ENGLISH HINDI Friday, August 19, 2022
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पीएमसी में धूमधाम से मनाया गया जन्माष्टमी पर्वअग्निपथ योजना में फर्जी प्रवेश के 14 मामले पकड़ेपुलिस ने खरड़ के विद्यार्थी अपहरण कांड की गुत्थी सुलझायीवाहन फिटनेस सर्टिफिकेट घोटाले का पर्दाफाश, तीन गिरफ़्तार, 40,000 रुपए रिश्वत की रकम और दस्तावेज़ बरामद12,000 रुपए रिश्वत लेता सेवादार विजीलैंस ब्यूरो द्वारा रंगे हाथों काबू, एसडीओ की तलाश जारीविजीलैंस ने किया आरटीए दफ़्तर संगरूर में वाहनों के फिटनेस सर्टिफिकेट घोटाले का पर्दाफाश, आरटीए, एम. वी. आई., क्लर्कों, मध्यस्थों और एजेंटों के विरुद्ध केस दर्ज1000 रुपए रिश्वत लेने के आरोप में हवलदार गिरफ़्तार87 कंडम कारें धोखे से बेचने के लिए कबाड़ीए समेत 3 व्यक्ति गिरफ्तार, 40 कारें बरामद
पंजाब

ड्रग इंस्पेक्टर व अस्पताल कर्मचारी 30,000 रुपए रिश्वत लेते किया काबू

June 29, 2022 07:51 PM

 पठानकोट, फेस2न्यूज:

पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने आज सिविल अस्पताल पठानकोट के दर्जा-4 कर्मचारी राकेश कुमार को 30000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया गया है। इस मामले में ड्रग इंस्पेक्टर, पठानकोट बबलीन कौर को भी गिरफ़्तार किया गया है।

विजीलैंस ब्यूरो प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी राकेश कुमार को पठानकोट-निवासी व्यक्ति की शिकायत पर गिरफ़्तार किया गया है, जिसने विजीलैंस ब्यूरो के पास पहुँच करके बताया था कि उसने मामुन में मेडिकल स्टोर खोलने के लिए लायसेंस लेने के लिए ऑनलाइन अप्लाई किया था।

शिकायतकर्ता को बाद में ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर ने फ़ोन करके इस सम्बन्धी सिविल अस्पताल पठानकोट में दर्जा 4 कर्मचारी राकेश कुमार, जो पहले उसके साथ तैनात था, के साथ संपर्क करने के लिए कहा।

शिकायतकर्ता 28 जून को सिविल अस्पताल पठानकोट में राकेश कुमार को मिला, जिसने बबलीन कौर से उसका काम करवाने के बदले एक लाख रुपए रिश्वत की माँग की, जिसको बाद में घटा कर 90000 रुपए कर दिया गया।
प्रवक्ता ने बताया कि शिकायतकर्ता 28 जून को रिश्वत की पहली किश्त के तौर पर 30000 रुपए देने के लिए सहमत हो गया।

विजीलैंस ब्यूरो की टीम ने मुलज़िम राकेश कुमार को दो सरकारी गवाहों की हाज़िरी में 30000 रुपए की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू कर लिया। बाद में इस केस में शामिल होने के कारण ड्रग इंस्पेक्टर, पठानकोट बबलीन कौर को भी गिरफ़्तार किया गया।
ज़िक्रयोग्य है कि विजीलैंस ब्यूरो की तरफ से हाल ही में भ्रष्टाचार के दोषों के अंतर्गत कई सरकारी अधिकारियों/कर्मचारियों और अन्यों की गिरफ़्तारियाँ की गई हैं।
उन्होंने बताया कि इस सम्बन्धी थाना विजीलैंस रेंज अमृतसर में भ्रष्टाचार रोकथाम एक्ट की धारा 7 के अंतर्गत एफ. आई. आर. नम्बर 08 28 जून को दर्ज कर ली गई है और इस सम्बन्धी आगे कार्यवाही जारी है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पुलिस ने खरड़ के विद्यार्थी अपहरण कांड की गुत्थी सुलझायी वाहन फिटनेस सर्टिफिकेट घोटाले का पर्दाफाश, तीन गिरफ़्तार, 40,000 रुपए रिश्वत की रकम और दस्तावेज़ बरामद 12,000 रुपए रिश्वत लेता सेवादार विजीलैंस ब्यूरो द्वारा रंगे हाथों काबू, एसडीओ की तलाश जारी विजीलैंस ने किया आरटीए दफ़्तर संगरूर में वाहनों के फिटनेस सर्टिफिकेट घोटाले का पर्दाफाश, आरटीए, एम. वी. आई., क्लर्कों, मध्यस्थों और एजेंटों के विरुद्ध केस दर्ज 1000 रुपए रिश्वत लेने के आरोप में हवलदार गिरफ़्तार 87 कंडम कारें धोखे से बेचने के लिए कबाड़ीए समेत 3 व्यक्ति गिरफ्तार, 40 कारें बरामद पंचायती फंडों में 8 लाख रुपए का गबन करने पर जेई, पंचायत सचिव और पूर्व सरपंच गिरफ़्तार सखी वन स्टाप सैंटरों के जि़ले-वार संपर्क नंबर जारी फसली अवशेष संभाल के लिए वितरित की मशीनों में 150 करोड़ रुपए के घपले की विजीलैंस जांच के आदेश एन. ओ. सी. जारी करने के बदले 3000 रुपए की रिश्वत लेता कानूनगो रंगे हाथों काबू