ENGLISH HINDI Sunday, October 17, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
भारतीय जनता के दिलों में क्षेत्रवाद मिटा कर राष्ट्रवाद की भावना को बढ़ावा देगी यूआरबी पार्टी : वेंकटेशभगवान वाल्मीकि के प्रकटोत्सव अवसर पर हर्षोल्लास और धूमधाम से निकाली शोभायात्राकरोड़ों रूपए का विकास बजट पास करने वाली निगम को नहीं अपने सफाई सेवकों का ख्याल: विधायक नारंगवेतन जारी न होने पर निगम कर्मचारियों ने की हडताल, नारेबाजी की, लौटांगें प्रशंसा पत्रहोम्योपैथिक में है डेंगू का कारगर इलाज :डॉ अनु कांत गोयलमिसेज ट्राइसिटी एवं मिसेज चंडीगढ़ शालू गुप्ता ने किया स्पॉटलाइट एंटरटेनमेंट का उद्घाटनदिल्ली विकास प्राधिकरण के निदेशक एवं उपनिदेशक के खिलाफ वारंट, सरकारी वाहन समेत सरकारी दफ्तर का फर्नीचर एवं अन्य उपकरण कुर्क करने के आदेश राजभाषा पुरस्कार वितरण समारोह-2021 का आयोजन
एस्ट्रोलॉजी

क्या मंगल 20 जुलाई तक कर्क राशि में रह कर करेंगे अमंगल?

June 07, 2021 09:09 AM

मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्

आज मंगल ग्रह के बारे छोटे बच्चे भी बहुत कुछ जानते हैं। मंगल यान और मंगल मिशन से आमजन परिचित है। इसी साल मंगल ग्रह पर एक छोटा सा हेलीकाप्टर एक मिनट की उड़ान भी भर चुका है। खगोल विज्ञान के अनुसार मंगल सूर्य से चौथा और सातवां बड़ा ग्रह है। सूर्य से यह 22 करोड़ 79 लाख किलोमीटर दूर है। यहां की मिटट्ी लाल है।

भारतीय ज्योतिष शास्त्र में इसका उल्लेख बहुत पुराना है।भारत में आम जनता मंगलवार का व्रत रखती है, मांस मदिरा से परहेज करती है, विवाह संबंधों में मंगलीक जातक के बारे अवश्य विचार किया जाता है।

नौ ग्रहों का अपना स्वभाव और अलग-अलग कारक तत्व होते हैं। मंगल ग्रह को सभी ग्रहों का सेनापति का दर्जा मिला हुआ है। मंगल का शुभ होना जीवन में लक्ष्यों को प्राप्त करने में अहम भूमिका निभाता है. मंगल व्यक्ति को साहसी बनाता है. लक्ष्य की प्राप्ति में साहस की विशेष भूमिका होती है. मंगल को पृथ्वी पुत्र कहा जाता है। जिन जातकों की कुंडली में मंगल ग्रह शुभ भाव में होते हैं ऐसे लोग काफी बुद्धिमान, प्रतापी और ऊर्जावान होते हैं।

ज्योतिष गणना के अनुसार मंगल ग्रह 2 जून 2021 को प्रात: 6 बजकर 39 मिनट पर मिथुन राशि से कर्क राशि में प्रवेश कर चुके हैं. कर्क राशि में मंगल का गोचर 20 जुलाई, 2021 तक रहेगा. इस बार नव संवत्सर के राजा और मंत्री दोनों ही मंगल है। ज्योतिष में मंगल को भूमि पुत्र माना जाता है। ये पराक्रम का भी कारक ग्रह है। ऐसे में इस पूरे साल यानि संवत 2078 में ये ग्रह अपना विशेष असर दिखाएगा। इस दौरान भारतीय सेना का पराक्रम भी दुनिया को दिखेगा। हालांकि मंगल को क्रूर ग्रह भी कहा जाता है इसलिए शनि की दृष्टि पड़ने से देश-दुनिया में आगजनी, भूकंप, जनविद्रोह और कुछ जगह रक्तपात जैसे गंभीर हालात भी बन सकते हैं।

ज्योतिष में मंगल को मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी माना जाता है। मेष और वृश्चिक राशि के स्वामी मंगल ग्रह कर्क राशि में ही नीच के और मकर राशि में उच्च राशि के माने जाते हैं।

