ENGLISH HINDI Saturday, November 28, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
क्या विकलांगता केवल शारीरिक ही होती है?बीएमसी ने बदले की भावना से तोड़ा था कंगना का ऑफिस, करनी होगी नुकसान की भरपाई: बॉम्बे हाईकोर्टविंटेज वाहन पंजीकरण हेतु प्रस्तावित नियमों पर जनता से मांगी गईं टिप्पणियांयातायात भीड़ और प्रदूषण कम करने के लिए मोटर वाहन एग्रीगेटर दिशानिर्देश जारीकोविड—19: 70 प्रतिशत सक्रिय मामले महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ मेंसड़क दुर्घटना में प्रदर्शनकारी की गई जान, मामला दर्जनगर परिषद अध्यक्ष हेतु चुनाव खर्च सीमा 15 लाख और नगरपालिका अध्यक्ष के लिए 10 लाख रुपये निर्धारितपंजाब गऊ सेवा आयोग द्वारा राज्य के सभी उपायुक्तों को दिशा-निर्देश जारी
खेल

एशिअन यूथ नेटबॉल चेंपियनशिप मे भारतीय नेटबाल महिला टीम बना सकती थी मेडल टैली मे जगह...... अगर वक्त पर मिल जाता वीजा

July 08, 2019 11:09 PM

जापान/दिल्ली ( अखिलेश बंसल / करण अवतार )-

जापान देश के काशिमा शहर में हुई 11वीं एशिअन यूथ नेटबॉल चेंपियनशिप में भारतीय नेटबॉल की महिला खिलाडिय़ों ने मेजबान टीम समेत तीन देशों को पराजित करने में सफल रही है। गौरतलब हो कि भारतीय नेटबॉल टीम को पहले तीन मैच खेलने में वंचित रहना पड़ा है। कारण है भारतीय नेटबॉल महिला टीम को वीजा देर से मिलना। भारतीय महिला नेटबॉल टीम की कप्तान पल्लवी शर्मा का कहना है कि अगर ठीक वक्त पर वीजा मिल जाता तो भारत की टीम नि:संदेह मेडल टैली मे जगह बना सकती थी। 

पहले तीन मैच खेलने में वंचित रही भारत की नेटबाल खिलाडिय़ों ने मेजबान जापान की टीम समेत तीन देशों को हराया

भारतीय कप्तान पल्लवी शर्मा ने जापान स्टेडियम से बताया कि भारत के खेल मंत्री एवं विदेश मंत्री ने हस्ताक्षेप करके भारत की टीम को जापान पहुंचने में अग्रणी भूमिका अदा की है। भले ही भारतीय नेटबॉल टीम जापान मे देर से पहुंची और तीन मैच जीतने के बाद रैंकिंग में पीछे रही, फिर भी भारतीय नेटबॉल टीम की खिलाडिय़ों ने भारतवर्ष की उम्मीद पर खरे उतरने की कोशिश की है।

उल्लेखनीय है कि एशिअन यूथ नेटबॉल चेंपियनशिप 29 जून को शुरु हुई थी। जिसमें दूसरे दिन 30 जून को भारत का मुकाबला मलेशीया से होना था, 01 जुलाई को चाइनेस तायपेई एवं हांगकांग से होना था। भारतीय टीम ने प्राप्त नतीजों के अनुसार दावा किया है कि इन देशों ने दूसरे देशों के सामने जितना भी स्कोर खड़ा किया वह भारत टीम के मुकाबले कुछ भी नहीं था। उसके बाद क्वार्टर फाइनल, सेमी फाइनल व फाइनल में थाईलैंड, श्री लंका, सिंगापुर, नेपाल जैसे देश भी भारतीय टीम के आगे घुटने टेकने पर विवश हो जाते।

एनएफआई ने दी विजयी टीम को बधाई -
नेटबॉल फैड्रेशन आफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वागीष पाठक तथा राष्ट्रीय महासचिव हरि ओम कौशिक और स्पोर्टस किटस शोरूम स्पार्टन के मालिक यशपाल जालंधर ने संघर्ष के बाद तीन देशों को शिकस्त करने वाली भारतीय नेटबॉल महिला टीम का हौंसला बढ़ाया है। इसके साथ ही चेंपियन बनी मलेशीया, द्वितीय रही हांगकांग व तृतीय रही श्री लंका की टीम व आयोजकों को बधाई दी है।

यह मैच खेलने से वंचित रहा भारत-
भारत / हॉंग-कॉंग
भारत / मलेशीया
भारत / चाइनेस तायपेई

तीन मैच खेले तीनों में जीत-
देश/देश गोल स्कोर विजयी
भारत / जापान 65-58 भारत
भारत / बुरुनई 60-45 भारत
भारत / कोरीया 99-15 भारत

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और खेल ख़बरें
बुडो काई डू मिक्स्ड मार्शल आर्ट फेडरेशन ऑफ इंडिया नेशनल सिख गेम्स 2021 में शामिल वागीश पाठक तीसरी बार भारतीय नेटबॉल संघ (एनएफआई) के अध्यक्ष नियुक्त एडवोकेट ईशा गुप्ता नैटबॉल स्पोर्टस प्रोमोशन चंडीगढ़ की कार्यकारिणी अध्यक्ष नियुक्त भारत-अफ्रीका मैच: मैच से एक दिन पहले धर्मशाला में मूसलाधार बारिश होला-मोहल्ला गत्तका मुकाबलों में खालसा गत्तका अकैडमी हरियाणा विजेता ‘फुटबाल की नर्सरी’ को इस साल नसीब हो जाएगा स्टेडियम एथलैटिक्स चैंपियनशिप में भाग लेगी पंजाब की टीम, चयन ट्रायल 28 फरवरी को 8वीं मिस्टर चंडीगढ़ चैम्पियनशिप 23 फरवरी को , एस. डी. कालेज सैक्टर 32 मे होगा आयोजन 37वीं सीनियर नेश्नल नैटबॉल चैंपिअनशिप : पुरुष वर्ग ने दूसरा स्थान और महिला वर्ग ने हासिल किया तीसरा स्थान हरियाणा बना नैटबॉल चैंपिअन: दूसरे स्थान पर रहीं पुरुष वर्ग में पंजाब और दिल्ली की टीमों को मिली सिल्वर ट्राफी