ENGLISH HINDI Saturday, May 28, 2022
Follow us on
 
खेल

ओंकार चैरिटेबल फाउंडेशन ने खेल के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाली गर्ल्स प्लेयर्स का किया सम्मान

November 10, 2021 09:06 PM

2 स्पेशल गर्ल प्लेयर्स ने बैडमिंटन और नेटबॉल चैंपियनशिप में देश का बढ़ाया गौरव

चंडीगढ़:-अब से नहीं बल्कि शुरुआत से ही हमारी लड़कियां किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं रहीं | यहाँ हम बात करेंगे खेल के क्षेत्र की  तो आज हम ऐसी ही गर्ल प्लेयर्स के नाम आपको बताएँगे, जिन्होंने खेलकूद के क्षेत्र में देश का नाम रोशन किया है और अपने खेल में वे परफेक्ट रहीं 

कुश्ती हो, क्रिकेट हो या फिर ओलम्पिक, भारतीय महिलायें खेल के हर क्षेत्र में झंडे गाड़ रहीं है। महिला खिलाड़ियों की संख्या में काफ़ी वृद्धि हुई है और यह एक सकारात्मक बदलाव है। ये महिला खिलाड़ी देश में तो कमाल कर ही रहीं हैं, विश्व स्तर पर भी चमक रहीं हैं। इन खिलाड़ियों मेंआत्म-विश्वास गजब का है, इसलिए किसी भी परिस्थिति में वे अपने आत्मविश्वास को नहीं खोती हैं और उसके लिए वे प्रशंसा की पात्र हैं। यहां ऐसे ही महान भारतीय महिला खिलाड़ियों की सूची दी गई है। बाधाओं के बावजूद, ये खिलाड़ी आगे बढ़ रहीं हैं और सबको संदेश दे रहीं है कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में कम नहीं है, कड़ी मेहनत से उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकती हैं। विभिन्न वैश्विक खेल आयोजनों में, भारतीय महिला खिलाड़ियों पर मेडलों की बारिश इस बात का प्रमाण है।

  वर्तमान भारत में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में किसी से पीछे नहीं हैं। विशेषकर खेलकूद मे न केवल अपनी प्रतिभा से लोहा मनवा रही हैं, बल्कि अहम मुकाम भी हासिल कर लिया है। कुछ गर्ल प्लेयर्स ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न खेलों में स्वर्ण पदक हासिल करके भारत और अपने परिवार का नाम रोशन किया है। ऐसी ही 06 गर्ल प्लेयर्स को ओंकार चैरिटेबल फाउंडेशन की ओर चंडीगढ़ प्रेस क्लब में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान सम्मानित किया गया।

इस मौके पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के जज और डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विसेज ऑथोरिटी के सेक्रेट्री अशोक कुमार मान मुख्य अतिथि थे। जबकि डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विसेज ऑथोरिटी के को ऑर्डिनेटर नील रोबर्ट सहित समाजसेवी अस्तिन्दर कौर भी बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित थे। सम्मानित होने वाली 02 स्पेशल गर्ल प्लेयर्स की कोच शीतल नेगी सहित एन सी सी चंडीगढ़ यूनिट की ट्रेनर कमलजीत कौर भी इस अवसर पर उपस्थित थी। 

सम्मानित होने वाली खिलाड़ियों में पर्वतारोही रमनजोत कौर (अफ्रीका और यूरोप का सबसे ऊंचे पहाड़ की चढ़ाई (100 से ज्यादा मेडल ), एथलेटिक्स जसलीन कौर (90 से ज्यादा मेडल ), कल्पना (70 मेडल्स ) और आरती (40 मेडल्स) तथा 02 स्पेशल चाइल्ड काजल- तलवार बाजी (100 से ज्यादा मैडल) ओर श्रुति गदा स्पोर्ट्स (02 मैडल ) स्पोर्ट्स फील्ड में इन लड़कियों ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अपनी खेल प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए पदक हासिल किए। इनमें एक बात समान है कि सभी जुनूनी, मेहनती और अपने काम के प्रति समर्पित हैं।

ओंकार चैरिटेबल फाउंडेशन के चेयरमैन रविंद्र सिंह विल्ला ने कहा कि इन गर्ल प्लेयर्स ने अपने शानदार प्रदर्शन से देश का मान बढ़ाया है। 

प्लेयर्स प्रोफाइल्स:

कल्पना राष्ट्रीय बौद्धिक दिव्यांगजन पुनर्वास संस्थान ग्रिड सेक्टर 31 की छात्रा है,बचपन से ही खेलों के प्रति रुचि थी और उसने अपने बौद्धिक कठिनाइयों को पीछे छोड़ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रजत पदक हासिल करके भारत को गौरवान्वित किया।नवंबर 2019 में स्पेशल ओलंपिक्स एशिया पेसिफिक यूनिफाइड बैडमिंटन चैंपियनशिप में डबल्स की पार्टनर अर्पिता मलिक के साथ रजत पदक हासिल किया। बेडमिंटन,गोल्फ,हैंडबॉल,क्रिकेट, फ्लोरबॉल मे भी स्वर्ण पदक पाए।

आरती जो राष्ट्रीय बौद्धिक दिव्यांगजन पुनर्वास संस्थान ग्रिड सेक्टर 31 की छात्रा है। उसने अपने बौद्धिक कठिनाइयों को पीछे छोड़ कर भारत का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रजत पदक हासिल करके भारत को गौरवान्वित किया।नवंबर 2019 में स्पेशल ओलंपिक्स एशिया पेसिफिक नेटबॉल चैंपियनशिप में अपनी स्वर्ण पदक हासिल किया।आरती ने बास्केटबॉल, थ्रोबाल,क्रिकेट वे अन्या खेलो मे स्वर्ण, रजत पदक हासिल किये।अपनी कड़ी मेहनत से 2019 में नेटबॉल मे पांडिचेरी मे स्वर्ण पदक हासिल किया।

जसलीन कौर ने इंजीनियर इन कंप्यूटर साइंस एंड एमबीए एच आर मे करने के साथ साथ एथलेटिक्स की तरफ अपना पूरा ध्यान बनाए रखा। इंडियन वुमन अवॉर्ड 2021 गोल्ड मेडल, 40वीं नेशनल एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2020, नेशनल यूथ स्पोर्ट्स चैंपियनशिप गोवा 2021 में अपने शानदार प्रदर्शन कर पदक हासिल किए।

काजल ने 2009 मे तकरीबन 10 साल की उम्र में तलबारबाजी मे अपना करियर अपनी कोच मिसेज चरणजीत कौर की देख रेख मे शुरू किया। भारत को 7 अंतर्राष्ट्रीय है और 50 नेशनल इवेंट में रिप्रेजेंट किया। वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम जो इटली के नेपली मे हुआ था उसमे हिस्सा लिया था। 100 से ज्यादा मेडल अपने नाम कर चुकी 2016 स्टेट अवार्ड भी हासिल हुआ है।

रमनजोत कौर प्रोफेशनल पर्वतारोही और एथलीट है।उसके नाम एक अद्भुत विश्व रिकॉर्ड है। तंजानिया (अफ्रीका) का सबसे ऊंचा पर्वत किलो -मंजारो महज 24 घंटे में नीचे से ऊपर और ऊपर से नीचे कंप्लीट किया। इसके अलावा यूरोप का सबसे ऊंचा पहाड़ एल्बर्स (रूस) की चढ़ाई कंप्लीट की, एथलेटिक्स गतका और योग मे भी कई मेडल अपने नाम करवा चुकी है।

श्रुति बहुत पुराने भारतीय खेल *गदा* जिसको आजकल गदा के नाम से जाना जाता हैँ। इसमे दो मेडल हासिल करने के बाद 2020 मे तेलेंगाना मे होने वाली गदा सपोर्ट्स मे रेफरी की भूमिका निभाने जा रही है। आजकल सेल्फ डिफेंस ट्रेनर के तौर पर काम कर रही हो

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और खेल ख़बरें
व्हीलचेयर बाउंड के लिए शहर में पहली बार स्पोर्ट्स कार्निवाल का आयोजन पंजाब बनाम एचपीसीए- पंजाब 39 रन से आगे (दूसरे दिन के खेल के अंत तक) पुणे में एलीट ए ग्रुप के मैच पंजाब बनाम झारखंड पुणे— महाराष्ट्र में खेला जा रहा पंजाब सीए बनाम यूपीसीए का खेल एलुमनी क्रिकेट बैश 27-28 नवंबर को होगा बीसीसीआई अंडर -25 स्टेट ए 2021-22 मोहाली में पंजाब ने महाराष्ट्र को 5 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में किया प्रवेश अंडर-17 केटेगरी से हटाई दसवीं कक्षा तक की शर्त पंजाब ने गोवा को 17 रन से हराकर महिला सीनियर वनडे ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में किया प्रवेश टेक स्पोर्ट्स द्वारा पेश किया गया जीव मिल्खा सिंह इन्वीटेशनल 2021 गोल्फ प्रशंसकों को लुभाने के लिए तैयार