कर्क राशि में मंगल का गोचर

ज्योतिष गणना के अनुसार मंगल ग्रह 2 जून 2021 को प्रात: 6 बजकर 39 मिनट पर मिथुन राशि से कर्क राशि में प्रवेश कर चुके हैं. कर्क राशि में मंगल का गोचर 20 जुलाई, 2021 तक रहेगा. इस बार नव संवत्सर के राजा और मंत्री दोनों ही मंगल है। ज्योतिष में मंगल को भूमि पुत्र माना जाता है। ये पराक्रम का भी कारक ग्रह है। ऐसे में इस पूरे साल यानि संवत 2078 में ये ग्रह अपना विशेष असर दिखाएगा। इस दौरान भारतीय सेना का पराक्रम भी दुनिया को दिखेगा। हालांकि मंगल को क्रूर ग्रह भी कहा जाता है इसलिए शनि की दृष्टि पड़ने से देश-दुनिया में आगजनी, भूकंप, जनविद्रोह और कुछ जगह रक्तपात जैसे गंभीर हालात भी बन सकते हैं।

यह संपत्ति, भूमि, घर, कभी-कभी वाहन और कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का, केबल कॉइल और ऊर्जा उन्मुख उपकरणों का भी कारक माना जाता है है। मंगल लड़कियों की कुंडली में प्रेमी / जीवनसाथी का भी प्रतिनिधित्व करता है। मंगल ग्रह अपनी स्थिति के आधार पर, रचनात्मकता और विनाशकारी दोनों ही तरह की ऊर्जाओं को दर्शाता है। सूर्य, चंद्र और बृहस्पति इसके मित्र हैं, जबकि बुध, राहु मंगल के शत्रु हैं, मंगल ग्रह शनि और केतु के साथ तटस्थ संबंध रखता है।

यदि मंगल जातक की कुंडली में लाभकारी है, तो व्यक्ति बहुत सक्रिय हो जाता है। लेकिन, यदि कुंडली में मंगल कमजोर है, तो व्यक्ति दुर्घटनाओं, ऑपरेशन, हड्डियों, यकृत की समस्याओं के कारण पीड़ित हो सकता है। मंगल का गोचर घरेलू वातावरण को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है क्योंकि यह आवेशपूर्ण स्थितियां पैदा कर देता है। मंगल कम्यूनिकेशन से जुड़ी समस्याएं पैदा कर सकता है और आपको असभ्य बना सकता है, । मंगल आपको जल्दबाज बना सकता है और जल्दी गुस्सा दिला सकता है। आप इसके कारण अपने पेशेवर और सामाजिक जीवन में भी बहस करने वाले बन सकते हैं, संभवतः यह आपकी प्रतिष्ठा को धूमिल कर सकता है।

मंगल अशुभ होने से व्यक्ति के स्वभाव और आचरण पर भी प्रभाव पड़ता है. मंगल जब अशुभ होता है तो जीवन में कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है-- भाई बहनों से संबंध प्रभावित होते हैं.- संतान प्राप्ति में बाधा आती है.- क्रोध के कारण संबंध और कार्य प्रभावित होते हैं.- दांपत्य जीवन में तनाव और कलह की स्थिति बनती है.- मंगल दोष बनता है.- तलाक का कारण भी बनता है.- विवाद की स्थिति बनाता है.- व्यक्ति झगड़ा करने पर आतुर रहता है.

मंगल के उपाय

मंगल को शुभ बनाना बहुत ही जरूरी है. मंगल के खराब होने से जॉब, करियर, बिजनेस, लव रिलेशनशिप और दांपत्य जीवन में बाधाएं आती है. मंगल ग्रह को ऐसे शुभ बना सकते हैं-- मंगल के दोष को दूर करने के लिए हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए.- बड़े भाई बहनों से संबंध मधुर रखना चाहिए.- गुड़ खाना चाहिए.- - सूर्य भगवान को जल दें.

20 जुलाई तक मंगल का गोचर आपकी चंद्र राशि के अनुसार कैसा रहेगा ?

