ENGLISH HINDI Wednesday, September 23, 2020
Follow us on
 
एस्ट्रोलॉजी

देशभर से 11 से जुटेंगे नामी ज्योतिषी और आयुर्वेदाचार्य, जो बताएंगे भविष्य और नाड़ी देख कर सेहत

October 10, 2019 08:48 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज                                                                                                                      ज्योतिष संस्था ज्योतिष प्रांगण की ओर से तीन दिवसीय ज्योतिषीय और आयुर्वेद सेमीनार और एग्ज़िबिशन ऊर्जा 2019 का आयोजन 11 अक्टूबर सोमवार से किया जा रहा है। संस्था की अध्यक्ष पूनम शर्मा ने बताया कि 11,12,13 अक्तूबर को प्रातः 11 बजे से सायं 8 बजे तक सैक्टर 34 के एग्ज़िबिशन ग्राउंड में होने वाले इस आयोजन में देश के लगभग 150 विद्वान भाग ले रहे हैं, जो विज्ञान में हुए नवीनतम अनुसंधान एवं वैज्ञानिक पक्ष पर प्रकाश भी डालेंगे। 

 कार्यक्रम में खास बात यह रहेगी कि लोग दर्पण से अपने भाग्य का पता लगा पायेंगे और मोज़ों बैग्ज़ से भी आप अपनी माली हालत को सुधार सकते है.. मन की शांति के लिए कई तरीक़ों से भी विशेषज्ञ अवगत करवाएंगे। इसके अलावा कार्यक्रम में आयुर्वेद का भी भरपूर फ़ायदा उठाया जा सकेबा। खास तौर पर नाड़ी देख कर स्वास्थ्य बताने वालों को भी कार्यक्रम में न्यौता दिया गया है।

       अध्यक्षा पूनम शर्मा और उनके सहयोगी राजेश शर्मा, शालिनी मुंजाल अनमोल और इंदरजीत ने बताया कि डा. अजय भांबी, मदन गुप्ता सपाटू, कैप्टन लेखराज शर्मा, गोपाल राजू, श्री रावत जी, अनिल वत्स जी, अतुल्य नाथ ,राजीव शर्मा और इन्दु प्रकाश जैसे प्रख्यात विद्वान अपने विचार प्रकट करेंगे और ज्योतिष के कुछ ख़ास पहलुओं पर अपने विचार सांझा करेंगे और लोगों का मार्ग दर्शन करेंगे।                                                                                                कार्यक्रम में खासबात यह रहेगी कि लोग दर्पण से अपने भाग्य का पता लगा पायेंगे और मोज़ों बैग्ज़ से भी आप अपनी माली हालत को सुधार सकते है.. मन की शांति के लिए कई तरीक़ों से भी विशेषज्ञ अवगत करवाएंगे। इसके अलावा कार्यक्रम में आयुर्वेद का भी भरपूर फ़ायदा उठाया जा सकेबा। खास तौर पर नाड़ी देख कर स्वास्थ्य बताने वालों को भी कार्यक्रम में न्यौता दिया गया है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एस्ट्रोलॉजी ख़बरें
सितंबर में सितारों की बदली चाल, केैसा रहेगा अब हाल ? 2 सितंबर, 1860 के बाद 18सितंबर,2020 से अधिक मास आरंभ, ऐसा संयोग अब 2039 में फिर बनेगा क्यों करें श्राद्ध ? इस बार श्राद्ध- 2 सितंबर से 17 सितंबर तक इस बार श्राद्ध और नवरात्र के मध्य एक मास का अंतराल, श्राद्ध 1 सितंबर से नवरात्र 17 अक्टूबर से आरंभ कोरोना काल को न बनने दें अवसाद का कारण 22 अगस्त ,शनिवार को मनाएं श्री गणेश जन्मोत्सव, रखें सिद्धि विनायक व्रत, न करें चंद्र दर्शन कब मनाएं जन्माष्टमी , 11या 12 अगस्त को ? 5 सदियों बाद 5 अगस्त को अभिजित मुहूर्त में राम जन्म भूमि पूजन, राम राज्य की ओर अग्रसर भारत पहली अगस्त से शुक्र ग्रह आ रहे हैं मिथुन राशि में किस तरह 23 जुलाई को मनाई जाएगी हरियाली तीज