ENGLISH HINDI Wednesday, May 29, 2024
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कांग्रेसी उम्मीदवार डॉक्टर धर्मवीर गांधी के समर्थन में जनसभा का आयोजनशार्पनर ने लॉंच किया नया गाना "इंजीनियरिंग एंथम - सीढ़ी है छोटी और ख्वाब है बड़े"राजस्थान हाई कोर्ट का जिला कलेक्टर पाली को साक्ष्य अधिनियम के तहत सूचना देने का आदेशआचार्यकुल चण्डीगढ़ ने सम्मान समारोह आयोजित कियाजय केदार व हर-हर महादेव के जयकारों के बीच श्री केदारनाथ धाम के लिए राशन लदे 4 ट्रक रवानारमनजीत कौर चहल की संसद में हुई बतौर हिंदी व अंग्रेजी से पंजाबी लाइव स्पीच ट्रांसलेटर सिलेक्शनविख्यात खानदानी वैद्य हरभजन सिंह योगी की 80वीं वर्षगांठ पर आइस क्रीम का लंगर लगायाबारहवीं कक्षा के अभिनव शर्मा ने 91.4 फ़ीसदी अंक लेकर रहे अव्वल
पंजाब

भारतीय सेना में तैनात अग्निवीर जवान सुखविंदर सिंह ड्यूटी के दौरान शहीद

April 17, 2024 07:39 PM

अखिलेश बंसल/बरनाला
 

जिला बरनाला के गांव मेहता का अग्निवीर जवान जम्मू-कश्मीर में ड्यूटी करते शहीद हो गया। जिसका पार्थिव शव सुबह गांव पहुंचा। और उसका सरकारी सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। सेवानिवृत्त सूबेदार नायब सिंह के अग्निवीर पुत्र शहीद जवान सुखविंदर सिंह की उम्र मात्र 22 साल की थी। 

दो साल भी नहीं हुए थे भर्ती हुए कोः

शहादत को प्राप्त हुआ अग्निवीर शहीद जवान सुखविंदर सिंह पौने दो साल पहले ही भारतीय सेना में एक सैनिक के रूप में शामिल हुआ था। उन्होंने गुरु नानक स्कूल घुन्नस-तपा से बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण की। स्नातक की डिग्री हासिल करने के लिए जैसे ही विश्वविद्यालय में दाखिला लिया था तो उसी दौरान सुखविंदर सिंह को अग्निवीर सेना में नौकरी मिली और उसने डिग्री हासिल करने समेत सभी कुछ एक तरफ करते देश की सेवा करने का चयन किया।

उल्लेखनीय है कि जवान सुखविंदर सिंह भारतीय सेना के अग्निवीर युनिट 4 में था। जैसे ही सुबह होते ही परिवार के पास जम्मू-कश्मीर से फोन से सूचना मिली कि उनका बेटा ड्यूटी के दौरान शहीद हो गया है, तो पूरा परिवार सन्न सा रह गया।

बेटे की जगह पिता ने बेटे को दी मुखाग्निः

बुधवार की सुबह भारतीय सेना के वरिष्ठ अधिकारी कर्नल सोनू कुमार के नेतृत्व में अग्निवीर जवान सुखविंदर सिंह का शव सेना वाहन से गांव पहुंचा तो मां रणजीत कौर, परिवार और पूरे गांववासियों का रो-रो बुरा हाल हो गया। गौरतलब है कि शहीद जवान का बड़ा भाई विदेश (कनाडा) गया है, जो ऐन मौके पर वह नहीं पहुंच सका। जिसको लेकर बेटे को मुखाग्नि बदनसीब पिता ने अपने हाथों से दी। 

सरकारी सम्मान के साथ किया संस्कार

करीब 10 बजे शहीद के पार्थिव शरीर को सेना वाहन द्वारा ही श्मशान घाट ले जाया गया। इस अवसर पर सैनिक कल्याण विभाग के अधिकारी, एसडीएम तपा सुमनप्रीत कौर, डी.एस.पी. तपा मानवजीत सिंह सिद्धू, तहसीलदार राजेश आहूजा, नायब तहसीलदार सुनील गर्ग, और विधायक लाभ सिंह ने श्रद्धांजलि अर्पित की।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
कांग्रेसी उम्मीदवार डॉक्टर धर्मवीर गांधी के समर्थन में जनसभा का आयोजन डेयरी की आड़ में गोवंश को बूचड़खाना भेजने के आरोपित के खिलाफ एफआईआर फिजियोथैरेपी एवं होम्योपैथी चिकित्सा परामर्श कैंप आयोजित दीपक चनारथल पंजाब के 50 शक्तिशाली व्यक्तियों में शामिल किसानों ने रुकवाई संगरूर के पत्रकार के घर की कुर्की जेल में भिड़े कैदी, दो की मौत-दो घायल, 10 के खिलाफ मामला दर्ज भारत-पाक बॅार्डर पर बैसाखी उत्सव की धूम : पाकिस्तानी भी भांगड़े व गिद्दे पर थिरके बरनाला के बहुचर्चित सन्नी हत्याकांड में आरोपित हुए बा-इज्जत बरी वरिष्ठ पत्रकार जगीर सिंह जगतार का निधन गतका खेल लड़कियों के लिए आत्मरक्षा का बेहतर, आसान और सस्ता विकल्प - हरजीत सिंह ग्रेवाल