मेष

कार्यक्षेत्र में आपको प्रगति मिलने के भी आसार हैं। जमीन जायदाद से संबंधित मामलों का निपटारा हो सकता। मित्रों तथा संबंधियों से कोई अप्रिय समाचार मिल सकता है जिस कारण से आपका मन परेशान रह सकता है। इसके अलावा माता पिता के स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहेंगे। यात्रा सावधानीपूर्वक करें। इस दौरान कार्यक्षेत्र में मान-सम्मान की भी प्राप्ति होगी ।अपने माता-पिता के स्वास्थ्य का अधिक ध्यान देना होगा, खासकर अपनी माता का क्योंकि इस दौरान उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। संपत्ति या जमीन के किसी भी सौदे को बहुत सावधानी से करें, बेहतर होगा यदि आप इसे कुछ समय के लिए स्थगित कर दें। जो लोग दिल से संबंधित बीमारियों से पीड़ित हैं, उन्हें अपना अतिरिक्त ध्यान रखना चाहिए।

उपाय: अपने साथ हमेशा चांदी का चौकोर टुकड़ा रखें।

वृषभ

यह गोचर आपको तनाव और परेशानियां दे सकता है खासकर आपके कार्यक्षेत्र में । किसी को भी अधिक धन उधार के रूप में न दें अन्यथा आर्थिक हानि की संभावना रहेगी और वह धन समय पर नहीं मिलेगा।कारोबारियों को उनके प्रयासों का अच्छा फल प्राप्त होगा, खर्चों में थोड़ी वृद्धि हो सकती है, छोटे भाई बहनों को स्वास्थ्य को लेकर कुछ परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। आप रक्त विकार से भी पीड़ित हो सकते हैं इसलिए सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। परिवार के वरिष्ठ सदस्यों तथा छोटे भाइयों से मतभेद न होने दें। छोटे भाई के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

उपाय: अपने साथ हाथी दांत का टुकड़ा बाएँ हाथ में चाँदी की अंगूठी धारण करें।

मिथुन

आप अपने कार्यों या शब्दों से किसी को चोट पहुंचा सकते हैं। इसलिए, वाणी पर कंट्रोल रखें और ऐसे काम न करें जिससे अन्य लोग आहत हों। आर्थिक रूप से, अनावश्यक खर्चों के कारण धन की कुछ कमी हो सकती है। ससुराल से धन और संपत्ति के मामले में अचानक लाभ मिलने की संभावना है। इस अवधि के दौरान धन उधार देने या ऋण लेने से बचना चाहिए। नौकरी पेशा लोगों को प्रगति मिलने की संभावना कम है जिसकी वजह से आप परेशान हो सकते हैं। साथ ही, प्रतिद्वंद्वी और आपके विरोधी आपकी छवि को खराब करने की कोशिश भी कर सकते हैं। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने और वाहन चलाते समय सावधानी बरतने की आपको सलाह दी जाती है। परिवार के वरिष्ठ सदस्यों तथा छोटे भाइयों से मतभेद न होने दें। छोटे भाई के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

उपाय: गरीब और जरूरतमंद लोगों को अनार दान करें।

कर्क राशि

आप कुछ कारणों से तनावग्रस्त रह सकते हैं और अपने आवेशपूर्ण स्वभाव के कारण आप अधिक आक्रामक हो सकते हैं। अपने गुस्से पर नियंत्रण रखने की आपको सलाह दी जाती है। यह गोचर आपके लिए धन के साथ-साथ व्यावसायिक वृद्धि के लिए भी अनुकूल रहेगा। आर्थिक रूप से, यह अवधि आपके लिए औसत होगी क्योंकि धन आपके पास आएगा लेकिन अवरोधों के साथ और धीमी गति से। दांपत्य जीवन में कुछ गलतफहमी पैदा हो सकती है। स्वास्थ्य जीवन को लेकर सतर्क रहें, वाहन चलाते समय दुर्घटना की संभावना है इसलिए सावधानीपूर्वक वाहन चलाएं। स्वभाव में अहंकार और क्रोध में वृद्धि हो सकती है जिसके कारण आपको परेशानियां उठनी पड़ सकती है। विवाह से संबंधित वार्ता में कुछ अड़चने आ सकती हैं। स्वास्थ्य के प्रति हमेशा चिंतनशील रहना होगा। अपने स्वभाव में उग्रता न आने दें।

उपाय: मुफ्त में या दान में मिलने वाली चीज़ों को स्वीकार करने से बचें।

सिंह

मित्रों अथवा संबंधियों से भी अप्रिय समाचार प्राप्ति के योग।नए जोखिम भरे व्यवसाय या भारी निवेश करने से इस दौरान बचें। उच्च शिक्षा या अध्ययन के लिए विदेश यात्रा की संभावनाएं हैं। अस्पताल में भर्ती होने के कारण आपके खर्च बढ़ सकते हैं। दांपत्य जीवन के साथ-साथ जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर भी सावधान रहने की जरूरत है। व्यावसायिक रूप से, आपको अपनी योग्यता साबित करने के लिए बहुत प्रयास करने की इस दौरान जरूरत होगी। आपको अपनी कड़ी मेहनत और प्रयासों के बावजूद, अपने कार्यस्थल पर अपने वरिष्ठों या सहकर्मियों से कोई सहयोग या समर्थन नहीं मिलेगा। इसलिए विवादों और तर्कों से दूर रहने की भी आपको सलाह दी जाती है। अत्यधिक खर्च के कारण आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: अपने पूर्वजों के प्रति अपना दायित्व और भक्ति अर्पित करें।

