ENGLISH HINDI Wednesday, August 17, 2022
Follow us on
 
व्यापार

ऐलांते मॉल ने दर्ज की 90 प्रतिशत बिज़नेस रिकवरी

October 24, 2021 05:37 PM

’’बड़ी खरीददारी कीजिए. बड़े विजेता बनिए, केवल ऐलांते में’’, आईआरएफ मोस्ट ट्रस्टेड मार्क हासिल करने वाला ऐलांते मॉल देश का पहला मॉल बना 

  चंडीगढ़: अनलॉक 2.0 के बाद जब फिर से मॉल खुले हैं तब से ऐलांते मॉल ने 90 प्रतिशत बिज़नेस रिकवरी कर ली है। यह आंकड़ा वर्ष 2019 के समान महीनों के आधार पर है।

जानकारी देते हुए जयन नाइक, सीनियर वाईस प्रेजिडेंट- आपरेशन एंड प्रोजेक्ट, नेक्सस मॉल ने कहा कि बीते 18 महीने देश में सभी के लिए कठिन रहे हैं। महामारी के दौरान बहुत सी चीज़ें बदली हैं जिनमें ग्राहकों का व्यवहार, शॉपिंग पैटर्न और ट्रैंड भी शामिल हैं। अब कुछ समय से ग्राहक फिर से बाहर निकलने लगे हैं, वे सिर्फ यूंही स्टोर में नहीं आते, वे ब्रांड का समग्र अनुभव लेना चाहते हैं।

जब ग्राहकों की सोच में बदलाव आ रहा था तब दूसरी तरफ एक बड़ा बदलाव यह हो रहा था की प्रीमियम ब्रांड शहर के समग्र चरित्र को विकसित करने की कोशिश कर रहे थे।

अब जो लोग मॉल में आ रहे हैं वे अपने बारे में पहले से अधिक जागरुक हैं और उन्हें सटीकता के साथ पता है की उन्हें क्या चाहिए, उन्हें पता है की उनकी पसंद की वस्तु मॉल में उन्हें कहां और किस कीमत पर मिलेगी। लोग मॉल में जो वक्त बिताते थे वह काफी घट गया है किंतु जितने की खरीद वे करते हैं वह रकम बढ़ गई है।

अनिल मल्होत्रा, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर- कॉर्पोरेट अफेयर, हॉस्पिटैलिटी, आफिसस और सीएसआर, नेक्सस मॉल ने कहा कि ऐलांते मॉल में हम फास्ट-टैग पार्किंग अमल में लाए हैं, यह मॉल के प्रवेश द्वार पर टैग को स्कैन करता है और निकासी के समय अपने आप पार्किंग शुल्क काट लेता है।

सलीम रूपानी, सेंटर डायरेक्टर, एलांते मॉल ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि इस साल के त्योहारों के लिए ऐलांते मॉल ने ’साउंड ऑफ हैप्पीनेस’ के शीर्षक से साज-सज्जा की है। यह सजावट मंदिरों की शानदार घंटियों से प्रेरित है, इस थीम के माध्यम से मॉल का इरादा है आध्यात्मिकता, सकारात्मकता तथा देवताओं और देवियों के आशीर्वाद का भाव जगाना। मान्यता है की जब मंदिरों में घंटियां बजती हैं तो प्रभु वहां उतर आते हैं। यह थीम घंटी के प्रत्येक हिस्से की दिलचस्प अहमियत को भी उजागर करती है।

इससे कार पार्किंग के निकास द्वार पर इंतजार का समय बहुत कम हो गया है। हमने अपने सभी कर्मचारियों एवं रिटेल पार्टनरों के लिए एक नए साफ्टवेयर का इस्तेमाल भी शुरु किया है। इस साफ्टवेयर के जरिए वे मॉल के किसी भी मुद्दे को उठा सकते हैं और वह तत्काल संबंधित विभाग तक पहुंच जाता है। हमने पूरे मॉल परिसर में क्यूआर कोड भी इंस्टॉल किए हैं ताकी समस्या या मुद्दे को उठाते वक्त सिस्टम में लोकेशन को चिन्हित किया जा सके।

बीते वर्षों के अपने अनुभवों से मिली सीख को अमल में लाते हुए और मॉल में आगंतुकों का शॉपिंग अनुभव बेहतर बनाने के लिए ऐलांते मॉल ने फैसला किया की सभी खरीददारों को वापसी में कुछ भेंट किया जाएगा। जितने ज्यादा की खरीद होगी उतना ही बड़ा तोहफा रहेगा और इसका यह भी तात्पर्य रहा की ऐलांते मॉल में शॉपिंग करने वाले बहुत से लोग अपने साथ कुछ अतिरिक्त लेकर घर लौटे। दिवाली तक ऐलांते मॉल में यह ऐक्सक्लूसिव शॉप एंड विन जारी रहेगा।

