ENGLISH HINDI Monday, June 01, 2020
Follow us on
 
एस्ट्रोलॉजी

देशभर से 11 से जुटेंगे नामी ज्योतिषी और आयुर्वेदाचार्य, जो बताएंगे भविष्य और नाड़ी देख कर सेहत

October 10, 2019 08:48 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज                                                                                                                      ज्योतिष संस्था ज्योतिष प्रांगण की ओर से तीन दिवसीय ज्योतिषीय और आयुर्वेद सेमीनार और एग्ज़िबिशन ऊर्जा 2019 का आयोजन 11 अक्टूबर सोमवार से किया जा रहा है। संस्था की अध्यक्ष पूनम शर्मा ने बताया कि 11,12,13 अक्तूबर को प्रातः 11 बजे से सायं 8 बजे तक सैक्टर 34 के एग्ज़िबिशन ग्राउंड में होने वाले इस आयोजन में देश के लगभग 150 विद्वान भाग ले रहे हैं, जो विज्ञान में हुए नवीनतम अनुसंधान एवं वैज्ञानिक पक्ष पर प्रकाश भी डालेंगे। 

 कार्यक्रम में खास बात यह रहेगी कि लोग दर्पण से अपने भाग्य का पता लगा पायेंगे और मोज़ों बैग्ज़ से भी आप अपनी माली हालत को सुधार सकते है.. मन की शांति के लिए कई तरीक़ों से भी विशेषज्ञ अवगत करवाएंगे। इसके अलावा कार्यक्रम में आयुर्वेद का भी भरपूर फ़ायदा उठाया जा सकेबा। खास तौर पर नाड़ी देख कर स्वास्थ्य बताने वालों को भी कार्यक्रम में न्यौता दिया गया है।

       अध्यक्षा पूनम शर्मा और उनके सहयोगी राजेश शर्मा, शालिनी मुंजाल अनमोल और इंदरजीत ने बताया कि डा. अजय भांबी, मदन गुप्ता सपाटू, कैप्टन लेखराज शर्मा, गोपाल राजू, श्री रावत जी, अनिल वत्स जी, अतुल्य नाथ ,राजीव शर्मा और इन्दु प्रकाश जैसे प्रख्यात विद्वान अपने विचार प्रकट करेंगे और ज्योतिष के कुछ ख़ास पहलुओं पर अपने विचार सांझा करेंगे और लोगों का मार्ग दर्शन करेंगे।                                                                                                कार्यक्रम में खासबात यह रहेगी कि लोग दर्पण से अपने भाग्य का पता लगा पायेंगे और मोज़ों बैग्ज़ से भी आप अपनी माली हालत को सुधार सकते है.. मन की शांति के लिए कई तरीक़ों से भी विशेषज्ञ अवगत करवाएंगे। इसके अलावा कार्यक्रम में आयुर्वेद का भी भरपूर फ़ायदा उठाया जा सकेबा। खास तौर पर नाड़ी देख कर स्वास्थ्य बताने वालों को भी कार्यक्रम में न्यौता दिया गया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एस्ट्रोलॉजी ख़बरें
कोरोना तुम कब जाओगे ? भारत तीसरी स्टेज में नहीं जाएगा, कोरोना की विदाई जुलाई से, परंतु अंतिम यात्रा नवंबर में वास्तु में आक के पौधे का महत्व 26 अप्रैल, रविवार की अक्षय तृतीया इस बार अत्याधिक शुभ 14 अप्रैल से सूर्य के राशि परिवर्तन से कोरोना का धीरे धीरे प्रभाव कम होगा घर पर ही मनाएं 7 व 8 अप्रैल, मंगल व बुधवार को हनुमान जयंती ओैर करें आराधना व उपाय पहली अप्रैल अष्टमी या 2 अप्रैल नवमी पर वीडियो कान्फ्रैंसिंग से करें कन्या पूजन नवरात्र में 4 ग्रहों की विशेष चौकड़ी कारोना का संहार करेगी कोरोना से राहत 21 अप्रैल से , पूरा छुटकारा 1 जुलाई के बाद होलिका दहन व होली पर प्रचलित सामान्य प्रचलित एवं आंचलिक उपाय जीरकपुर में ज्योतिष कैम्प आयोजित: लोगों ने जानी समस्या, ज्योतिषों ने सुझाया उपाय