कन्या

यह अनुकूल समय नहीं माना जा सकता। इस वजह से, आपको कुछ नकारात्मक प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है। नौकरी में परिवर्तन करने से आपको बचना चाहिए। कारोबारियों के लिए यह गोचर अनुकूल रहेगा। भारी निवेश करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे मुनाफा मिलने की संभावना कम है। आपको अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखने की जरूरत है इस दौरान आपको छोट लगने की संभावना है।। मंगल का प्रभाव आपको अत्यधिक साहसी उद्यमी, परिश्रमी और प्रभावशाली बनाएगा। कोई भी बड़े से बड़ा कार्य आरंभ करना चाहें अथवा निर्णय लेना चाहें तो सफल रहेंगे।

उपाय: लाल फूल और तांबे का दान किया जाए तो शुभ फल प्राप्त होंगे।

तुला

उच्चाधिकारियों से भी संबंध बिगड़ने न दें। अपने साहस और पराक्रम के बल पर कठिन हालात को भी आसानी से नियंत्रित कर लेंगे।करियर या बिजनेस में किसी प्रतिकूल स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। प्रेम के रिश्ते में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, हालांकि किसी नए रिश्ते में हैं तो यह समय आनंदित करने वाला होगा। विवाहित जातकों को सलाह दी जाती है कि रिश्ते को मजबूत बनाए रखने के लिए गलतफहमी को अपने दिल में न पनपनें दें। स्वास्थ्य जीवन सामान्य से बेहतर रहेगा लेकिन आपको जंक फूड खाने से इस दौरान बचना चाहिए। इस राशि के लिए कहीं न कहीं मंगल अकारक भी होते हैं, इसलिए स्वास्थ्य के प्रति अत्यधिक सावधान रहने की आवश्यकता है।

उपाय: मंगलवार को शिवलिंग पर गेहूं और चने चढ़ाएं

वृश्चिक

आप शारीरिक और मानसिक तनाव महसूस कर सकते हैं । वित्तीय समस्याएं ज्यादातर हल हो जाएंगी । आपके पिता के साथ आपका संबंध बिगड़ सकता है और उनका स्वास्थ्य भी इस दौरान अस्थिर हो सकता है। आपके दुश्मनों को आपकी छवि धूमिल करने का मौका दे सकती हैं। स्वास्थ्य जीवन पर नजर डालें तो, किसी भी मानसिक चिंता और बीमारी से बचने के लिए ध्यान और योग का अभ्यास करने की आपको सलाह दी जाती है। नौकरी में पदोन्नति तथा मान-सम्मान की वृद्धि होगी। सामाजिक पद प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। विदेशी कंपनियों में नौकरी तथा नागरिकता के लिए किया गया प्रयास सफल रहेगा। संतान सुख की प्राप्ति होगी।

उपाय: धार्मिक स्थलों पर चावल, दूध और गुड़ चढ़ाएँ।

धनु

आपको अपने जीवन में हर कदम पर बहुत सावधान रहना होगा, हालांकि आप इस अवधि के दौरान सही और गलत को पहचानने में सक्षम होंगे। इस दौरान लंबी यात्रा के लिए जाना पड़ सकता है। किसी तरह का ऋण प्राप्त करने में इस गोचर के दौरान आप थोड़ा संघर्ष भी कर सकते हैं। सर्जरी होने की संभावना इस दौरान है, आग से जुड़े किसी कार्य को आपको सावधानी से करना होगा बावासीर जैसी बीमारी से पीड़ित लोगों को भी इस दौरान परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। मंगल का प्रभाव धनु राशि के जातकों के आत्मविश्वास में कमी ला सकता है। स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सावधान रहें। कार्य क्षेत्र में भी षड्यंत्र का शिकार होने से बचें। बेहतर रहेगा कि कार्य संपन्न करें और सीधे घर आएं। कोर्ट कचहरी के मामले भी बाहर ही सुलझा लेना समझदारी होगी।

