ENGLISH HINDI Sunday, September 27, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
अबोहर तस्वीर के सम्पादक राजेश सचदेवा को भार्याशोककिसानों के गुस्से के आगे सिवल-पुलिस प्रशासन की हुई बस, व्यापारी डराकिसान आक्रोष: डेराबस्सी में जाम किया गया चंडीगढ़ दिल्ली हाईवेभारत में हर वर्ष मुंह के कैंसर के सवा लाख नए केस, मुंह के कैंसर के 80 प्रतिशत केसों का कारण तंबाकू: डा. राजन साहूडेराबस्सी में निर्माणाधीन दो मंजिला बिल्डिंग धराशाही, चार की मौत मुख्यमंत्री का निजी सहायक बनकर अधिकारियों और अन्यों को धोखा देने वाला सिपाही गिरफ्तारहरियाणा: पुलिस ने 3 बच्चों सहित चार लापता को परिवार से मिलवायाछात्रवृति योजनाओं की ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर
एस्ट्रोलॉजी

जीरकपुर में ज्योतिष कैम्प आयोजित: लोगों ने जानी समस्या, ज्योतिषों ने सुझाया उपाय

March 02, 2020 10:25 AM

चंडीगढ़: जीरकपुर के सावित्री टावर में आज ज्योतिष कैम्प का आयोजन गया। जिसका आयोजन रिद्धि सिद्धि ज्योतिष संस्थान-की ओर से किया गया था। जिसका उद्देश्य लोगों को जीवन मे आ रही परेशानियों, भविष्य, स्वास्थ्य और पारिवारिक सुख इत्यादि को लेकर उनकी जिज्ञासा और उससे बचने के लिए उपाय जानते भी देखा गया। ज्योतिष शिविर में ट्राईसिटी के सुप्रसिद्ध ज्योतिष विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया। ये जानकारी वैदिक ज्योतिष आचार्य बाला दत्त पुजारी ने दी।

इस अवसर पर नाड़ी ज्योतिष एस के शर्मा, वैदिक व् टैरो कार्ड विशेषज्ञ रुपिंदर कौर, हस्त रेखा विशेषज्ञ नवदीप मदान, टैरो रीडर अंजलि शर्मा और वैदिक ज्योतिष अंजना देवी ने अपनी ज्योतिष विद्या से लोगों की समस्या जानी और उपाय सुझाये।
बाला दत्त पुजारी ने बताया कि इस ज्योतिष कैम्प में लोगों की दैनिक जीवन से संबंधित सभी तरह की परेशानियों को ज्योतिष विद्या अनुसार न केवल जानकारी दी गयी, बल्कि उसका उपाय भी बताया गया। इस शिविर में वैदिक, टैरो कार्ड रीडर और नाड़ी विशेषज्ञों ने अपनी ज्योतिष विद्या से लोगों की समस्या सुन उनका उपाय बताया। उन्होंने बताया कि ज्योतिष शिविर लगाने का उद्देश्य लोगों को अपनी परंपरागत ज्योतिष विद्या से न केवल पुनः जोड़ना है , बल्कि इसकी सटीकता से भी अवगत करवाना है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एस्ट्रोलॉजी ख़बरें
सितंबर में सितारों की बदली चाल, केैसा रहेगा अब हाल ? 2 सितंबर, 1860 के बाद 18सितंबर,2020 से अधिक मास आरंभ, ऐसा संयोग अब 2039 में फिर बनेगा क्यों करें श्राद्ध ? इस बार श्राद्ध- 2 सितंबर से 17 सितंबर तक इस बार श्राद्ध और नवरात्र के मध्य एक मास का अंतराल, श्राद्ध 1 सितंबर से नवरात्र 17 अक्टूबर से आरंभ कोरोना काल को न बनने दें अवसाद का कारण 22 अगस्त ,शनिवार को मनाएं श्री गणेश जन्मोत्सव, रखें सिद्धि विनायक व्रत, न करें चंद्र दर्शन कब मनाएं जन्माष्टमी , 11या 12 अगस्त को ? 5 सदियों बाद 5 अगस्त को अभिजित मुहूर्त में राम जन्म भूमि पूजन, राम राज्य की ओर अग्रसर भारत पहली अगस्त से शुक्र ग्रह आ रहे हैं मिथुन राशि में किस तरह 23 जुलाई को मनाई जाएगी हरियाली तीज