ENGLISH HINDI Sunday, February 25, 2024
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पंजाब

चलती बस में लगी आग, 15 मिनट में जल कर सवाह, बठिंडा से लुधियाना जा रही थी बस, बस में सवार सभी 42 सवारियां सुरक्षित उतरे

December 01, 2023 09:32 PM

अखिलेश बंसल, बरनाला

शुक्रवार की बठिंडा से लुधियाना जा रही निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी की बस को बरनाला पहुंचते ही आग लग गई, इससे पहले कि आग भयानक हो जाती बस में सवार सभी यात्री उनके समान समेत सुरक्षित उतार लिए गए। घटनास्थल पर पहुंचे दमकल विभाग के तीन वाहनों ने आग पर काबू पाया। जिसके बाद यातायात व्यवस्थित हो सका।

शार्ट सर्किट से हुआ हादसाः एम.एच. ट्रांसपोर्ट कंपनी की बस (नंबर पीबी 19 एम 2707) जो कि बठिंडा से लुधियाना जा रही थी, जिसमें बस चालक और परिचालक के अलावा 42 पैसेंजर सवार थे। बरनाला के तर्कशील चौक के पास पहुंचते ही बस में शार्ट-सर्किट हो गया, चलती बस में जैसे ही स्पार्क हुआ, कंडक्टर द्वारा आवाज लगाने पर बस चालक ने बस को तुरंत रोक दिया। सवारियों को अपने अपने सामान सहित बस से नीचे उतरने को बोला गया। काफी सवारियों को बस चालक ने अपनी चालक विंडो से नीचे उतारा। सभी यात्रियों के नीचे उतरते ही आग ने एकदम भयानक रूप ले लिया। बस कंडक्टर जगजीवन ने बस के मालिक और फायर ब्रिगेड को फोन किया, इससे पहले कि बस का मालिक घटनास्थल पर पहुंचता उससे पहले दमकल विभाग की पहुंची तीन गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। घटनास्थल पर पहुंचे डीएसपी सिटी सतबीर सिंह के नेतृत्व में पुलिस जवानों ने यातायात को व्यवस्थित किया।

सवाल छोड़ गई घटनाः

1. हालांकि निजी बस कंपनियां अपनी संपत्ति को हर तरफ से सुरक्षित रखने के लिए पूरी कोशिश करती हैं, फिर बस में शार्ट सर्किट कैसे हुआ।

2. बस में अग्निशमक यंत्र क्यूं नहीं रखे गए थे और शार्ट सर्किट को रोकन् का मेन स्विच बस चालक के पास क्यूं नहीं था।

3. यदि चलती बस में पैसेंजरों/चालक/परिचालक के साथ कोई अप्रिय घटना घट जाती तो क्या बस मालिक द्वारा पैसेंजरों का बीमा करवाया जाता है या नहीं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
एआईजी मालविन्दर सिंह सिद्धू केस में मुलजिम कुलदीप सिंह ने किये अहम खुलासे पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक बजट सत्र बुलाने की मंजूरी असम से चार साईबर धोखेबाज़ों को किया गिरफ़्तार 10,000 रुपये रिश्वत लेते ए.एस.आई काबू नगर निगम कर्मचारियों के नाम पर 30,000 रुपए की रिश्वत लेने वाला विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू 20 हज़ार रुपए रिश्वत लेता सहायक बैंक मैनेजर विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू जीरकपुर के तहसीलदार को 5 हजार रुपए का जुर्माना 3000 रुपए की रिश्वत लेता सीनियर कॉन्स्टेबल विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू ए.आई.जी. मालविन्दर सिंह सिद्धू केस में वांछित आरोपी कुलदीप गिरफ़्तार तहसीलदार के नाम पर लाख रुपए रिश्वत मांगने वाला व्यक्ति गिरफ़्तार