ENGLISH HINDI Wednesday, March 29, 2023
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
जीरकपुर के ढकोली और बलटाना में 29 मार्च को सुबह 9 से शाम 7 बजे तक बंद रहेगी बिजली19वीं राष्ट्रीय माउंटेन बाइक प्रतियोगिता में अंतर्राष्ट्रीय खिलाडी जलवा दिखाने के लिए पहुंचे मोरनीसीमा पर फेंसिंग के पास एक खेत से 02 पैकेट संदिग्ध हेरोइन और 01 चीनी पिस्तौल बरामदभारतीय वैज्ञानिकों और विज्ञान संस्थान की भूमिका विषय पर सेमिनार आयोजितपद का दुरूपयोग व रिकॉर्ड में गड़बड़ी करने के आरोप में नायब तहसीलदार, पटवारी, एक महिला के खिलाफ मामला दर्जएल्सवेर और हीरो रियल्टी आयोजित करेंगे दो-दिवसीय थिंक फेस्ट 'स्पीकिंग अलाउड 2023'एचडब्ल्यूसी-37 में 10 दिनी पंचकर्म और शिरोधारा शिविर 28 सेशुद्धता के हकदार है ग्राहक : सुरेन्द्र वर्मा
धर्म

गौड़ीय मठ में गोवर्धन पूजा महोत्सव में उमड़ा जनसैलाब, चावलों से बनाया गया गोवर्धन पर्वत का रूप रहा मुख्य आकर्षण

October 27, 2022 09:50 AM

आर के शर्मा/चंडीगढ़

श्री चैतन्य गौड़ीय मठ, से. 20, चण्डीगढ़ में गोवर्धन पूजा अन्नकूट महोत्सव अखिल भारतीय श्री चैतन्य गौड़ीय मठ संस्थान के आचार्य एवं अध्यक्ष श्री भक्ति विचार विष्णु महाराज जी के सानिध्य में आयोजित किया गया।

मठ के प्रवक्ता जयप्रकाश गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि सुबह मंगला आरती के पश्चात प्रभात फेरी का आयोजन किया गया। भक्तों को संबोधित करते हुए स्वामीभक्ति विचार विष्णु महाराज जी ने कहा कि जब ब्रज वासियों ने इंद्र देवता की पूजा करने से मना कर दिया तो क्रोधित होकर इंद्र देवता ने ब्रज मंडल को बारिश द्वारा पानी में डुबोने का निर्णय ले लिया, लेकिन भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी तर्जनी उंगली पर गोवर्धन पर्वत को उठा कर ब्रजवासियों को पर्वत के नीचे बुला कर उनकी पानी और वर्षा से रक्षा की।

भगवान गोवर्धन को 56 भोग के व्यंजन अर्पित किए गए व भोग आरती के पश्चात हजारों की संख्या में लोगों ने भंडारा प्रसाद ग्रहण किया। भक्तों के चेहरों पर उमंग उल्लास झलक रहा था। उन्होंने हरि नाम संकीर्तन नृत्यगान कर अपनी श्रद्धा प्रकट की और गिरिराज धरण को नतमस्तक किया।

आज ही के दिन भगवान कृष्ण ने ब्रजवासियों की रक्षा की थी, इसलिए गोवर्धन पूजा हजारों वर्षों से मनाया जा रहा है। आज के कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण चावलों से गोवर्धन पर्वत का रूप बनाया गया था। हजारों की संख्या में लोगों ने उपस्थित होकर भगवान श्री गोवर्धन धाम लीला के दर्शन किए एवं अपने श्रद्धासुमन भेंट किए।

भगवान गोवर्धन को 56 भोग के व्यंजन अर्पित किए गए व भोग आरती के पश्चात हजारों की संख्या में लोगों ने भंडारा प्रसाद ग्रहण किया। भक्तों के चेहरों पर उमंग उल्लास झलक रहा था। उन्होंने हरि नाम संकीर्तन नृत्यगान कर अपनी श्रद्धा प्रकट की और गिरिराज धरण को नतमस्तक किया।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और धर्म ख़बरें
प्राचीन शिव मंदिर में मंत्रोंच्चरणों के साथ होगा शिवलिंग अभिषेक व अटूट भंडारा ब्रह्मर्षि बावरा जी महाराज का जयंती महोत्सव शुरू, आश्रम में हुआ शतचंडी महायज्ञ बाबा बालक नाथ जी की भव्य चौकी का आयोजन, पंजाबी गायकों ने एक से बढक़र एक भजन गाकर किया भक्तों को निहाल उपमन्यु ब्राहम्ण परिवार ने कुलदेवी के मंदिर में मनाया सालाना समारोह भ्रमण को निकले साईं : हज़ारों श्रद्धालुओं ने जगह जगह किया स्वागत परम पूज्य श्री सुधांशु जी महाराज का 4-दिवसीय गीता ज्ञान सत्संग 10 नवंबर से पंचकुला में विशाल साईं भजन संध्या, हजारों श्रद्धालुओं ने लगवाई हाजिरी श्रीमद् भागवत महापुराण कथा के उपलक्ष में निकाली शोभायात्रा अक्षरधाम में मनाए गए गोवर्धनपूजा और अन्नकूट महोत्सव इस्कॉन टेंपल में गोवर्धन पूजा, भजन और कीर्तन में उमड़े हजारों लोग