ENGLISH HINDI Sunday, August 16, 2020
Follow us on
 
अंतर्राष्ट्रीय

ब्रिटेन के सांसद तनमनजीत ढेसी को ‘न्यूकमर एम.पी. आफ द ईयर’ पुरुस्कार

April 21, 2020 08:36 PM

  चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
ब्रिटेन के पहले दसतारधारी सिख संसद मैंबर तनमनजीत सिंह ढेसी को पैचवरक फाऊंडेशन यू.के. ने ‘न्यूकमर एम.पी. आॅफ द ईयर’ पुरुस्कार प्रदान किया है।

इस अवार्ड को सवीकार करते हुए ढेसी ने कहा, ‘‘संसद में मुझे मेरे द्वारा किये गए कार्यों को मान्यता देकर न्यूकमर एम.पी. आॅफ द ईयर पुरुस्कार से सम्मानित किया जाना मेरे लिए बहुत गर्व की बात है। मैं लोगों का बहुत शुक्रगुजार हूँ जिन्होंने मुझे वोट देकर चुना और पैचवरक फाउंडेशन का भी धन्यवादी हूँ, जो बिना किसी पक्षपात के शानदार काम कर रहा है। साल 2017 में चुने जाने के बाद, मैंने बहुत कड़ी मेहनत की है और यह आगे भी जारी रखूँगा। अब हमें कमजोर लोगों की आवाज सुनना यकीनी बनाऐ जाने की जरूरत है।’’

पंजाबी कल्चरल कौंसिल के चेयरमैन हरजीत सिंह गरेवाल, स्टेट अवार्डी, ने ढेसी को यह प्रतिष्ठित पुरुस्कार हासिल करने के लिए बधाई दी और कहा कि पूरे यूरोप में पहले दस्तारधारी सिख संसद मैंबर होने के नाते ढेसी ने हमेशा ब्रिटेन की संसद में अल्पसंख्यकों के मुद्दे उठाए हैं। गरेवाल ने कहा कि तनमनजीत सिंह ढेसी ने अपने हलके के साथ जुड़े सार्वजनिक मसलों के साथ-साथ प्रवासी भारतीयों के साथ जुड़े मुद्दों को उभारते हुए हमेश ही मसाली काम किये हैं।

 

ढेसी के साथ ही संसद मैंबर साजिद जावेद को ‘एम.पी. आॅफ द ईयर’ पुरुस्कार मिला है।
पैचवरक फाउंडेशन के सीईओ इमरान सनउल्ला ने कहा, ‘‘संसद मैंबर ढेसी को घृणापूर्ण अपराध और भाईचारक एकता के लिए किये कार्यों स्वरूप सम्मानित किया गया है।’’
जिक्रयोग्य है कि अल्पसंख्यक वर्ग वाले समुदायों के साथ जुड़ी शख़्सियत को एमपी आॅफ द ईयर पुरुस्कार के साथ सम्मानित किया जाता है। यह प्रतिष्ठित पुरुस्कार परंपरागत तौर पर वेस्टमिन्स्टर स्थित महल के अंदर स्पीकर हाऊस में प्रदान किया जाता है जिसमें नामांकित और पुरुस्कार विजेताओं के अलावा देश भर के संसद मैंबर, हलके मैंबर, मास्टर क्लास ग्रैजुएट और कम्युनिटी नेता शामिल होते हैं।
इस दौरान पंजाबी कल्चरल कौंसिल के चेयरमैन हरजीत सिंह गरेवाल, स्टेट अवार्डी, ने ढेसी को यह प्रतिष्ठित पुरुस्कार हासिल करने के लिए बधाई दी और कहा कि पूरे यूरोप में पहले दस्तारधारी सिख संसद मैंबर होने के नाते ढेसी ने हमेशा ब्रिटेन की संसद में अल्पसंख्यकों के मुद्दे उठाए हैं। गरेवाल ने कहा कि तनमनजीत सिंह ढेसी ने अपने हलके के साथ जुड़े सार्वजनिक मसलों के साथ-साथ प्रवासी भारतीयों के साथ जुड़े मुद्दों को उभारते हुए हमेश ही मसाली काम किये हैं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और अंतर्राष्ट्रीय ख़बरें
भारतीय सशस्त्र बलों की टुकड़ी ने लिया मॉस्को, रूस में विजय दिवस परेड में हिस्सा 'आर्ट विद हार्ट' के साथ विश्वपटल पर फैलती मधुबनी पेंटिंग दिल्ली में जन्मी, पंजाब में खेली, अमलनेर-अमेरिका में ब्याही डॉ. रश्मि पर टिकी कोरोना वैक्सीन तैयार करने की उम्मीद लेबर पार्टी ने यूके संसद मैंबर ढेसी को बनाया शैडो रेल मंत्री, पंजाबी कल्चरल कौंसिल ने दी बधाई पाकिस्तानी पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को राजद्रोह मामले में फांसी की सजा जर्मनी और भारत ने कृषि बाजार विकास सहयोग के संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किये लंदन में शोभा यात्रा के साथ संपन्न हुआ 3 दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव लंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने स्वीकारा रामायण कांक्लेव का आमंत्रण खास खबर-महाराजा रणजीत सिंह की कांस्य प्रतिमा का लाहौर में किया जा रहा अनावरण मिस इंडिया वल्र्ड वाईड श्रीसैनी के सहयोग से जरूरतमंद बच्चों के लिये इकट्ठे हुए डेढ लाख डॉलर