ENGLISH HINDI Monday, May 23, 2022
Follow us on
 
खेल

हॉकी चंडीगढ़ ने हॉकी ओलंपियनों को किया सम्मानित, पांच खिलाड़ी और उनके दो कोच शामिल

August 21, 2021 04:43 PM

चंडीगढ़: हॉकी चंडीगढ़ और टाइनॉर ने शनिवार को यहां हयात रीजेंसी में आयोजित एक सम्मान समारोह में टोक्यो ओलंपिक के भारतीय हॉकी सितारों को सम्मानित किया। इस सम्मान समारोह में हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय मुख्य अतिथि थे, जबकि पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी विशिष्ट अतिथि थे।

पांच खिलाड़ियों को पांच-पांच लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया, जबकि दो कोचों को 2.5 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया। इस प्रतिष्ठित सम्मान समारोह में सम्मानित होने वालों खिलाड़ियों और कोचेज में रूपिंदर पाल सिंह, गुरजंट सिंह, मोनिका मलिक, शर्मिला देवी, रीना खोखर, शिवेंद्र सिंह और गुरमिंदर सिंह शामिल थे।

हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने इस अवसर पर सभी हॉकी खिलाड़ियों को बधाई दी और अपने संबोधन में कहा कि 41 साल बाद कांस्य पदक जीतने के बाद भारतीय हॉकी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति दिलाकर इन खिलाड़ियों ने एक बेमिसाल काम किया है। उन्हें यह देखकर बहुत खुशी हुई कि हॉकी टीम में हरियाणा और पंजाब के बहुत सारे खिलाड़ी थे। राज्यपाल ने कहा कि राज्य की खेल नीति के तहत सरकार गोल्ड मेडल जीतने वालों को 6 करोड़, रजत जीतने वालों को 4 करोड़ और कांस्य पदक जीतने वालों को 2.5 करोड़ का पुरस्कार दे रही है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने उत्कृष्ट खिलाड़ियों को पुरस्कार के रूप में 23.25 करोड़ दिए हैं, सभी राज्यों को खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए एक खेल नीति तैयार करनी चाहिए ताकि वे और भी बेहतर प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए हर समय तैयार है।

पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने कहा कि हॉकी चंडीगढ़ की ओर से टोक्यो ओलंपिक के हॉकी सितारों को सम्मानित करना काबिले तारीफ है। उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में इल खिलाड़ियों के मैदान में शानदार प्रदर्शन और उनके कोचों की मेहनत की सराहना करते हुए कहा, यह वास्तव में इस क्षेत्र के लिए गर्व का क्षण था कि खिलाड़ियों ने अपना बेहतरीन खेल दिखाया है। पंजाब में हॉकी और अन्य खेल सुविधाओं को बढ़ाने के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा, राज्य में नई सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा, जबकि मौजूदा सुविधाओं को अपग्रेड किया जाएगा ताकि खिलाड़ियों को विश्वस्तरीय प्रदर्शन करने के लिए सभी जरूरी कोचिंग राज्य में ही प्राप्त हो सकें।

पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने कहा कि हॉकी चंडीगढ़ की ओर से टोक्यो ओलंपिक के हॉकी सितारों को सम्मानित करना काबिले तारीफ है। उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में इल खिलाड़ियों के मैदान में शानदार प्रदर्शन और उनके कोचों की मेहनत की सराहना करते हुए कहा, यह वास्तव में इस क्षेत्र के लिए गर्व का क्षण था कि खिलाड़ियों ने अपना बेहतरीन खेल दिखाया है। पंजाब में हॉकी और अन्य खेल सुविधाओं को बढ़ाने के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा, राज्य में नई सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा, जबकि मौजूदा सुविधाओं को अपग्रेड किया जाएगा ताकि खिलाड़ियों को विश्वस्तरीय प्रदर्शन करने के लिए सभी जरूरी कोचिंग राज्य में ही प्राप्त हो सकें।

श्री करण गिल्होत्रा, प्रेसिडेंट, हॉकी चंडीगढ़, जो एक प्रसिद्ध समाजसेवी भी हैं, ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि ‘‘हॉकी चंडीगढ़ का हमेशा से खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने का प्रयास रहा है और हम खेल को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देना जारी रखेगा। हमारे खिलाड़ियों को ओलंपिक में बेहतरीन प्रदर्शन करते देखना वास्तव में देश के लिए गर्व का क्षण था।’’ वे करण गिल्होत्रा फाउंडेशन का नेतृत्व भी कर रहे हैं जो सक्रिय रूप से जरूरतमंदों और पूरे समुदाय की सेवा में लगी हुई है।

डॉ.पी.जे सिंह, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, हॉकी चंडीगढ़ और सीएमडी टाइनॉर ने मुख्य अतिथि और गेस्ट ऑफ ऑनर को उनकी उपस्थिति के लिए धन्यवाद दिया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों और कोचों को प्रोत्साहित करने में एक लंबा रास्ता तय करेगा और हॉकी खिलाड़ियों को हर संभव अपना पूरा समर्थन प्रदान करेगा।