सलीम रूपानी, सेंटर डायरेक्टर, एलांते मॉल ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि इस साल के त्योहारों के लिए ऐलांते मॉल ने ’साउंड ऑफ हैप्पीनेस’ के शीर्षक से साज-सज्जा की है। यह सजावट मंदिरों की शानदार घंटियों से प्रेरित है, इस थीम के माध्यम से मॉल का इरादा है आध्यात्मिकता, सकारात्मकता तथा देवताओं और देवियों के आशीर्वाद का भाव जगाना। मान्यता है की जब मंदिरों में घंटियां बजती हैं तो प्रभु वहां उतर आते हैं। यह थीम घंटी के प्रत्येक हिस्से की दिलचस्प अहमियत को भी उजागर करती है।

घंटी की ध्वनि को पावन माना जाता है जो दिव्यता का स्वागत करती है और बुराई को दूर भगाती है। घंटी का स्वर मन में चल रहे विचारों से मानव को शांति प्रदान करता है जिससे वह ईश्वर की कृपा के प्रति ज्यादा ग्रहणशील हो जाता है। कहते हैं की प्रार्थना के समय घंटी बजने से भटकते विचारों को काबू करने और प्रभु पर केन्द्रित करने में सहायता मिलती है।

इस त्योहारी मौसम में मॉल में रंगबिरंगे हैंगिंग, घंटियां लगाई गई हैं और प्रांगण में रोशनी की गई है। इंटीरियर थीम और सजावट प्रत्येक आगंतुक को त्योहारों का बेहतरीन ऐहसास देंगे और उनका शॉपिंग अनुभव ज्यादा आनंदकारी हो जाएगा। शॉपिंग अनुभव को और ज्यादा मजे़दार बनाने के लिए शॉप एंड विन कैम्पेन के तहत इस त्यौहारी सीज़न ज्यादा ऑफर और गिफ्ट वाउचर पेश किए गए हैं। ऐलांते मॉल में हर 30,000 की शॉपिंग पर ग्राहकों के पास मौका रहेगा की वे अपना उपहार खुद चुन सकें।

इस वर्ष नेक्सस मॉल्स में ग्राहक भी योगदान करते हुए घंटिया खरीदकर साउंड ऑफ हैप्पीनेस में इज़ाफा कर सकते हैं। आपके योगदान से प्राप्त धन को उन लोगों की मदद हेतु दिया जाएगा जो बीते 18 महीनों में कोविड के चलते अपने परिवार के सदस्य को गंवा चुके हैं।

न्यू नॉर्मल में ऐलांते मॉल यह सुनिश्चित कर रहा है की मॉल परिसर में उसके सभी संरक्षकों, रिटेलरों व स्टाफ का स्वागत सुरक्षा एवं स्वच्छता के सभी उपायों के साथ किया जाए जो की स्थानीय प्रशासन द्वारा निर्देशित हैं। (इस आंकड़े के लिए वर्ष 2019 को आधार बनाया गया है)

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और व्यापार ख़बरें
ग्लोब टोयोटा रीजन के एसयूवी मार्केट में अपनी मौजूदगी का विस्तार करने के लिए तैयार एचडीएफसी बैंक की तीन दिवसीय ऑटो एक्सपो शुरू व्हाइटओक कैपिटल म्यूचुअल फंड ने अपना पहला एनएफओ “व्हाइटओक कैपिटल फ्लेक्सी कैप फंड’’ लॉन्च किया सोनालीका ने लॉन्च किया टाइगर डीआई 75 4डब्लयूडी ट्रैक्टर जालंधर में मीनाक्षी स्पीच एंड हियरिंग क्लीनिक का उद्घाटन ब्लू स्टार ने ग्राहकों के लिए डीप फ्रीजर की नई रेंज की लांच मर्सिडीज़-बेंज ने पंजाब में सबसे उन्नत सी-क्लास का अनावरण किया; अपना सेडान पोर्टफोलियो मजबूत किया पार्षद मनोज सोनकर ने मनीमाजरा में वेव लेंग्थ सैलून का उद्घाटन किया डाइकिन ने स्प्लिट रूम एसी की नई रेंज लॉन्च की गेमर्स , वीडियो एडिटर्स के लिए चंडीगढ़ सेक्टर 20 में अब पहला एक्सपीरियंस जोन ओपन