट्रेनिंग फिल्म बनाई है । यह विचार प्रसिद्धअभिनेता सतीश कौशिक ने  पत्रकारो सेरूबरू होकर व्यक्त किये वह आज अपनी पूरी टीम के साथ चंडीगढ़ ऐलांते मॉल में  आये हुए थे । आज यहॉ पीवी आर में फिल्म के टेलर लॉच किया गया तथा फिल्म 17 मई 2019 को रिलीज होने की घोषणा की गई। राजेश अमरलाल बब्बर द्वारा निर्देशित इस फिल्म में सतीश कौशिक, अनिरुद्ध दवे, रश्मि सोमवंशी मुख्य भूमिकाओं में हैं।
फिल्म महिलाओं और लैंगिक समानता को सशक्त बनाने के विचार को स्थापित करती है। युवां कलाकार अनिरुद्ध दवे विकास के लीड रोल  में है। इसके अलावा वह सोनी पर आ रहे पटियाला वेव सीरियल में थानेदार हनुमान सिंह के दबंग रोल में पहले ही काफी लोकप्रिय हैं।जी स्टूडियो के सीईओ शारिक पटेल ने कहा, हम अपनी पहली हरियाणवी फिल्म पेश करने के लिए सतीश कौशिक से हाथ मिला कर खुश हैं, जो एक मार्मिक कहानी है जो हमारे समाज में लैंगिक समानता के महत्व को स्थापित करती है।
निर्देशक राजेश अमरलाल बब्बर ने कहा, फिल्म नारी सशक्तीकरण के इर्द-गिर्द घूंमती है और न केवल हरियाणा में, बल्कि दुनिया के बाकी हिस्सों में यह संदेश फैलाने के लिए एक साहसिक कदम उठाती है कि एक लडक़ी का बच्चा जीवन के किसी भी क्षेत्र में किसी लडक़े से कम नहीं है। निर्माता निशांत कौशिक कहते हैं, हाल के वर्षों में, क्षेत्रीय सिनेमा ने सीमा में वृद्धि की है। हम द सतीश कौशिक एंटरटेनमेंट, जस्टूडियो के साथ, हरियाणवी फिल्म उद्योग की स्थापना के अपने सपने को आगे बढ़ाना चाहते हैं । 
 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और मनोरंजन ख़बरें
वायरल ओरिजिनल्स ने अकुल के नए गीत ‘बहाना’ को किया लॉकडाउन में बिछड़े लवर्स को समर्पित यूनिवर्सल म्यूजिक ग्रुप ने नामी इंडियन म्यूजिक कंपनी देसी मेलोडीज से की ग्लोबल भागेदारी की घोषणा स्टार अकेडमी की स्टार रुची महाजन नेटफिक्स सिरीज बुलबुल मे दिखेंगी म्यूजिक कंपोजर मिथुन ने एमएक्स प्लेयर के टाइम्स ऑफ म्यूजिक पर खुलासा किया- कैसे बना “तुम ही हो” गाना कुछ ऐसा बनाने की कोशिश— जो मूड को करेगा शांत: माईल मनु सिंह अब म्यूजिक ट्रैक "तेरे हंजू" में नए अवतार में अवकाश मान ने अपना नया ट्रैक ’जट्ट दी स्टार’ लॉकडाउन में फ्रंट पर काम करने वाले हीरोज को किया समर्पित अवकाश मान वायरल औरिजिनल के साथ 14 मई को लॉंच करेंगे दूसरा पंजाबी ट्रैक जट्ट दी स्टार अपने नए पंजाबी ट्रैक -ड्रीम- के प्रचार हेतु माणिक भटेजा पहुंचे सिटी ब्यूटीफुल छुप छुप कर किए थियेटर से हासिल किया मुकाम : मनु सिंह