उपस्थित अन्य प्रमुख पदाधिकारियों में हॉकी चंडीगढ़ के महासचिव अनिल वोहरा भी शामिल थे। जबकि उनके साथ ही गगन अजीत सिंह, पूर्व हॉकी कप्तान और तेजदीप सिंह सैनी, निदेशक खेल यूटी एवं कई अन्य जानी मानी हस्तियां भी सम्मान समारोह में उपस्थित थे।

ओलंपियनों का संक्षिप्त परिचय

रूपिंदर पाल सिंह (जन्म 11 नवंबर 1990) एक प्रोफेशनल फील्ड हॉकी खिलाड़ी हैं, जो वर्तमान में भारतीय हॉकी टीम में भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह एक फुलबैक के रूप में खेलते हैं और दुनिया में सर्वश्रेष्ठ ड्रैग फ्लिकर में से एक के रूप में अपनी बेमिसाल क्षमताओं के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने ग्लासगो में 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स, इंचियोन में 2014 एशियन गेम्स, रियो डी जनेरियो में आयोजित 2016 ओलंपिक खेलों और गोल्ड कोस्ट, ऑस्ट्रेलिया में आयोजित 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का प्रतिनिधित्व किया। वे टोक्यो में 2020 ओलंपिक खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम का भी हिस्सा थे।

गुरजंट सिंह (जन्म 26 जनवरी 1995) एक जाने माने भारतीय फील्ड हॉकी खिलाड़ी है जो मैदान में फॉरवर्ड के तौर पर खेलते हैं। वह उस गौरवशाली भारतीय टीम का हिस्सा भी रहे हैं जिसने लखनऊ में 2016 के पुरुष हॉकी जूनियर विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता था।

मिड-फील्डर मोनिका मलिक (जन्म 5 नवंबर 1993) एक जानी मानी भारतीय फील्ड हॉकी खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 2014 एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और वे कांस्य पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थीं।

ओलंपिक में फॉरवर्ड स्ट्राइकर के रूप में खेलने वाली शर्मिला देवी (जन्म 10 अक्टूबर, 2001) ने 2019 में सीनियर हॉकी टीम में अपने खेल जीवन की बेहद शानदार शुरुआत की। उसी वर्ष, उन्हें ग्रेट ब्रिटेन सीरीज़ में भी शामिल किया गया, जिसके बाद उन्होंने सभी अन्य महत्वपूर्ण ओलंपिक क्वालीफाइंग सीरीज के मैचों में भी हिस्सा लिया।

रीना खोखर (जन्म 10 अप्रैल 1993) एक भारतीय पेशेवर फील्ड हॉकी खिलाड़ी हैं, जो भारतीय राष्ट्रीय टीम के लिए फॉरवर्ड के रूप में खेलती हैं। वह उस 18 सदस्यीय हॉकी टीम का हिस्सा थीं, जिसने 2018 विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए टीम में वापसी की थी। क्लब स्तर पर खोखर मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी के लिए खेलती हैं।

शिवेंद्र सिंह (जन्म 9 जून 1983 को ग्वालियर, मध्य प्रदेश में), पुरुष हॉकी टीम के सहायक कोच, एक पूर्व भारतीय फील्ड हॉकी खिलाड़ी हैं, जो भारतीय टीम में सेंटर फॉरवर्ड के रूप में खेलते रहे हैं।

गुरमिंदर सिंह, चंडीगढ़ हॉकी अकादमी कोच में कोच के तौर पर शानदार प्रदर्शन करते हुए कई बेहतरीन खिलाड़ियों को तैयार करने में अपनी अहम भूमिका निभा चुके हैं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और खेल ख़बरें
व्हीलचेयर बाउंड के लिए शहर में पहली बार स्पोर्ट्स कार्निवाल का आयोजन पंजाब बनाम एचपीसीए- पंजाब 39 रन से आगे (दूसरे दिन के खेल के अंत तक) पुणे में एलीट ए ग्रुप के मैच पंजाब बनाम झारखंड पुणे— महाराष्ट्र में खेला जा रहा पंजाब सीए बनाम यूपीसीए का खेल एलुमनी क्रिकेट बैश 27-28 नवंबर को होगा बीसीसीआई अंडर -25 स्टेट ए 2021-22 मोहाली में पंजाब ने महाराष्ट्र को 5 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में किया प्रवेश अंडर-17 केटेगरी से हटाई दसवीं कक्षा तक की शर्त पंजाब ने गोवा को 17 रन से हराकर महिला सीनियर वनडे ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में किया प्रवेश ओंकार चैरिटेबल फाउंडेशन ने खेल के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाली गर्ल्स प्लेयर्स का किया सम्मान