उपाय: कुत्तों को तंदूर पर तैयार मीठी रोटियां भेंट करें ।

मकर

वैवाहिक जीवन में कलह और संघर्ष हो सकता है। विवाह करने की योजना बनाने वाले इस राशि के जातक अपने विवाह में कुछ कठिनाइयों का सामना कर सकते हैं और इसमें देरी भी हो सकती है। इस अवधि के दौरान अपने जीवनसाथी के साथ-साथ अपने आप का भी ध्यान रखना होगा क्योंकि आपको मूत्राशय से जुड़ी कोई समस्या, या पेट से संबंधी को समस्या पीड़ित कर सकती है। अपने खान-पान का इस दौरान आप विशेष ख्याल रखें और दिनचर्या में योग-ध्यान को शामिल करें। आपके क्रोध और अवगुणों में वृद्धि होने के संकेत है। दांपत्य जीवन में कटुता ला सकते हैं इसलिए आपसी विवाद को बढ़ने न दें। आपका किसी बात पर गुस्सा होना आपके लिए हानिकारक हो सकता है।

उपाय: मंगलवार को गुड़ का दान करें।

कुंभ

कोर्ट कचहरी के मामलों में सफलता मिलेगी। शत्रु परास्त होंगे। व्यापारियों के लिए समय अनुकूल रहेगा। नया कार्य आरंभ करना हो अथवा नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो उस दृष्टि से भी अवसर बेहतरीन है।सहकर्मियों के साथ किसी भी तरह के संघर्ष या बहस से बचने की आवश्यकता है। अपने वरिष्ठों से सावधान रहें और उनके गुस्से का सामना करने से बचें। धन की बचत करें, आपको अचानक कुछ खर्च करने पड़ सकते हैं। इस दौरान आपका दांपत्य जीवन थोड़ा तनावपूर्ण हो सकता है। कुछ मामूली स्वास्थ्य समस्याओं का सामना कर सकते हैं। आपको व्यायाम और उचित दिनचर्या बनाए रखने की सलाह दी जाती है। शत्रु भाव में गोचर करते हुए मंगल का प्रभाव आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

मंगलवार के दिन चंदन का दान करें।

मीन

आपके लिए मंगल का गोचर पांचवे भाव में है। अपने बच्चों की देखभाल करनी होगी क्योंकि वे कुछ स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित हो सकते हैं। साथ ही आपके बच्चों को पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में कुछ कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है । इस दौरान रिश्तों को लेकर कोई भी बड़ा फैसला लेने से बचें। अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें। नौकरी और बिजनेस संबंधी नई योजनाएं बनेंगी। लेकिन उन पर काम नहीं हो पाएगा। नए लोगों से मुलाकात और बातचीत होगी। भाइयों और दोस्तों से अनबन या मतभेद हो सकते हैं। कार्य व्यापार में उन्नति होगी। रोजगार की दिशा में किए गए सभी प्रयास सफल रहेंगे किंतु प्रेम संबंधी मामलों में तो उदासीनता रहेगी।

उपाय: - सूर्य भगवान को जल दें. 

- मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्, मो-9815619620, #-458, सैक्टर 10, पंचकूला

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एस्ट्रोलॉजी ख़बरें
शरद नवरात्र के बाद 19 अक्तूबर को शरद पूर्णिमा पर चमत्कारिक खीर को औषधि बना कर खाएं पूरे देश से आए ज्योतिषी: जीवन की परेशानियों से छुटकारा तो नहीं पर उपायों से इन पर काफी हद तक नियंत्रण : बीना शर्मा 9 दिन के शरद नवरात्रि इस बार 8 दिन में समाप्त श्राद्ध 20 सितंबर से 6 अक्तूबर तक परंतु 26 सितंबर को पितृपक्ष की तिथि नहीं हरियाली तीज 11 और नाग पंचमी 13 अगस्त को गुप्त नवरात्रि 11 जुलाई, रविवार से आरंभ अब इस कारण धामी की राह नहीं आसान सितम्बर माह में कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना:-ज्योतिषचार्य डॉक्टर कुमार अमर 21 जून को निर्जला एकादशी ,योग दिवस और सबसे लंबा दिन एक साथ ? 10 जून को शनैश्चर जयंती, ज्येष्ठ अमावस औेर सूर्यगहण एक साथ: कोरोना की रफतार पड़ती जाएगी धीमी