ENGLISH HINDI Tuesday, September 17, 2019
Follow us on
 
एस्ट्रोलॉजी

लक्ष्य ज्योतिष संस्थान के निशुल्क ज्योतिष कैंप में लोगों ने कुंडली दिखा जाना भविष्य

September 08, 2019 05:27 PM

चंडीगढ़ :लक्ष्य ज्योतिष संस्थान चंडीगढ़ की ओर से सेक्टर 40 सी के श्री शिव शक्ति मंदिर में आज 08 सितंबर रविवार को छठे निशुल्क ज्योतिष कैंप का आयोजन किया गया । ज्योतिष कैंप में पंजाब हरियाणा और हिमाचल सहित समस्त उत्तर भारत के ज्योतिष विद्या की विभिन्न विधाओं वैदिक, हस्त रेखा, टैरो कार्ड रीडर, अंक गणित, स्प्रिचुअल हीलर, रैकी, वास्तु-नाड़ी, लाल किताब एवं के पी एस्ट्रोलॉजी से जुड़े विशेषज्ञ ज्योतिष आचार्यों भाग लिया। शिविर के दौरान  लोगों  ने भारी संख्या में पहुंच इस कैम्प का लाभ उठाया।

लक्ष्य ज्योतिष संस्थान की प्रेजिडेंट आचार्य बीना शर्मा, फाउंडर व् चेयरमैन डॉक्टर रोहित कुमार और वाईस प्रेजिडेंट पियूष कुमार ने बताया कि संस्थान की ओर से आयोजित इस ज्योतिष कैंप को निशुल्क लगाया गया है, इसमें न तो ज्योतिष विशेषज्ञों से स्टाल लगाने औऱ न ही कुंडली टेवा दिखा अपने परिवार की ग्रह दशा जानने आये आम जनता से किसी भी प्रकार की धनराशि ली गयी है।

डॉक्टर रोहित कुमार ने बताया कि इस कैंप का मुख्य उद्देशय वैदिक ज्योतिष का प्रचार प्रसार है, ताकि लोग ज्यादा से ज्यादा इस विद्या के बारे में जान सके। उन्होंने बताया की उनके संस्थान की और से गरीब परिवार के बच्चो को ज्योतिष विद्या की फ्री एजुकेशन दी जाती है । ताकि वो इस विद्या से वो न केवल लोगों को जीवन में आ रही विभिन्न परेशानियों से छुटकारा पाने का उपाए बता सके, साथ ही अपने परिवार का भरण पोषण कर सके। उन्होंने बताया की हालांकि ज्योतिष द्वारा जीवन में आ रही परेशानियों से छुटकारा तो नहीं पाया जा सकता, परन्तु ज्योतिष विद्या के उपायों से इन पर काफी हद तक नियंत्रण  जरूर पाया जा सकता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और एस्ट्रोलॉजी ख़बरें
श्राद्ध पक्ष. 13 सितंबर से 28 सितंबर तक, श्राद्ध एक दिन कम होगा,क्यों करें श्राद्ध ? दो से 12 सितंबर तक मनाएं श्री गणेश जन्मोत्सव, रखें सिद्धि विनायक व्रत, न करें चंद्र दर्शन जन्माष्टमी 23 या 24 अगस्त की ? ज्योतिष के अनुसार 23 अगस्त , शुक्रवार को ही जन्माष्टमी मनाना रहेगा सार्थक, श्रेष्ठ एवं शास्त्र सम्मत राखी बांधें गुरुवार सुबह से सायं 6 बजे तक भद्रा रुपी ‘धारा’ लागू नहीं 11 अगस्त से मार्गी हो रहे गुरु का कैसा रहेगा प्रभाव ? इस बार नाग पंचमी पूरे 125 सालों बाद सावन के तीसरे सोमवार हरियाली तीज-3 अगस्त को, विवाहित महिलाएं नए कपड़े, गहने पहन कर जातीं हैं अपने मायके चंद्र यान - 2 पर चंद्र ग्रहण क्यों है 2019 का सावन खास ? चंद्र ग्रहण- 16/17 जुलाई को, जानें पौराणिक एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण