ENGLISH HINDI Sunday, June 16, 2024
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
विधानसभा चुनावों में जोर पकड़ेगी हरियाणा के लिए नई राजधानी और अलग उच्च न्यायालय की मांग : रणधीर सिंह बधरानधर्मांतरण के खिलाफ आवाज उठाने का खामियाजा भुगत रहीं हैं वनीत कौर : जेल जाने से लेकर पति से अलगाव भी सहन कियाशिमला, चंबा, सिरमौर, मंडी और कुल्लू में स्थापित होंगी एनडीआरएफ की छोटी टुकड़ियांज्योतिष सम्मेलन में कुंडली दिखाने उमड़े लोग, प्रख्यात ज्योतिषाचार्य नवदीप मदान सम्मनितगुरुद्वारा नानकसर साहब में गुरु अर्जुन देव जी के शहीदी दिवस पर लगाई छबील अगर हम परमात्मा का नाम किसी भी बहाने से लेंगे तो हमारा कल्याण हो जाएगा : स्वामी राज दास जी महाराज चायल मेले में महकी स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों की खुशबूसीआईएसएफ कांस्टेबल को सम्मानित करेगा दिशा वूमेन वेलफेयर ट्रस्ट
एन. आर. आई.

पात्र, पन्नू, बैंस ने की मिंटू बराड़ की पुस्तक कैंगरूनामा रिलीज

February 22, 2014 07:07 PM

चंडीगढ (फेस2न्यूज ब्यूरो ) 

कुकाबारा मैगजीन व हरमन की डिजीटल लाइब्रेरी भी रिलीज, प्रसिद्ध साहित्यकारों तथा पत्रकारों द्वारा पंजाबी को समय का साथी बनाने का आह्वान


आस्ट्रेलिया के प्रसिद्ध साहित्यकार मिंटू बराड़ द्वारा लिखी पुस्तक कैंगरूनामा शनिवार को यहां मुख्यातिथि के रूप में पहुंचे राष्ट्रीय मामलों के सलाहाकर हरचरण बैंस, प्रसिद्ध साहित्यकार सुरजीत पात्र, डा. हरपाल ङ्क्षसह पन्नू, जसवंत जफर, गुलजार ङ्क्षसह संधू, डा. दीपक मनमोहन ङ्क्षसह तथा बाबूशाही के एडिटर बलजीतबल्ली द्वारा संयुक्त रूप में रिलीज की गई। इसके साथ ही मिंटू के पंजाबी साहित्यकारों की पुस्तकों को डिजीटल लाइब्रेरी तथा मैगजीन कुकाबारा को भी उक्त शख्सियतों द्वारा रिलीज किया गया। चंडीगढ़ के सैक्टर-37 में लॉ भवन में अपनी पुस्तक को रिलीज करने उपरांत मिंटू ने गण्यमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए कहा कि वह कोई बड़ा लेखक नहीं है, पर इस पुस्तक द्वारा उसने वही बयान किया है, जो उसके दिल ने आस्ट्रेलिया में रहते हुए महसूस किया है। 200 पन्नों की इस पुस्तक में आस्ट्रेलिया में बसते पंजाबियों, उनको पेश आती समस्याओं का जिक्र करने के साथ-साथ वह भी बाखूबी बयान किया है कि किस तरह कुछ पंजाबी दस्तार लेकर पंजाबियों की फजीहत उड़ाते हैं। अपने अब तक के जीवन में मिंटू ने अपने गांव तथा पंजाब में रहते तथा आस्ट्रेलिया में बसते गुजारा है, वह इस किताब में उसने शब्दों में बयान करने की कोशिश की है। उन्होंने बताया कि कैंगरूनामा के प्रकाशक भूपिन्द्र पंनीवालिया हैं। इस किताब को मिंटू ने अपने स्वर्गवासी पिता रघुबीर ङ्क्षसह बराड़ को समॢपत किया है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एन. आर. आई. ख़बरें
पंजाबी एनआरआई उद्योगपति दर्शन सिंह धालीवाल कृषि क्षेत्र में दस हज़ार करोड़ निवेश करेंगे पुलिस प्रताड़ित एनआरआई ने की इंसाफ की मांग, इंस्टाग्राम के जरिए लड़की ने हनी ट्रैप करके इटली रहने वाले लड़के व उसके पिता से लूटे 30 लाख से ज़्यादा सरकारी जमीनों के कब्जे छुड़ाने का पंजाब सरकार का प्रयास सराहनीय : विक्रम बाजवा दस साल से इंसाफ के लिए लडाई लड़ रहे एनआरआई की नहीं हो रही सुनवाई, न्याय न मिलने पर पंजाब विधानसभा के बाहर बैठने की चेतावनी एनआरआई पति ने लंदन जाकर की दूसरी शादी, न्याय को भटक रही भिवानी की पहली पत्नी खन्ना के दखल पर शिकागो में एनआरआई सिख पर हमला करने वालों पर मामला हुआ दर्ज इराक में आई एस द्वारा बंधक बनाए गये पंजाब से सम्बंधित 39 अप्रवासी भारतियों के मुद्दे पर मोदी चुप्पी तोड़ें : विक्रम जीत सिंह बाजवा गुरदासपुरआयुक्त और एसएसपी को डैनमार्क आधारित एनआरआई की सम्पत्ति को खाली करवाने को यकीनी बनाने के आदेश प्रवासी महिला के खाते से लाखों रूपए निकलवाने पर एडीजीपी क्राईम को जांच के आदेश होटल में ठहरे एनआरआई की मौत