ENGLISH HINDI Monday, June 27, 2022
Follow us on
 
खेल

एलुमनी क्रिकेट बैश 27-28 नवंबर को होगा

November 26, 2021 09:51 AM

  चंडीगढ़ (आर.के.शर्मा)

भारत के चार सबसे प्रतिष्ठित, ऐतिहासिक और विरासत वाले बोर्डिंग स्कूल- दून स्कूल, मेयो कॉलेज, डेली कॉलेज और सिंधिया स्कूल के पुराने छात्रों के बीच खेला जाने वाला एलुमनी क्रिकेट बैश (एसीबी) 27 व 28 नवंबर को आईवीसीए डेरा बस्सी में खेला जायेगा। टूर्नामेंट की मेजबानी सिंधिया स्कूल ओल्ड बॉयज एसोसिएशन द्वारा की जा रही है। यह घोषणा आज यहां चंडीगढ़ प्रेस क्लब में की गयी।

सिंधिया स्कूल ओल्ड बॉयज एसोसिएशन, नॉर्थ के अध्यक्ष मितुल दीक्षित ने कहा, “एलुमनी क्रिकेट बैश सबसे प्रतिष्ठित वार्षिक क्रिकेट टूर्नामेंट बन गया है। इसका मुख्य उद्देश्य पुरानी बातों को भुलाकर नई दोस्ती करना और आपसी रिश्ते मजबूत करना है।” 

सिंधिया स्कूल ओल्ड बॉयज एसोसिएशन के अध्यक्ष, बंजुल बादिल ने कहा, "टूर्नामेंट की मेजबानी प्रत्येक पूर्व छात्र अपने-अपने स्कूल में बारी-बारी से करते हैं। वैश्विक महामारी के कारण, इस साल सिंधिया स्कूल के पूर्व छात्र चंडीगढ़ में इस टूर्नामेंट का आयोजन कर रहे हैं। 

दून स्कूल ओल्ड बॉयज टीम के मेंटर, डॉनी सिंह ने कहा, “यह आयोजन केवल मैदान पर प्रतिस्पर्धी क्रिकेट को लेकर नहीं है; यह सद्भावना, सौहार्द, मिलनसारिता को भी बढ़ावा देता है और नेटवर्किंग के लिए एक शानदार मंच प्रदान करता है। वर्ष 2014 में इसकी शुरुआत के बाद से हम इस दिशा में एक लंबा सफर तय कर चुके हैं।" 

सभी चार ऐतिहासिक बोर्डिंग स्कूल, जो सर्वांगीण शिक्षा के लिए स्वर्ग माने जाते हैं, अन्य स्कूलों के मुकाबले खेलों पर अधिक जोर देते हैं, जबकि बाकी स्कूलों में सिर्फ पढ़ाई पर ही जोर रहता है। एसीबी चारों स्कूलों के बीच संपर्क बढ़ाने का एक जरिया है, हालांकि, यह स्कूलों की आपसी पारंपरिक प्रतिद्वंद्विता को भी दर्शाता है। सभी स्कूलों के पूर्व छात्र संगठन गहराई से इस ईवेंट में शामिल हैं और इन्होंने एसीबी को अपने वार्षिक कैलेंडर में शामिल किया हुआ है।

इसमें दो खिलाड़ी 50 साल से ऊपर के, चार खिलाड़ी 30 साल से कम और पांच खिलाड़ी 30-50 साल के बीच की उम्र के होंगे। प्रत्येक टीम प्रतिस्पर्धी क्रिकेट कार्रवाई के दो दिनों में एक-दूसरे से भिड़ेगी। 

वीर विक्रम यादव, कैप्टन, मेयो कॉलेज, अजमेर ओल्ड बॉयज टीम ने कहा, “इस बहुप्रतीक्षित वार्षिक कार्यक्रम में चारों स्कूलों के कई प्रमुख पूर्व छात्र, बोर्ड ऑफ गवर्नर्स और गणमान्य व्यक्ति भाग लेंगे। यह चारों स्कूलों के पूर्व छात्रों के खेल कैलेंडर का एक मुख्य आकर्षण है।” 

डेली कॉलेज इंदौर की ओल्ड बॉयज टीम के कप्तान तेजवीर जुनेजा ने कहा, "हमें खुशी है कि भारत के सभी चार विरासत बोर्डिंग स्कूल - दून स्कूल, मेयो कॉलेज, डेली कॉलेज और सिंधिया स्कूल इस टूर्नामेंट का आयोजन कर रहे हैं। यह हम सभी पुराने दोस्तों के लिए एक यादगार अवसर है।" 

सभी चार ऐतिहासिक बोर्डिंग स्कूल, जो सर्वांगीण शिक्षा के लिए स्वर्ग माने जाते हैं, अन्य स्कूलों के मुकाबले खेलों पर अधिक जोर देते हैं, जबकि बाकी स्कूलों में सिर्फ पढ़ाई पर ही जोर रहता है। एसीबी चारों स्कूलों के बीच संपर्क बढ़ाने का एक जरिया है, हालांकि, यह स्कूलों की आपसी पारंपरिक प्रतिद्वंद्विता को भी दर्शाता है। सभी स्कूलों के पूर्व छात्र संगठन गहराई से इस ईवेंट में शामिल हैं और इन्होंने एसीबी को अपने वार्षिक कैलेंडर में शामिल किया हुआ है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और खेल ख़बरें