ENGLISH HINDI Sunday, January 23, 2022
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पटियाला की अनधिकृत जगह पर छिपाई गई शराब की 2718 पेटियों की बड़ी खेप का पर्दाफाशबटन दबाते ही पता लग जायेगी चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार की पृष्टभूमि, अपराधिक रिकार्डः डॉ. राजूषड्यंत्र के तहत पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश कर रही कांग्रेस: चड्ढाहिन्दू संगठन मोहम्मद मुस्तफा खिलाफ करवाएंगे परचा दर्ज: सिंगलालोगों को शुद्ध हवा, पानी और धरती की आवाज़ बनने का न्योताइंडिया इंडिया फीलिंग: विकास धवन ने अपनी इस किताब में अपने बचपन के भारत के रंगों को बिखेराउड़ान एम्पावरमेंट ट्रस्ट ने दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित किया म्यूजिक टैलेंट हंट कार्यक्रम उड़ान आइडल-2022क्या कोविड एक मामूली संक्रमण बन कर दशमलवित हो सकता है?
कविताएँ

मां भारती

August 14, 2020 09:16 AM

— रोशन
मां है ये भारती
काम है सबके सारती
लेती है सदा बलैइयां
बिगड़े काम संवारती
उतारें हम—सब
मिलकर इसकी आरती
भारती मां भारती
स्नेह से निहारती
पूत इसके तने खड़े
सजग प्रहरी पहरे पे खड़े
पर्वत से हैं अड़े
जां भी कर देते न्यौछावर
जब पुकारती मां भारती

जब जब
सीमा पर दुश्मनों ने
सीमा के अंदर गद्दारों ने
ललकारा है
मां भारती के सपूतों ने
उन्हें संहारा है
क्या बिगाड़ेगा इसका कोई
इसके सिंहों की गर्जना दहाड़ती
चक्रवर्ती विश्वजयी सपूतों की
मातृभूमि नहीं हारती
सबका मान भारती
सम्मान भारती
भारती मां भारती
स्वीकार हो नमन
मेरा मां भारती

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें